Thursday, February 25, 2021
Home देश-समाज शाहीन बाग आंदोनल को खड़ा करने में शरजील ने निभाई अहम भूमिका, गिरफ्तारी पर...

शाहीन बाग आंदोनल को खड़ा करने में शरजील ने निभाई अहम भूमिका, गिरफ्तारी पर नहीं कोई अफ़सोस

जामिया दिल्ली, एएमयू अलीगढ़, बिहार, पटना आदि में देश विरोधी भाषण देने वाले शरजील अपने भाषणों के जरिए ही युवाओं को बरगलाने की कोशिश करना चाहता था। पुलिस पूछताछ में शरजील ने यह भी बताया कि जामिया नगर में दिए भाषण के दौरान ही PFI के सदस्यों ने उससे संपर्क किया था।

देश के टुकड़े-टुकड़े करने वाला विवादिल भाषण देकर चर्चा में आए शरजील इमाम ने पुलिस पूछताछ में एक बड़ा खुलासा किया है। पूछताछ में सामने आया है कि दिल्ली के शाहीन बाग में चल रहे धरने में शरजील ने अहम भूमिका निभाई थी। इतना ही नहीं शरजील इसके बाद देश के 15 छोटे-छोटे शहरों में भी इसी तरह के आंदोलन खड़ा करने की योजना बना रहा था।

पिछले दिनों सोशल मीडिया पर वायरल हुए एक वीडियो में बिहार निवासी शाहीन बाग मास्टरमाइंड शरजील इमाम की देश के खिलाफ जितनी जहरीली बातें हैं, उससे कहीं अधिक जहरीले उसके इरादे हैं। पुलिस कस्टडी में चल रहे शरजील ने पूछताछ में बताया कि वह 13 और 15 दिसंबर को शाहीन बाग गया था, जिसने सीएए के खिलाफ शाहीन बाग में आंदोलन को खड़ा करने में मुख्य भूमिका निभाई थी। यह जानकारी मिलने के बाद पुलिस शरजील को कई स्थानों पर पुष्टि कराने के लिए ले गई। अब पुलिस इस बात की जाँच में जुटी है कि इस आंदोलन को खड़ा करने के लिए शरजील ने किन-किन लोगों से संपर्क किया था। वहीं चौकाने वाली बात यह है कि पुलिस द्वारा गिरफ्तारी पर शरजील को कोई अफ़सोस नहीं है।

इतना ही नहीं शरजील ने देश को तोड़ने की पूरी तैयारी कर चुका था, जिसने प्लान तैयार किया था कि सीएए के विरोध में देश के सभी प्रमुख राजमार्गों पर चक्का जाम कर दिया जाए। इससे पूरे देश में अराजकता का माहौल पैदा हो जाएगा और इसके दवाब में आकर सरकार सीएए और एनआरसी को वापस ले लेगी। अग़र इसके बाद भी सरकार नहीं झुकती है तो इसी मौके का फायदा उठाकर उत्तर पूर्व के सात राज्यों को अलग कर दिया जाए। इतना ही नहीं शरजील ने इन सब के लिए पहले से ही रिसर्च कर रखी थी कि कहाँ कितने प्रतिशत हिंदू और कितने प्रतिशत मुस्लिम आबादी है।

जामिया दिल्ली, एएमयू अलीगढ़, बिहार, पटना आदि में देश विरोधी भाषण देने वाले शरजील अपने भाषणों के जरिए ही युवाओं को बरगलाने की कोशिश करना चाहता था। पुलिस पूछताछ में शरजील ने यह भी बताया कि जामिया नगर में दिए भाषण के दौरान ही PFI के सदस्यों ने उससे संपर्क किया था। इसके बाद से दिल्ली क्राइम ब्रांच इसकी तलाश में जुट गई है कि शरजील का इस संगठन से संबंध क्या है।

बता दें कि एएमयू में सीएए के खिलाफ हो रहे विरोध प्रदर्शन में जेएनयू के छात्र और शाहीन बाग के मास्टरमाइंड शरजील इमाम ने देश को तोड़ने वाले भाषण दिए थे। उसने कहा था कि असम को काटना हमारी जिम्मेदारी है। असम और इंडिया कटकर अलग हो जाए, तभी ये हमारी बात सुनेंगे। असम में मुस्लिमों का क्या हाल है, आपको पता है क्या? CAA-NRC लागू हो चुका है वहाँ। डिटेंशन कैंप में लोग डाले जा रहे हैं और वहाँ तो खैर कत्ले-आम चल रहा है। 6-8 महीनों में पता चलेगा कि सारे बंगालियों को मार दिया गया वहाँ, हिन्दू हो या मुस्लिम। अगर हमें असम की मदद करनी है तो हमें असम का रास्ता बंद करना होगा।

इस वीडियो के सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद आरोपित की पहचान कर ली गई। इतना ही नहीं आरोपित के खिलाफ दिल्ली सहित कई शहरों में देशद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया था। इसके बाद से आरोपित फरार था, लेकिन कड़ी मशक्कत के बाद बीते दिनों पुलिस ने उसको बिहार से गिरफ्तार कर लिया। 29 जनवरी को कोर्ट में पेश करने के बाद कोर्ट ने आरोपित को 5 दिन के लिए पुलिस रिमांड पर भेज दिया है। गौर करने वाली बात यह कि शरजील को अपनी गिरफ्तारी पर कोई अफ़सोस नहीं है क्योंकि वह भारत को एक इस्लामिक राष्ट्र बनाना चाहता था। शरजील ने यह भी स्वीकार किया कि उसके वीडियो से कोई छेड़छाड़ नहीं की गई।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

LoC पर युद्धविराम समझौते के लिए भारत-पाक तैयार, दोनों देशों ने जारी किया संयुक्त बयान

दोनों देशों ने तय किया कि आज, यानी 24-45 फरवरी की रात से ही उन सभी पुराने समझौतों को फिर से अमल में लाया जाएगा, जो समय-समय पर दोनों देशों के बीच हुए हैं।

यहाँ के CM कॉन्ग्रेस आलाकमान के चप्पल उठा कर चलते थे.. पूरे भारत में लोग उन्हें नकार रहे हैं: पुडुचेरी में PM मोदी

PM मोदी ने कहा कि पहले एक महिला जब मुख्यमंत्री के बारे में शिकायत कर रही थी, पूरी दुनिया ने महिला की आवाज में उसका दर्द सुना लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री ने सच बताने की बजाए अपने ही नेता को गलत अनुवाद बताया।

‘लोकतंत्र सेनानी’ आज़म खान की पेंशन पर योगी सरकार ने लगाई रोक, 16 सालों से सरकारी पैसों पर कर रहे थे मौज

2005 में उत्तर प्रदेश की मुलायम सिंह यादव की सपा सरकार ने आजम खान को 'लोकतंत्र सेनानी' घोषित करते हुए उनके लिए पेंशन की व्यवस्था की थी।

RSS कार्यकर्ता नंदू की हत्या के लिए SDPI ने हिन्दूवादी संगठन को ही बताया जिम्मेदार: 8 गुंडे पुलिस हिरासत में, BJP ने किया बंद...

BJP ने RSS कार्यकर्ता की हत्या के विरोध में अलप्पुझा जिले में सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक ‘हड़ताल’ का आह्वान किया है। 8 SDPI कार्यकर्ता हिरासत में हैं।

दिल्ली दंगों का 1 साल: मस्जिदों को राशन, पीड़ित हिन्दुओं को लंबी कतारें, प्रत्यक्षदर्शी ने किया खालसा व केजरीवाल सरकार की करतूत का खुलासा

ऑपइंडिया ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली के स्थानीय लोगों से बात की, जिन्होंने दंगों को लेकर अपने अनुभव साझा किए और AAP सरकार के दोहरे रवैए के बारे में बताया।

केजरीवाल की रैली में ₹500 देने का वादा कर जुटाई भीड़, रूपए ना मिलने पर मजदूरों का हंगामा

वीडियो में देखा जा सकता है कि रैली में आने के लिए तय किए गए रुपए न मिलने के कारण मजदूर भड़के हुए हैं और पैसों की माँग कर रहे हैं। उनमें महिलाएँ भी शामिल हैं।

प्रचलित ख़बरें

उन्नाव मर्डर केस: तीसरी लड़की को अस्पताल में आया होश, बताई वारदात से पहले की हकीकत

विनय ने लड़कियों को कीटनाशक पिलाकर बेहोश किया और बाद में वहाँ से चला गया। बेहोशी की हालत में लड़कियों के साथ किसी तरह के सेक्सुअल असॉल्ट की बात सामने नहीं आई है।

ई-कॉमर्स कंपनी के डिलीवरी बॉय ने 66 महिलाओं को बनाया शिकार: फीडबैक के नाम पर वीडियो कॉल, फिर ब्लैकमेल और रेप

उसने ज्यादातर गृहणियों को अपना शिकार बनाया। वो हथियार दिखा कर रुपए और गहने भी छीन लेता था। उसने पुलिस के समक्ष अपना जुर्म कबूल कर लिया है।

महिला ने ब्राह्मण व्यक्ति पर लगाया था रेप का झूठा आरोप: SC/ST एक्ट में 20 साल की सज़ा के बाद हाईकोर्ट ने बताया निर्दोष

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने कहा, "पाँच महीने की गर्भवती महिला के साथ किसी भी तरह की ज़बरदस्ती की जाती है तो उसे चोट लगना स्वाभाविक है। लेकिन पीड़िता के शरीर पर इस तरह की कोई चोट मौजूद नहीं थी।”

कला में दक्ष, युद्ध में महान, वीर और वीरांगनाएँ भी: कौन थे सिनौली के वो लोग, वेदों पर आधारित था जिनका साम्राज्य

वो कौन से योद्धा थे तो आज से 5000 वर्ष पूर्व भी उन्नत किस्म के रथों से चलते थे। कला में दक्ष, युद्ध में महान। वीरांगनाएँ पुरुषों से कम नहीं। रीति-रिवाज वैदिक। आइए, रहस्य में गोते लगाएँ।

UP: भीम सेना प्रमुख ने CM आदित्यनाथ, उन्नाव पुलिस के खिलाफ SC/ST एक्ट के तहत दर्ज की FIR

भीम सेना प्रमुख ने CM योगी आदित्यनाथ और उन्नाव पुलिस अधिकारियों पर गुरुग्राम में SC/ST एक्ट के तहत शिकायत दर्ज करवाई है।

लोगों को पिछले 10-15 सालों से थूक वाली रोटियाँ खिला रहा था नौशाद: पूरे गिरोह के सक्रीय होने का संदेह, जाँच में जुटी पुलिस

नौशाद के साथ शादी समारोह में लगे ठेकेदारों की जानकारी भी जुटाई जा रही है। वो शहर की कई मंडपों और शादियों में खाना बना चुका है।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

291,994FansLike
81,854FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe