Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजअजेय योद्धा महाराज सूरजमल को SONY के सीरियल में दिखाया 'कायर', राजस्थान-हरियाणा में दर्ज...

अजेय योद्धा महाराज सूरजमल को SONY के सीरियल में दिखाया ‘कायर’, राजस्थान-हरियाणा में दर्ज हुई कई FIR, हो रहा विरोध प्रदर्शन

इस सीरियल को लेकर अहिल्याबाई सीरियल निर्माता जैक्सन सेठी के खिलाफ हरियाणा और राजस्थान में कई जगहों पर एफआईआर दर्ज कराई गई है।

सोनी टीवी के सीरियल ‘पुण्यश्लोक अहिल्याबाई’ को लेकर बवाल शुरू हो गया है। दरअसल, इस सीरियल की कहानी महारानी अहिल्याबाई के जीवन पर आधारित है, जिसमें महाराजा सूरजमल का भी जिक्र किया गया है। लेकिन, इसके एक एपिसोड में महाराजा सूरजमल को कायर दिखाया गया है। इस एपिसोड के चलते सीरियल का न केवल विरोध हो रहा है, बल्कि एफआईआर भी दर्ज कराई गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, 17 नवंबर को सोनी टीवी में प्रसारित हुए ‘पुण्यश्लोक अहिल्याबाई’ के एपिसोड में महाराजा सूरजमल को खांडेराव होल्कर से हारते हुए दिखाया गया है। सीरियल के इस विवादास्पद एपिसोड को लेकर न केवल विरोध हो रहा है, बल्कि इसके निर्माता द्वारा माफी माँगने को लेकर सोशल मीडिया में अभियान चलाया जा रहा है।

दरअसल, महाराज सूरजमल की वीरता को लेकर कहा जाता है कि उन्होंने अपने जीवनकाल में करीब 80 युद्ध लड़े थे। इन सभी युद्धों में उन्होंने विरोधियों को पस्त करते हुए जीत दर्ज की थी। यही नहीं, जब पेशवा खंडेराव पानीपत की लड़ाई हार गए थे, तब महाराजा सूरजमल ने ही उनकी सेना और परिवार की रक्षा करते हुए अपने राज्य में पनाह दी थी।

इस सीरियल को लेकर अहिल्याबाई सीरियल निर्माता जैक्सन सेठी के खिलाफ हरियाणा और राजस्थान में कई जगहों पर एफआईआर दर्ज कराई गई है। साथ ही, सांसद हनुमान बेनीवाल ने शो के निर्माता के खिलाफ कड़ा कदम उठाते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और सूचना एवं प्रसारण मंत्री को पत्र लिखकर शिकायत की है। इसके अलावा, राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र को ज्ञापन सौंपकर भी कई संगठनों ने ‘पुण्य श्लोक अहिल्याबाई’ के निर्माता जैक्सन सेठी के खिलाफ विरोध जताया है।

उल्लेखनीय है कि यह पहला मौका नहीं है जब किसी महाराजा या महारानी की कहानी को लेकर ऐसा विवाद हुआ हो। इससे पहले, महारानी पद्मिनी के जीवन पर बनी फिल्म पद्मावती पर विवाद शुरू हुआ था, जिसके बाद फिल्म का नाम बदलकर पद्मावत करना पड़ा था। वहीं, पानीपत और पृथ्वीराज जैसी फिल्मों को भी बड़ा विरोध झेलना पड़ा था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इन्सिटटे ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -