Friday, July 30, 2021
Homeदेश-समाजशाकिब से बना अमन, युवती को प्रेमजाल में फँसाकर की हत्या: पुलिस की बंदूक...

शाकिब से बना अमन, युवती को प्रेमजाल में फँसाकर की हत्या: पुलिस की बंदूक छीन फायरिंग कर भागने की कोशिश, 6 गिरफ्तार

जब शाकिब को हत्या की जगह पर ले जाया जाने लगा, तो उसने एक कांस्टेबल की बंदूक छीनी और रास्ते में पुलिस पर फायरिंग करके भागने की कोशिश की। जवाबी फायरिंग में इस शातिर को गोली लगी। साथ ही एक कांस्टेबल को भी गोली लगी है। फिलहाल उसका एक सरकारी अस्पताल में इलाज चल रहा है।

उत्तर प्रदेश के मेरठ में एक साल बाद बिना सिर और हाथ के मिली लाश मामले में पुलिस ने 6 लोगों को गिरफ्तार किया है। साल भर पहले एक 19 साल की युवती का सिर और धड़ अलग कर नृशंस हत्या कर दी गई थी। इस जघन्य हत्याकांड के मामले में शाकिब, मुस्सरत, मुस्तकीम, रेशमा, इस्मत और अयान नाम के 6 आरोपित गिरफ्तार किए गए।

पुलिस ने बताया कि सोमवार (जून 1, 2020) को जब शाकिब को हत्या की जगह पर ले जाया जाने लगा, तो उसने एक कांस्टेबल की बंदूक छीनी और रास्ते में पुलिस पर फायरिंग करके भागने की कोशिश की। जवाबी फायरिंग में इस शातिर को गोली लगी। साथ ही एक कांस्टेबल को भी गोली लगी है। फिलहाल उसका एक सरकारी अस्पताल में इलाज चल रहा है।

पुलिस की प्रेस कॉन्फ्रेंस में जब युवती की माँ ने आरोपितों को देखा तो उसका गुस्सा सातवें आसमान पर पहुँच गया और उन्होंने पुलिस के सामने ही आरोपितों पर थप्पड़ों की बरसात कर दी।

मेरठ के एसएसपी अजय साहनी ने बताया, “हमने सुराग के लिए इंटरनेट प्रोटोकॉल डिटेल रिकॉर्ड और अन्य सर्विलेंस तकनीकों का इस्तेमाल किया। हमने पाया कि इलाके में कुछ मोबाइल फोन नंबर एक्टिव थे, मगर घटना के तुरंत बाद बंद कर दिए गए थे। उन नंबरों को पंजाब में खोजा गया, जो हमें पीड़िता और आरोपित तक ले गए।”

गौरतलब है कि मृतिका पंजाब के लुधियाना में बीकॉम की छात्रा थी। मेरठ निवासी शाकिब ने उसे फँसाने के लिए अपना फर्जी नाम अमन रख लिया था। जानकारी के मुताबिक शाकिब लुधियाना में जादू-टोना का काम करता था। इसी दौरान मृतका उसके संपर्क में आई और शाकिब ने इस लड़की से अमन बनकर दोस्ती कर ली।

छात्रा उसके झाँसे में आ गई थी और घर से 25 लाख रुपए की ज्वेलरी लेकर उसके साथ फरार हो गई थी। बाद में मेरठ पहुँचने पर जब उसकी असलियत सामने आई तो छात्रा ने इसका विरोध किया, जिसके बाद शाकिब ने उसके गहने हड़पने के लिए उसे मार डाला।

एक दिन शाकिब उसे बाहर घुमाने के बहाने ले गया। जून 2019 में ईद के दिन ही रात 9 बजे उसने कोल्डड्रिंक में नशीली दवा मिला कर छात्रा को पिला दी थी। उसके बाद उसे बेहोशी की हालत में वो खेत में ले गया और उसकी गला रेत कर हत्या कर दी। उसने पहचान छिपाने के लिए सिर और हाथ काटकर कहीं और फेंक दिया था। पुलिस ने बताया कि शाकिब ने पीड़िता का हाथ इसलिए काट दिया था, क्योंकि उस पर उसके नाम का टैटू था। इतना ही नहीं, आरोपितों ने लाश के ऊपर नमक छिड़क दिया था, ताकि वो जल्द से जल्द गल जाए।

शातिर शाकिब ने छात्रा को मारने के बाद भी उसका फोन चालू रखा। वो लगातार सोशल मीडिया पर एक्टिव रहता था और व्हाट्सएप की डिसप्ले पिक्चर भी लगातार बदलता रहता था, ताकि लोगों को लगे कि वो जिंदा है। जब मृतका के परिवार का अपनी बेटी से महीनों तक संपर्क नहीं हुआ तो उन्होंने शिकायत दर्ज करवाई, जिसके बाद मामले का खुलासा हुआ।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मनमोहन सिंह ने की थी मनमर्जी, मुसलमान स्पेशल क्लास नहीं’: सुप्रीम कोर्ट में सच्चर कमेटी की सिफारिशों को चुनौती

सुप्रीम कोर्ट में सच्चर कमेटी की सिफारिशों को लागू करने को चुनौती दी गई है। याचिका 'सनातन वैदिक धर्म' नामक संगठन के छह अनुयायियों ने दायर की है।

‘2 से अधिक बच्चे तो छीन लें आरक्षण और वोटिंग का अधिकार’: UP के जनसंख्या नियंत्रण कानून के पक्ष में 97% लोग

जनसंख्या नियंत्रण कानून को लेकर उत्तर प्रदेश विधि आयोग को मिले सुझाव में से ज्यादातर में सख्त कानून का समर्थन किया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,994FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe