Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजNIFT से फैशन डिजाइनिंग, बेंगलुरु में नौकरी: दो साल से 'कुँवारी बेगम' पर अश्लील...

NIFT से फैशन डिजाइनिंग, बेंगलुरु में नौकरी: दो साल से ‘कुँवारी बेगम’ पर अश्लील कंटेंट डाल रही थी गेमर शिखा मैत्रेय, गिरफ्तारी के बाद गाजियाबाद पुलिस का खुलासा

शिखा मैत्रेय कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू में आदित्य बिड़ला कंपनी में भी जॉब कर चुकी है। हालाँकि, पिछले दो साल से वह यूट्यूब पर कुँवारी बेगम के नाम से चैनल चला रही थी। इसमें वह अश्लील कंटेंट डालकर अपना रिच बढ़ाने की कोशिश कर रही थी। गिरफ्तार के बाद उसने पुलिस को यह भी बताया कि वह एक प्रोफेशनल गेमर है।  

अपने यूट्यूब चैनल ‘कुँवारी बेगम’ पर बच्चों का यौन शोषण करने की शिक्षा देने वाली यूट्यूबर शिखा मैत्रेय को गाजियाबाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। हालाँकि, बाद में उसे जमानत मिल गई। दरअसल, मैत्रेय अपने वीडियो में बच्चों के यौन शोषण के अलावा, कह रही थी, “अगर मेरे पास लिंग होता तो मैं हस्तमैथुन पर एक ट्यूटोरियल बनाती और हस्तमैथुन को बेहतर तरीके से करने का सुझाव देती।”

उसका एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वह कह रही थी, “मैं यह भी बताती हूँ कि आपको हस्तमैथुन क्यों करनी है। एक छोटा बच्चा ढूँढो। छोटा बच्चा, जिसके दाँत ना हों। पहले देखो कि तुम्हारे आसपास कौन-सा नवजात बच्चा है। जो नवजात है उसकी मम्मी से बोलो कि मैं इसे खिलाने ले जा रहा हूँ। उसकी मम्मी से परमिशन ले लो कि इसको खिलाने लेकर जाता हूँ मैं।”

खुद को पेशेवर गेमर बताने वाली शिखा मैत्रेय नाम यह यूट्यबर अपनी गंदी सोचकर को शेयर करते हुए आगे कहती है, उसके बाद उसे बच्चे को ले जाओ और उसके साथ कुछ करो। मैं इसके लिए माफी नहीं माँगती। अगर मेरे लिंग होता तो मैं ऐसा जरूर करती। सो बिना दाँत का…ओहो। यह एक अद्भुत अनुभव होगा।”

इस वीडियो के वायरल होने के बाद सोशल मीडिया पर यूट्यूबर को गिरफ्तार करने की माँग उठने लगी। इसके बाद गाजियाबाद पुलिस ने गुरुवार (13 जून 2024) को शिखा मैत्रेय को गिरफ्तार कर लिया। जाँच में कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। शिखा ने अपने यूट्यूब चैनल ‘कुँवारी बेगम’ पर पिछले कुछ दिनों में करीब 115 वीडियो अपलोड किए थे। इनमें अधिकांश अश्लील कंटेंट हैं।

शिखा मैत्रेय ने गिरफ्तारी से पहले अपने सभी सोशल मीडिया प्रोफाइल को प्राइवेट कर दिया था। इतना ही नहीं, उसने काफी कंटेंट भी हटा दिए थे। अब यूट्यूब पर चैनल शो नहीं हो रहा है। बताया जा रहा है कि शिखा ने चैनल को डिलीट कर दिया है या फिर प्राइवेसी सेटिंग में बदलाव कर दिया है। पुलिस अब उसके मोबाइल और लैपटॉप को फोरेंसिक जाँच के लिए लैब भेजने का निर्णय लिया है।

23 वर्षीया शिखा गाजियाबाद के इंद्रगढ़ी की रहने वाली है। उसने 2021-22 में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी (NIFT), दिल्ली से फैशन डिजाइनिंग का कोर्स किया है। इसके बाद कालकाजी में एक ई-कॉमर्स कंपनी में काम कर रही थी। वहीं, शिखा के पिता गाजियाबाद के स्कूल में टीचर हैं, जबकि माँ गुरुग्राम की कंपनी में इंजीनियर हैं। उसकी छोटी बहन 12वीं की पढ़ाई कर रही है।

शिखा कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू में आदित्य बिड़ला कंपनी में भी जॉब कर चुकी है। हालाँकि, पिछले दो साल से वह यूट्यूब पर कुँवारी बेगम के नाम से चैनल चला रही थी। इसमें वह अश्लील कंटेंट डालकर अपना रिच बढ़ाने की कोशिश कर रही थी। गिरफ्तार के बाद उसने पुलिस को यह भी बताया कि वह एक प्रोफेशनल गेमर है।  

दरअसल, दीपिका नारायण भारद्वाज नाम की एक महिला ने शिखा मैत्रेय के खिलाफ 12 जून 2024 को गाजियाबाद के थाना कौशांबी में IT एक्ट में FIR कराई थी। पुलिस ने शिखा मैत्रेय को 13 जून को गिरफ्तार करके उसे कोर्ट में पेश किया और फिर उसे जेल भेज दिया। न्यूज 18 की रिपोर्ट के मुताबिक, शिखा को अंतरिम जमानत मिल गई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘ब्राह्मण है ज्योति मिश्रा, फिर भी SC कोटे से बन गई IFS’: जिस लड़की के UPSC चयन पर थे सवाल वह निकली पूरी फ्रॉड,...

ज्योति मिश्रा का पूरा मामला पूजा खेडकर के फ्रॉड से जुड़ी खबरें आने के बीच उजागर हुआ। जाँच में पता चला कि ज्योति ने परिवार को दो साल से गुमराह किया हुआ था।

खुद के लिए चाहिए ‘हलाल’ सिस्टम, लेकिन काँवड़िया रूट में ‘पहचान’ सिस्टम से भी परेशानी: लिबरल थेथरई के बीच हलाल के बारे में जानिए...

हलाल का मतलब है जिसकी अनुमति हो और हराम का मतलब है जिसकी अनुमति ना हो। हलाल मुस्लिमों के खाने-पीने के सामान और विशेष कर मांस से सम्बन्धित है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -