Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाज'₹3 करोड़ में माफिया को बेच दिया टिकट': टिकट न मिलने से नाराज़ AAP...

‘₹3 करोड़ में माफिया को बेच दिया टिकट’: टिकट न मिलने से नाराज़ AAP नेता हसीब टॉवर पर चढ़ गया, कहा – आतिशी होंगी मेरी मौत की जिम्मेदार

टॉवर से नीचे उतरने के बाद हसीब उल हसन ने आरोप लगाया है कि टिकट के लिए उनसे तीन करोड़ रुपए माँगे गए थे, जो उनके पास नहीं थे। इसलिए, उन्हें टिकट नहीं दिया। उनका कहना है कि अब इलाके के माफिया से 3 करोड़ रुपए लेकर उसे टिकट बेच दिया गया है।

दिल्ली नगर निगम (DMC) चुनाव में टिकट न मिलने से नाराज आम आदमी पार्टी (AAP) के नेता हसीब उल हसन ने हाईटेंशन लाइन टावर पर चढ़ गए। हसीब ने पार्टी नेताओं पर धोखा देने और 3 करोड़ रुपए लेकर टिकट बेचने का आरोप लगाया है। इस पूरे ‘ड्रामे’ का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, हसीब उल हसन आम आदमी पार्टी के पूर्व मनोनीत पार्षद हैं। पार्टी द्वारा टिकट न दिए जाने से नाराज हसीब दिल्ली के शास्त्री पार्क मेट्रो स्टेशन के पास एक ट्रांसमिशन टॉवर पर चढ़ गए। उनका आरोप है कि पार्टी नेताओं की ओर से उन्हें टिकट देने का आश्वासन दिया गया था।

इस दौरान हसीब ने कहा, “मुझे आज अगर कुछ होता है तो मेरी मौत के जिम्मेदार आम आदमी पार्टी के दुर्गेश पाठक और आतिशी मार्लेना होंगी। मेरे डॉक्यूमेंट्स और पासबुक तक इन लोगों ने जमा कर लिए हैं। कल नामांकन का आखिरी दिन है। मेरे बार-बार माँगने पर भी पार्टी कागज वापस नहीं दे रही है। टिकट नहीं देना था तो ना दें, लेकिन कागजात वापस कर दें।”

AAP नेता के हाईटेंशन टॉवर पर चढ़ने की सूचना मिलते ही घटना स्थल के आसपास स्थानीय लोगों की भीड़ जमा हो गई। साथ ही पुलिस और फायर ब्रिगेड की टीम भी मौके पर पहुँच गई थी। पुलिस व स्थानीय लोगों के मनाने के बाद भी वह नीचे उतरने का नाम नहीं ले रहे थे। हालाँकि, इसके बाद पुलिस द्वारा जब उन्हें समझा गया और उनके कागज उन्हें वापस दिलवाए तो वह नीचे उतर आए।

टॉवर से नीचे उतरने के बाद हसीब उल हसन ने आरोप लगाया है कि टिकट के लिए उनसे तीन करोड़ रुपए माँगे गए थे, जो उनके पास नहीं थे। इसलिए, उन्हें टिकट नहीं दिया। उनका कहना है कि अब इलाके के माफिया से 3 करोड़ रुपए लेकर उसे टिकट बेच दिया गया है।

पहले भी वायरल हो चुका है वीडियो

यह पहली बार नहीं है जब हसीब उल हसन का ऐसा वीडियो वायरल हुआ हो। इससे पहले, इसी साल मार्च में उनका एक वीडियो सामने आया था जिसमें वह नाले में उतरकर सफाई करते दिख रहे थे। उस दौरान, हसीब ने कहा था कि नाले में गंदगी जमा होने के कारण बार-बार ओवर फ्लो हो रहा था। इस बारे में कई बाद शिकायत हो चुकी है लेकिन सफाई नहीं हुई। उनका कहना था कि इसलिए उन्होंने सफाई करने का फैसला किया। नाले की सफाई के बाद जब वह बाहर निकले तब लोगों ने उन्हें दूध से नहलाया था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मेरे बेटे को मार डाला’: आधुनिक पश्चिमी सभ्यता ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स को भी दे दिया ऐसा दर्द, कहा – Woke वाले...

लिंग-परिवर्तन कराने वाले को उसके पुराने नाम से पुकारना 'Deadnaming' कहलाता है। उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि उनका बेटा मर चुका है।

‘बंद ही रहेगा शंभू बॉर्डर, JCB लेकर नहीं कर सकते प्रदर्शन’: सुप्रीम कोर्ट ने ‘आंदोलनजीवी’ किसानों को दिया झटका, 15 अगस्त को दिल्ली कूच...

सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू बॉर्डर को अभी बंद ही रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा किसान JCB लेकर प्रदर्शन नहीं कर सकते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -