Friday, July 19, 2024
HomeराजनीतिCM ममता के 'भाईपो' के क्षेत्र में BJP प्रत्याशी पर लाठी-डंडों से हमला, घेर...

CM ममता के ‘भाईपो’ के क्षेत्र में BJP प्रत्याशी पर लाठी-डंडों से हमला, घेर कर की गई मारपीट: TMC के गुंडों पर आरोप

हाल ही में चुनाव प्रचार के दौरान गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि बंगाल में भाजपा के 130 से ज्यादा कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है।

बंगाल विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा नेताओं पर हमले अब भी नहीं थम रहे हैं। डायमंड हार्बर से भाजपा प्रत्याशी दीपक हल्दर और उनके समर्थकों पर लठियों से हमला किया गया है। हल्दर तीसरे चरण के मतदान से पहले हरिदेवपुर में चुनाव प्रचार कर रहे थे। उन्होंने टीएमसी के सदस्यों पर हमले करने का आरोप लगाया है। ये वही क्षेत्र है, जहाँ से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक सांसद हैं।

हल्दर ने आरोप लगाया कि जब वे चुनाव प्रचार से लौट रहे थे तब कुछ लोगों ने उन्हे घेर लिया और उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। उन्हें डायमंड हार्बर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

टीएमसी छोड़ भाजपा में शामिल हुए थे दीपक हल्दर

बंगाल विधानसभा चुनावों के पहले ही हल्दर टीएमसी छोड़ कर भाजपा में शामिल हुए थे। इसके बाद भाजपा ने उन्हें डायमंड हार्बर से अपना प्रत्याशी घोषित किया था। हल्दर ने आरोप लगाया था कि उन्हें जनता के लिए कार्य करने से रोक जा रहा है, जिस कारण वे टीएमसी से अलग हो रहे हैं।

बैरकपुर से भाजपा सांसद अर्जुन सिंह ने सोशल मीडिया के माध्यम से हल्दर पर हुए हमले की निंदा की है। अर्जुन सिंह ने यह भी आरोप लगाया है कि हल्दर पर हमला करने वाले लोग अभिषेक बनर्जी के पाले हुए टीएमसी के गुंडे हैं। अभिषेक बनर्जी बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे हैं और डायमंड हार्बर उनका गढ़ माना जाता है। TMC पर उनका नियंत्रण होने के कारण भाजपा अक्सर ‘भाईपो (भतीजा) राजनीति’ का आरोप लगाती रही है।

इससे पहले बंगाल में भाजपा की वरिष्ठ नेता लॉकेट चटर्जी पर हमला हुआ था। पूर्व क्रिकेटर और भाजपा प्रत्याशी अशोक डिंडा भी एक हमले में घायल हो गए थे। इसके अलावा नंदीग्राम में ममता बनर्जी के विरुद्ध चुनाव लड़ने वाले भाजपा प्रत्याशी शुभेन्दु अधिकारी के काफिले पर भी हमला हुआ था। हाल ही में चुनाव प्रचार के दौरान गृह मंत्री अमित शाह ने कहा था कि बंगाल में भाजपा के 130 से ज्यादा कार्यकर्ताओं की हत्या हो चुकी है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -