Sunday, July 21, 2024
Homeराजनीति22 जनवरी को यूपी के सभी स्कूल-कॉलेजों में छुट्टी, शराब की दुकानें बंद: राम...

22 जनवरी को यूपी के सभी स्कूल-कॉलेजों में छुट्टी, शराब की दुकानें बंद: राम मंदिर प्राण-प्रतिष्ठा को लेकर CM योगी का आदेश, अयोध्या में ‘कुम्भ मॉडल’

अयोध्या में उस दिन दोपहर के समय प्राण-प्रतिष्ठा का मुहूर्त तय किया गया है। 10,000 VIP मेहमानों के पहुँचने का अनुमान लगाया जा रहा है। सुरक्षा को लेकर भी सरकार पूरी तरह तैयार है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 22 जनवरी, 2024 को राज्य में छुट्टी घोषित की है। उस दिन सभी शैक्षिक संस्थान बंद रहेंगे। साथ ही उत्तर प्रदेश में जितनी भी शराब की दुकानें हैं, वो सब भी बंद रहेंगी। उस दिन निर्माणाधीन राम मंदिर के गर्भगृह में रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा होनी है, जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और RSS के सरसंघचालक मोहन भागवत भी हिस्सा लेंगे। देश भर से हजारों नेताओं, साधु-संतों और कलाकारों को इसके लिए निमंत्रण पत्र भेजा गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी स्कूलों एवं कॉलेजों को आदेश दिया है कि वो 22 जनवरी, 2024 को अवकाश घोषित करें। उन्होंने मंगलवार (9 जनवरी, 2024) को ये आदेश दिया। साथ ही उस दिन को ‘ड्राई डे’ घोषित कर दिया गया है, यानी उस दिन शराब की बिक्री नहीं होगी। इस संबंध में पहले ही आदेश जारी कर दिया गया है, अब इसे दोहराया गया है। यूपी ही नहीं, उस दिन छत्तीसगढ़ में भी दारू की दुकानें नहीं खुलेंगी और इसकी खरीद-बिक्री बंद रहेगी।

अयोध्या में उस दिन दोपहर के समय प्राण-प्रतिष्ठा का मुहूर्त तय किया गया है। 10,000 VIP मेहमानों के पहुँचने का अनुमान लगाया जा रहा है। सुरक्षा को लेकर भी सरकार पूरी तरह तैयार है। पूरे देश में इस दौरान अलग-अलग मंदिरों में पूजा-पाठ का आयोजन होना है। अयोध्या में महर्षि वाल्मीकि के नाम पर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट भी खुला है। अयोध्या में तैयारियों पर खुद सीएम योगी नज़र रख रहे हैं और वो हाल ही में जायजा लेने के लिए पहुँचे भी थे।

योगी सरकार की योजना है कि राम मंदिर प्राण-प्रतिष्ठा समारोह को ‘राष्ट्रीय उत्सव’ के रूप में मनाया जाए। अयोध्या में ‘कुम्भ मॉडल’ लागू करने का आदेश देते हुए कहा गया है कि मेहमानों के स्वागत, साज-सज्जा और आतिशबाजी का इंतजाम हो, सभी सरकारी भवनों को निखारा जाए। मेहमानों के लिए विश्राम स्थल पहले से तय रहेंगे। प्रशासन ने लखनऊ के होटलों से भी खाली कमरों की लिस्ट माँगी है। 116 कमरे वाले सेन्ट्रिम होटल में साफ़-सफाई चालू है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बांग्लादेश में आरक्षण खत्म: सुप्रीम कोर्ट ने कोटा व्यवस्था को रद्द किया, दंगों की आग में जल रहा है मुल्क

प्रदर्शनकारी लोहे के रॉड हाथों में लेकर सेन्ट्रल डिस्ट्रिक्ट जेल पहुँच गए और 800 कैदियों को रिहा कर दिया। साथ ही जेल को आग के हवाले कर दिया गया।

‘कमाल का है PM मोदी का एनर्जी लेवल, अनुच्छेद-370 हटाने के लिए चाहिए था दम’: बोले ‘दृष्टि’ वाले विकास दिव्यकीर्ति – आर्य समाज और...

विकास दिव्यकीर्ति ने बताया कि कॉलेज के दिनों में कई मुस्लिम दोस्त उनसे झगड़ा करते थे, क्योंकि उन्हें RSS के पक्ष से बहस करने वाला माना जाता था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -