‘शराब’ पीने की वजह से पृथ्वीराज चौहान, प्रताप के क़िले में अब चमगादड़ें ब्याही जा रही: कॉन्ग्रेस MLA

"दिल्ली के पृथ्वीराज चौहान से लेकर कन्नौज के शासक जयचंद तक, सभी राजा अतुलनीय शासक थे। लेकिन केवल एक कारण की वजह से....."

मध्य प्रदेश में कॉन्ग्रेस के विधायक बैजनाथ कुशवाह के एक बयान से बड़ा विवाद खड़ा हो गया है। दरअसल, उन्होंने कहा कि शराब ने दिल्ली के पृथ्वीराज चौहान और महाराणा प्रताप जैसे राजाओं के राज्य को बर्बाद कर दिया। सत्तारूढ़ दल के विधायक ने गुरुवार (14 नवंबर) को बाल दिवस कार्यक्रम के दौरान स्कूली बच्चों को संबोधित करते हुए यह टिप्पणी की।

मध्य प्रदेश के मुरैना ज़िले के एक स्कूल में बाल दिवस के अवसर पर आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए, मुरैना ज़िले की सबलगढ़ सीट से कॉन्ग्रेस विधायक बैजनाथ कुशवाह ने कहा,

“दिल्ली के पृथ्वीराज चौहान से लेकर कन्नौज के शासक जयचंद तक, सभी राजा अतुलनीय शासक थे। लेकिन केवल एक कारण की वजह (विधायक ने शराब पीने की आदत की ओर इशारा किया) से अपने राज्यों को बर्बाद कर दिया, उनके क़िले में चमगादड़ें ब्याह रही हैं।”

विधायक ने इसके आगे कहा कि आज इन राजाओं का कोई नाम लेने वाला नहीं बचा है। उन्होंने कहा, “इसलिए, कभी भी शराब को हाथ न लगाएँ।”

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

बैजनाथ कुशवाह ने ये टिप्पणी छात्रों को समझाने के लिए की थी कि शराब कितनी बुरी है। लेकिन विधायक द्वारा प्रस्तुत अजीब आरोप ने उन्हें परेशानी में डाल दिया क्योंकि राजपूत करणी सेना के नाराज़ सदस्यों ने अपने पूर्वजों को बदनाम करने के लिए राजनेता से सार्वजनिक रूप से माफ़ी माँगने की माँग की है। जिसके जल्द से जल्द न माँगे जाने पर गंभीर परिणाम भुगतने की धमकी दी है। स्थानीय राजपूत करणी सेना के अध्यक्ष अरुण राजावत ने कहा, “विधायक द्वारा इस्तेमाल किए गए शब्द बहुत ही अपमानजनक हैं और अगर विधायक इन शब्दों के लिए सार्वजनिक रूप से माफ़ी नहीं माँगते हैं, तो उनकी जीभ काट दी जाएगी।”

हालाँकि, कॉन्ग्रेस ने कुशवाहा के बयान से ख़ुद को दूर कर लिया। पार्टी के वरिष्ठ सदस्य और कॉन्ग्रेस के मध्य प्रदेश मंत्रिमंडल में सामान्य प्रशासन मंत्री, गोविंद सिंह ने कहा कि इस तरह की टिप्पणी करने वाले की जवाबदेही होनी चाहिए।

इस बीच, भाजपा प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने बयान की निंदा की और कहा कि कॉन्ग्रेस ने हमेशा देशभक्तों का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि कॉन्ग्रेस विधायक का बयान बहुत बड़ा अपमान है।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

बरखा दत्त
मीडिया गिरोह ऐसे आंदोलनों की तलाश में रहता है, जहाँ अपना कुछ दाँव पर न लगे और मलाई काटने को खूब मिले। बरखा दत्त का ट्वीट इसकी प्रतिध्वनि है। यूॅं ही नहीं कहते- तू चल मैं आता हूँ, चुपड़ी रोटी खाता हूँ, ठण्डा पानी पीता हूँ, हरी डाल पर बैठा हूँ।

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

118,018फैंसलाइक करें
26,176फॉलोवर्सफॉलो करें
126,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: