Sunday, July 21, 2024
Homeराजनीति80 करोड़ को मुफ्त राशन, 47.8 करोड़ के जनधन खाते: निर्मला सीतारमण ने बताया...

80 करोड़ को मुफ्त राशन, 47.8 करोड़ के जनधन खाते: निर्मला सीतारमण ने बताया भारत 9 सालों में बना 5वीं सबड़े बड़ी अर्थव्यवस्था, ₹1.97 लाख हुई प्रति व्यक्ति आय

उन्होंने बताया कि मोदी सरकार ने कोरोना काल के दौरान 80 करोड़ से ज्यादा गरीब लोगों को 28 महीने से मुफ्त राशन दिया गया। इसके अलावा प्रति व्यक्ति आय भी तेजी से बढ़ते हुए 1.97 लाख रुपए हो गई है।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने आज 2023-24 का आम बजट पेश करते हुए कई महत्वपूर्ण जानकारी दी। उन्होंने जहाँ इस बजट को अमृतकाल का पहला बजट बताया। वहीं पिछले वर्ष में सरकार की नीतियाँ और उपलब्धियों पर भी गौर करवाया। उन्होंने कहा कि 9 सालों में भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया की 10वीं से 5वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गई है।

उन्होंने बताया कि कैसे मोदी सरकार ने कोरोना काल के दौरान 80 करोड़ से ज्यादा गरीब लोगों को 28 महीने से मुफ्त राशन दिया गया। इसके अलावा प्रति व्यक्ति आय भी तेजी से बढ़ते हुए 1.97 लाख रुपए हो गई है। वित्त मंत्री ने बताया कि उनकी सरकार में अब तक  47.8 करोड़ जनधन खाते खोले गए हैं। इसके अलावा 14 करोड़ से ज्यादा किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि के तहत मदद दी गई है।

उल्लेखनीय है कि साल 2024 के लोकसभा चुनावों से पहले संसद में आज (1 फरवरी 2023) वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण मोदी सरकार का 11वाँ बजट (Budget 2023) 11 बजे से पेश करना शुरू कर दिया है। बजट पेश करने से पहले उन्होंने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से अनुमति ली। उसके बाद पीएम मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट मीटिंग से बजट की मंजूरी ली। 

बजट की खास बात यह है कि वित्त मंत्री इस बार भी पेपरलेस बजट पेश कर रही हैं। बताया जा रहा है कि पत्रकारों व अन्य लोगों को इस बार बजट की हार्ड कॉपी पढ़ने को नहीं मिलेगी। केवल मंत्रियों एवं सांसदों के पढ़ने के लिए हार्ड कॉपी भी प्रिंट कराई गई हैं। इस बजट में सरकार रोड और रेल नेटवर्क जैसे इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए बड़ा बजट जारी कर सकती है। वहीं पीएम किसान सम्मान निधि और मनरेगा जैसी कल्याणकारी स्कीमों के लिए भी आवंटन में बढ़ौतरी देखी जा सकती है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काशी विश्वनाथ मंदिर और महाकालेश्वर मंदिर परिसर के दुकानदारों को लगाना होगा नेम प्लेट: बिहार के बोधगया की दुकानों में खुद ही लगाया बोर्ड,...

उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश के महाकालेश्वर मंदिर परिसर में स्थित दुकानदारों को अपना नेम प्लेट लगाने का आदेश दिया गया है।

‘मध्य प्रदेश और बिहार में भी काँवर यात्रा मार्ग में ढाबों-ठेलों पर लिखा हो मालिक का नाम’: पड़ोसी राज्यों में CM योगी के फैसलों...

रमेश मेंदोला ने कहा कि नाम बताने में दुकानदारों को शर्म नहीं बल्कि गर्व होना चाहिए। हरिभूषण ठाकुर बचौल बोले - विवादों से छुटकारा मिलेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -