Monday, July 15, 2024
Homeराजनीति'मुझे लैंडिंग की नहीं दी इजाजत': CM अशोक गहलोत के झूठ की गृह मंत्रालय...

‘मुझे लैंडिंग की नहीं दी इजाजत’: CM अशोक गहलोत के झूठ की गृह मंत्रालय ने खोली पोल, भूपेश बघेल ने भी किया था फर्जी दावा

गृह मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि जी-20 समिट को लेकर हवाई सुरक्षा बढ़ाई गई है और चौकसी में इजाफा किया गया है। लेकिन, किसी भी राज्यपाल या मुख्यमंत्री के विमान की आवाजाही पर रोक नहीं लगाई गई है।

गृह मंत्रालय ने शनिवार (9 सितम्बर, 2023) को एक बयान जारी कर राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के उस दावे को ख़ारिज कर दिया कि उनके हेलीकॉप्टर को उड़ान की अनुमति देने से इनकार कर दिया गया था। दरअसल, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने दावा किया था कि उन्हें दिल्ली में लैंडिंग की इजाजत नहीं दी गई। वहीं, छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने कहा था कि हम जी-20 के डिनर में कैसे जा सकते हैं, जब सरकार ने दिल्ली को तो नो फ्लाइंग जोन घोषित कर दिया है।

रिपोर्ट के अनुसार, जी-20 में कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे को न बुलाने पर जहाँ विपक्ष मोदी सरकार पर हमलावर है, वहीं अब शिखर सम्मेलन के डिनर को लेकर भी सियासत शुरू हो गई। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के बयानों के बाद गृह मंत्रालय का जवाब आया है। 

गृह मंत्रालय ने इस मामले में सोशल मीडिया X पर पोस्ट किया, “मीडिया रिपोर्ट में, राजस्थान के मुख्यमंत्री ने गृह मंत्रालय द्वारा उनकी हेलीकॉप्टर को उड़ान के लिए मंजूरी देने से इनकार करने का दावा किया है। सीकर सहित उड़ान अनुमति के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री की ओर से चार अनुरोध प्राप्त हुए थे, और सभी को गृह मंत्रालय द्वारा मंजूरी दे दी गई थी।”

मंत्रालय ने आगे कहा, “सीएम राजस्थान के किसी भी अनुरोध को अस्वीकार नहीं किया गया है। जबकि वाणिज्यिक विमानों की सभी निर्धारित उड़ानों और राज्यपालों और राज्य के मुख्यमंत्रियों की उनके राज्य के विमानों पर आवाजाही की पहले से ही अनुमति है, वहीं निजी चार्टर्ड उड़ानों को एमएचए अनुमति लेनी है।”

मंत्रालय ने दोनों सीएम के दावे को खारिज कर दिया है। गृह मंत्रालय ने स्पष्ट किया है कि जी-20 समिट को लेकर हवाई सुरक्षा बढ़ाई गई है और चौकसी में इजाफा किया गया है। लेकिन, किसी भी राज्यपाल या मुख्यमंत्री के विमान की आवाजाही पर रोक नहीं लगाई गई है। किसी भी सीएम के विमान की लैंडिंग पर कोई रोक नहीं लगाई गई है। 

गौरतलब है कि शुक्रवार (8 सितम्बर, 2023) को, राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने गृह मंत्रालय पर अनुमति न देने का आरोप लगते हुए सोशल मीडिया X पर पोस्ट किया, “आज बाबा श्री खिंवाड़ादास जी महाराज की पुण्य तिथि के स्मरणीय कार्यक्रम के तहत सीकर में सांगलिया पीठ का दौरा तय था। हालाँकि, जी-20 बैठक के चलते भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने मुझे हेलीकॉप्टर द्वारा उदयपुर से सीकर की यात्रा करने की अनुमति नहीं दी। इसलिए मुझे यह घोषणा करते हुए खेद है कि मैं आज सांगलिया पीठ तक पहुँचने में असमर्थ हूँ।”

उन्होंने आगे कहा, “मैंने सांगलिया पीठ के पीठाधीश्वर श्री ओम दास महाराज से फोन पर बात की है और उन्हें स्थिति से अवगत कराया है। मैं जल्द ही आशीर्वाद लेने के लिए सांगलिया पीठ जाने की योजना बना रहा हूँ।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जो प्रधानमंत्री है खालिस्तानी आतंकियों का ‘हमदर्द’, उसने अब दिलजीत दोसांझ को दिया ‘सरप्राइज’: PM ट्रुडो से मिलकर बोले भारतीय सिंगर- विविधता कनाडा की...

कनाडा पीएम ट्रुडो जो हमेशा से खालिस्तानी आतंकियों के 'हमदर्द' बनकर रहे उन्होंने हाल में दिलजीत दोसांझ को कनाडा में 'सरप्राइज' दिया।

कॉन्ग्रेस के चुनावी चोचले ने KSRTC का भट्टा बिठाया, ₹295 करोड़ का घाटा: पहले महिलाओं के लिए बस सेवा फ्री, अब 15-20% किराया बढ़ाने...

कर्नाटक में फ्री बस सेवा देने का वादा करना कॉन्ग्रेस के लिए आसान था लेकिन इसे लागू करना कठिन। यही वजह है कि KSRTC करोड़ों के नुकसान में है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -