Saturday, July 13, 2024
Homeराजनीतिनीतीश को निपटाने के लिए ममता-केजरीवाल ने फेंका खड़गे वाला पत्ता… बैठे, बतियाए, खाए-पिए...

नीतीश को निपटाने के लिए ममता-केजरीवाल ने फेंका खड़गे वाला पत्ता… बैठे, बतियाए, खाए-पिए पर तय कुछ नहीं हुआ: INDI गठबंधन को न नेता मिला, न नीति

सीट शेयरिंग जैसे मुद्दों पर 20 दिनों के अंदर आम सहमति बनने की भी आशा जताई गई है। हालाँकि, कॉन्ग्रेस के मुताबिक 25 से 26 पार्टियों का जमघट होने के चलते अभी किसी मामले में अंतिम निर्णय नहीं लिया जा सका है।

साल 2024 में होने वाले लोकसभा चुनावों को ले कर I.N.D.I. गठबंधन ने मंगलवार (19 दिसंबर, 2023) को दिल्ली में बैठक की। इस बैठक में I.N.D.I. गठबंधन के संयोजक का नाम नहीं तय हो पाया है। इसी बैठक में ममता बनर्जी और अरविन्द केजरीवाल ने प्रधानमंत्री पद के लिए I.N.D.I. गठबंधन की तरफ से मल्लिकार्जुन खड़गे का नाम प्रस्तावित किया था। हालाँकि, इस मामले में भी कोई आम सहमति नहीं बन पाई। फिर भी इस गठबंधन के घटक दल इस बैठक को सफल बता रहे हैं।

उनकी तरफ से सीट शेयरिंग जैसे मुद्दों पर 20 दिनों के अंदर आम सहमति बनने की भी आशा जताई गई है। हालाँकि, कॉन्ग्रेस के मुताबिक, 25 से 26 पार्टियों का जमघट होने के चलते अभी किसी मामले में अंतिम निर्णय नहीं लिया जा सका है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, बैठक के दौरान I.N.D.I. गठबंधन की तरफ से प्रधानमंत्री पद के लिए नाम पर चर्चा हुई। इस पद के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल और पश्चिम बंगाल की CM ममता बनर्जी ने कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे का नाम प्रस्तावित किया। बताया जा रहा है कि खुद खड़गे ने इस प्रस्ताव पर रुचि नहीं दिखाई। उन्होंने केजरीवाल और ममता से फिलहाल चुनाव पर ध्यान देने के लिए कहा।

I.N.D.I. गठबंधन की सभी घटक पार्टियों ने 30 जनवरी से एक साथ चुनाव प्रचार की भी घोषणा की है। राहुल गाँधी की मौजूदगी में हुई इस सभा के दौरान 141 सांसदों के निलंबन की भी निंदा हुई।

इस मीटिंग से निकलने के बाद कॉन्ग्रेस महासचिव और सांसद के सी वेणुगोपाल ने मीडिया से बात की। उन्होंने इसे एक सफल मीटिंग बताया और कहा कि सभा के दौरान सभी पार्टियों ने खुल कर अपने विचार रखे। हालाँकि उन्होंने यह भी माना कि 25-26 पार्टियों के जमघट की वजह से थोड़े-बहुत मनमुटाव भी सामने आए। वेणुगोपाल के मुताबिक मुख्य फोकस सीटों के बँटवारे पर रहा लेकिन सभी चीजें एक साथ ही तय नहीं की जा सकती है। उन्होंने कहा कि सीटों के बँटवारे पर बातचीत तुरंत शुरू करने की जरूरत है। वेणुगोपाल ने इस सवाल का जवाब नहीं दिया कि I.N.D.I. गठबंधन की अगली मीटिंग कब होगी।

इसी मीटिंग से निकल कर RJD सांसद मनोज झा ने भी मीडिया से बात की। उन्होंने बताया कि मीटिंग में बहुत साफ़-साफ बातें हुईं। बकौल झा, 20 दिनों के अंदर सीटों का बँटवारा और बड़े स्तर पर लोगों से जनसम्पर्क का काम शुरू हो जाएगा। हालाँकि, मनोज झा ने बताया कि I.N.D.I. गठबंधन का संयोजक बनाने को ले कर मीटिंग में कोई बात नहीं हुई है।

बताते चलें कि इस से पहले सितंबर 2023 को INDI गठबंधन की मीटिंग मुंबई में हुई थी। तब मीटिंग के पहले दिन विभिन्न पार्टियों के 63 नेताओं ने इसमें हिस्सेदारी की थी। इस मीटिंग में मल्लिकार्जुन खड़गे ने सभी पार्टियों से समन्वय समिति बनाने के लिए सभी पार्टियों से एक-एक नाम देने की अपील की थी। इसी मीटिंग में अरविन्द केजरीवाल ने सितंबर माह के अंत तक ही सीटों के बँटवारे की उम्मीद जताई थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -