Monday, July 22, 2024
HomeराजनीतिPM मोदी की लोकप्रियता बरकरार, 44.77 प्रतिशत लोग उनके कार्यों से संतुष्ट: मुख्यमंत्रियों में...

PM मोदी की लोकप्रियता बरकरार, 44.77 प्रतिशत लोग उनके कार्यों से संतुष्ट: मुख्यमंत्रियों में असम के CM सरमा आगे, 43% खुश

केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन के कामों से 41 प्रतिशत लोगों ने संतोष व्यक्त किया है। वहीं, 39 प्रतिशत अंक के साथ बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी तीसरे स्थान पर हैं।

सत्ता में आठ साल रहने के बावजूद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की लोकप्रियता बरकरार है। पीएम मोदी अभी भी लोगों की पहली पसंद बने हुए हैं और लोग उनके कामों से खुश हैं। वहीं, मुख्यमंत्री के रूप में असम (Assam) के सीएम हिमंत बिस्व सरमा (CM Himanta Bisa Sarma) ने अन्य मुख्यमंत्रियों को पीछे छोड़ दिया है।

IANS-CVoter की सर्वे के अनुसार, 44.77 प्रतिशत भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किए गए कार्यों से संतुष्ट हैं। वहीं, 37.66 प्रतिशत भारतीय भाजपा के नेतृत्व वाली वर्तमान केंद्र सरकार के काम से बहुत संतुष्ट हैं। अगर मुख्यमंत्रियों की बात करें तो असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा को सबसे लोकप्रिय चीफ मिनिस्टर का दर्जा दिया गया है।

पिछले 12 महीने में दैनिक आधार पर किए गए इस सर्वे में देश के 45.92 प्रतिशत लोग कॉन्ग्रेस अध्यक्ष सोनिया गाँधी (Congress President Sonia Gandhi) के कार्यों से बिल्कुल संतुष्ट नहीं हैं। वहीं, 44.44 प्रतिशत लोगों ने पार्टी के वरिष्ठ नेता राहुल गाँधी (Rahul Gandhi) के प्रदर्शन पर असंतोष जताया। अगर केंद्र की भाजपा सरकार को लेकर असंतुष्ट लोगों की बात करें तो 29.94 प्रतिशत लोग उनके काम से बिल्कुल भी संतुष्ट नहीं हैं।

असम के मामले में मुख्यमंत्री के रूप में सबसे अधिक हिमंत बिस्व सरमा से लोग संतुष्ट दिखे। असम के 43 प्रतिशत से अधिक उत्तरदाताओं ने कहा कि वे हिमंत बिस्व सरमा के प्रदर्शन से बहुत संतुष्ट हैं। वहीं, केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन (Kerala CM Pinarayi Vijayan) और तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन (Tamil Nadu CM M.K. Stalin) से 41 प्रतिशत लोगों ने संतोष व्यक्त किया है।

इस मामले में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (West Bengal CM Mamata Banerjee) तीसरे स्थान पर रहीं। इस सर्वेक्षण में 39 प्रतिशत लोगों ने उनके काम पर संतोष व्यक्ति किया।

सर्वे के अनुसार, देश भर में 34.2 प्रतिशत लोग अपने-अपने विधायकों द्वारा किए गए विकास कार्यों से बहुत संतुष्ट नहीं हैं। वहीं, 35.24 प्रतिशत लोग अपने-अपने सांसदों से बिल्कुल भी संतुष्ट नहीं हैं। केवल 27.75 प्रतिशत भारतीयों ने कहा कि वे उनके काम से बहुत संतुष्ट हैं। वहीं, 36.48 प्रतिशत भारतीय अपने राज्यों में विपक्ष के नेता के काम से संतुष्ट नहीं हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -