Thursday, July 25, 2024
Homeराजनीतिराम मंदिर के लिए कॉन्ग्रेसी MLA ने दिया चंदा, फोटो वायरल हुई तो मुस्लिमों...

राम मंदिर के लिए कॉन्ग्रेसी MLA ने दिया चंदा, फोटो वायरल हुई तो मुस्लिमों से माँगी माफी: लगाया RSS पर आरोप

एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुई। इसमें कॉन्ग्रेस विधायक RSS कार्यकर्ताओं को राम मंदिर निर्माण के लिए चंदा दे रहे थे। फोटो में उन्होंने हाथ में राम मंदिर की तस्वीर वाला कार्ड भी पकड़ा हुआ था। लेकिन अब वो...

राम मंदिर निर्माण में चंदा राशि देने का नाटक करने के बाद अब केरल के कॉन्ग्रेस विधायक एल्धोस कुन्नापिल्ली (Eldhose Kunnappilly) ने मुस्लिम समुदाय से माफी माँगी है। कॉन्ग्रेस नेता ने मुस्लिम समुदाय से कहा है कि अगर उन्होंने किसी समुदाय की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाई तो वह क्षमा माँगते हैं। 

मालूम रहे कि इससे पहले एल्धोस की एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी, जिसमें वह आरएसएस कार्यकर्ताओं को मंदिर निर्माण के लिए चंदा दे रहे थे। उस फोटो में उन्होंने हाथ में राम  मंदिर की तस्वीर वाला एक कार्ड भी पकड़ा हुआ था। हालाँकि द न्यूज मिनट की रिपोर्ट में बताया गया कि एक वीडियो में वह राम मंदिर निर्माण में चंदा देने के लिए माफी माँग रहे हैं। 

कॉन्ग्रेस नेता इस वीडियो में RSS पर इल्जाम लगाते हैं कि उनसे चालाकी से पैसे लिए गए। कुन्नापिल्ली ने कहा कि कुछ लोग उनके पास मंदिर निर्माण के लिए चंदा लेने आए, मगर उन्हें ये नहीं बताया गया कि वह आरएसएस से हैं। न ही इसका उल्लेख किया कि वह चंदा राम मंदिर के लिए ले रहे हैं। खुद को बेगुनाह बताते हुए कॉन्ग्रेस नेता ने कहा कि उन्होंने 1000 रुपए का दान दिया, जो वह अमूमन देते हैं। मगर बाद में फैला दिया गया कि वह राम मंदिर के लिए था।

वह कहते हैं, “मैं सेकुलर इंसान हूँ और मुझे दुख हुआ कि उन्होंने मुझे बेवकूफ बनाया।” अपनी वीडियो में वह मुस्लिम समुदाय की भावनाओं को आहत करने पर बोले, “मैं RSS के प्रोपेगेंडे पर दुख व्यक्त करता हूँ, अगर यह किसी भी समुदायों की धार्मिक भावनाओं को आहत करता है।”

बता दें कि एक तरफ कॉन्ग्रेस नेता का दावा है कि उनसे धोखे से चंदा लिया गया। वहीं केरल कौमुदी की रिपोर्ट में बताया गया कि राम मंदिर के लिए दान देने की तस्वीर वायरल होने के बाद, कुन्नापिल्ली पर पार्टी का भारी दबाव था। वह आगामी चुनाव लड़ना चाहते हैं और उसी की तैयारी कर रहे हैं।

गौरतलब है कि इससे पहले केरल के अलाप्पुझा जिले में राम मंदिर के लिए कॉन्ग्रेस नेता द्वारा शुरू किया गया अभियान विवादों में आया था। रिपोर्ट्स में बताया गया था कि पार्टी के जिला उपाध्यक्ष रघुनाथ पिल्लई ने कदाविल मंदिर में चंदा इकट्ठा करने के काम का उद्घाटन किया था। जिसके बाद राजनीतिक उठा-पटक शुरू हो गई। कम्युनिस्ट पार्टी ने कॉन्ग्रेस पर करारा प्रहार करते हुए कहा था कि पार्टी को राम मंदिर डोनेशन रैली में भाग लेने के बाद सेकुलरिज्म पर बात करने का अधिकार नहीं है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अखलाक की मौत हर मीडिया के लिए बड़ी खबर… लेकिन मुहर्रम पर बवाल, फिर मस्जिद के भीतर तेजराम की हत्या पर चुप्पी: जानें कैसे...

बरेली में एक गाँव गौसगंज में तेजराम नाम के एक युवक की मुस्लिम भीड़ ने मॉब लिंचिंग कर दी। इलाज के दौरान तेजराम की मौत हो गई।

‘वन्दे मातरम’ न कहने वालों को सेना के जवान और डॉक्टर ने Whatsapp ग्रुप में कहा – पाकिस्तान जाओ: सिद्दीकी ने करवा दी थी...

शिकायतकर्ता शबाज़ सिद्दीकी का कहना है कि सेना के जवान और डॉक्टर ने मुस्लिमों की भावनाओ को ठेस पहुँचाई है, उनके भीतर दुर्भावना थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -