Wednesday, August 4, 2021
Homeराजनीतिमंदिर के पुजारियों के साथ खिंचवाई फोटो, बिना अनुमति पूरे शहर में लगा दिए...

मंदिर के पुजारियों के साथ खिंचवाई फोटो, बिना अनुमति पूरे शहर में लगा दिए पोस्टर: कॉन्ग्रेस उम्मीदवार शफी का कारनामा

इस पोस्टर के माध्यम से ऐसा दिखने की कोशिश की गई कि मंदिर के पुजारियों ने इस चुनाव में शफी परम्बिल को समर्थन दिया हुआ है। साथ ही उस पर कॉन्ग्रेस पार्टी का चुनाव चिह्न भी बनाया हुआ है।

केरल की 140 विधानसभा सीटों के लिए मंगलवार (अप्रैल 6, 2021) को मतदान हो रहा है। इसी बीच पलक्कड़ कलपाथि में एक पोस्टर को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। UDF गठबंधन में शामिल कॉन्ग्रेस पार्टी के उम्मीदवार शफी परम्बिल के जिस चुनावी पोस्टर को लेकर विवाद हो रहा है, उसमें वो मंदिर के दो पुजारियों के साथ दिख रहे हैं। ऐसे पोस्टर पूरे शहर में लगवाया गया था, जिसका अब विरोध हो रहा है।

इस पोस्टर के माध्यम से ऐसा दिखने की कोशिश की गई कि मंदिर के पुजारियों ने इस चुनाव में शफी परम्बिल को समर्थन दिया हुआ है। साथ ही उस पर कॉन्ग्रेस पार्टी का चुनाव चिह्न भी बनाया हुआ है। पलक्कड़ वही क्षेत्र है, जहाँ से ‘मेट्रो मैन’ ई श्रीधरन भाजपा उम्मीदवार के रूप में किस्मत आजमा रहे हैं। अब श्री विशालाक्षी समिधा विश्वनाथ स्वामी मंदिर के दोनों पुजारियों ने एक वीडियो के जरिए इस पोस्टर का विरोध किया है।

ये दोनों वही पुजारी हैं, जिनके साथ की तस्वीर कॉन्ग्रेस उम्मीदवार ने लगा रखी है। शफी इस क्षेत्र से अभी भी विधायक हैं। 2011 और 2016 के विधानसभा चुनावों में 40% से अधिक वोट पाकर विधायक बने शफी परम्बिल इस बार हैट्रिक लगाने की फिराक में हैं। कोंडूरकरा के रहने वाले शफी परम्बिल केरल यूथ कॉन्ग्रेस के अध्यक्ष हैं। दोनों पुजारियों ने आरोप लगाया है कि विधायक ने बिना अनुमति के उनके फोटोग्राफ्स यूज किए।

उन्होंने कहा कि शहर में कई जगह बड़े फ्लेक्स बोर्ड पर लगे उन पोस्टर्स में खुद को देख कर काफी आश्चर्य हुआ। उन्होंने कहा कि बिना उनकी जानकारी के ये सब किया गया है। पुजारियों ने कहा, “हम मंदिर में आने वाले हर व्यक्ति का स्वागत करते हैं। हम उन सभी के साथ बराबर व्यवहार करते हैं, क्योंकि हमारा धर्म यही कहता है। लोगों के सेवक और आचार्य के रूप में अपेक्षा होती है कि हम निष्पक्ष रहें।”

उन्होंने बताया कि उनके पास कई श्रद्धालुओं और कलपाथि के नागरिकों के फोन कॉल्स आ रहे हैं और वो पूछ रहे हैं कि क्या उन्होंने इस बार किसी राजनीतिक पार्टी का समर्थन किया है? साथ ही कई नागरिकों ने उन्हें ये भी कहा कि ये सब धर्म के विरुद्ध है। परम्बिल कभी केरल कॉन्ग्रेस के आलोचक भी रहे हैं। वहाँ कॉन्ग्रेस और मुस्लिम लीग साथ मिल कर चुनाव लड़ रही है। 2 मई को तमिलनाडु, केरल, पुडुचेरी, असम और पश्चिम बंगाल के नतीजे आने हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

5 करोड़ कोविड टीके लगाने वाला पहला राज्य बना उत्तर प्रदेश, 1 दिन में लगे 25 लाख डोज: CM योगी ने लोगों को दी...

उत्तर प्रदेश देश का पहला राज्य बन गया है, जिसने पाँच करोड़ कोरोना वैक्सीनेशन का आँकड़ा पार कर लिया है। सीएम योगी ने बधाई दी।

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द सीएम हैप्पी एंड गे: केजरीवाल सरकार का घोषणा प्रधान राजनीतिक दर्शन

अ शिगूफा अ डे, मेक्स द CM हैप्पी एंड गे, एक अंग्रेजी कहावत की इस पैरोडी में केजरीवाल के राजनीतिक दर्शन को एक वाक्य में समेट देने की क्षमता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,864FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe