Saturday, May 18, 2024
Homeराजनीतिलोकसभा चुनाव में आतंकी की एंट्री! मुंबई ब्लास्ट केस में 10 साल की जेल...

लोकसभा चुनाव में आतंकी की एंट्री! मुंबई ब्लास्ट केस में 10 साल की जेल काट चुका है इब्राहीम मूसा: अब उद्धव ठाकरे के कैंडिडेट के लिए माँग रहा वोट

इब्राहीम मूसा मुंबई नॉर्थ-वेस्ट सीट से शिवसेना-यूबीटी के कैंडिडेट अमोल कीर्तिकर के लिए चुनाव प्रचार कर रहा है और आम जनता से वोट माँग रहा है।

लोकसभा चुनाव 2024 में अब आतंकवादी भी चुनाव प्रचार कर रहे हैं, वो भी बाला साहेब ठाकरे के सुपुत्र उद्धव ठाकरे की पार्टी शिवसेना के कैंडिडेट के लिए। आतंकवादी का नाम इब्राहीम मूसा चौहान है। वो मुंबई ब्लास्ट 1993 के दौरान आतंकवादियों को हथियार सप्लाई करता था। उसे 10 साल जेल की सजा भी हुई थी। अब वो मुंबई नॉर्थ-वेस्ट सीट से शिवसेना-यूबीटी के कैंडिडेट अमोल कीर्तिकर के लिए चुनाव प्रचार कर रहा है और आम जनता से वोट माँग रहा है।

अमोल कीर्तिकर वही व्यक्ति हैं, जिन्हें टिकट देने के विरोध में संजय निरूपम ने कॉन्ग्रेस पार्टी छोड़ दी थी और उन्हें ‘खिचड़ी चोर’ कहा था। अमोल पर कोरोना काल के दौरान खिचड़ी घोटाले का आरोप है, उनसे ईडी भी पूछताछ कर चुकी है। हालाँकि इस लोकसभा चुनाव में अमोल कीर्तिकर उद्धव ठाकरे के भरोसेमंद साथी हैं और उनके लिए उद्धव ठाकरे ने कॉन्ग्रेस से भी पंगा लेने में गुरेज नहीं किया। अब उन्हीं अमोल कीर्तिकर के चुनाव प्रचार में इब्राहीम मूसा जैसा दुर्दांत आतंकी उतरा है और उनके लिए वोट माँग रहा है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इब्राहीम मूसा के चुनाव प्रचार का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। इस वीडियो को शेयर करते हुए प्रीति गाँधी ने लिखा, “मुंबई ब्लास्ट 1993 का दोषी इब्राहीम मूसा उद्धव ठाकरे की शिवसेना के कैंडिडेट अमोल कीर्तिकर के लिए प्रचार करता दिखा है। उसने मुंबई ब्लास्ट से पहले संजय दत्त के घर पर हथियार पहुँचाए ते। ये बात (इब्राहीम मूसा का चुनाव प्रचार) माफी के काबिल नहीं है।”

बीजेपी विधायक बोले, ये वीडियो में दिख रहा-कौन पाकिस्तान के साथ

बीजेपी एमएलए अमित साटम ने कहा कि उद्धव की पार्टी आतंकी के साथ है। कल शाम मुंबई नॉर्थ वेस्ट में प्रचार के दौरान उद्धव गुट के नेता के साथ 1993 बॉम्ब ब्लास्ट आरोपी इब्राहीम मूसा प्रचार कर रहा था। इससे साफ है कि कौन पाकिस्तान के साथ है। अब यह लड़ाई भारत और पाकिस्तान की है।

इब्राहीम मूसा का क्या था रोल?

बता दें कि इब्राहीम मूसा वहीं आतंकवादी है, जिसने 1993 के मुंबई सीरियल ब्लास्ट के समय हथियार सप्लाई किए थे। इस केस में उसे 10 साल की सजा हुई थी। बता दें कि 12 मार्च, 1993 को दोपहर में मुंबई स्टॉक एक्सचेंज पर जोर धमाका हुआ। इस धमाके से पूरी मुंबई में अफरा-तफरी मच गई थी और फिर 2.10 घंटे के भीतर ही मुंबई में 12 जगहों पर धमाके पर धमाके होते रहे।

इब्राहीम मूसा चौहान उर्फ बाबा चौहान वही व्यक्ति है, जिसने एके-56 राइफलों, मैगजीन्स, विस्फोटकों और हैंड ग्रेनेड्स की सप्लाई की थी। उसी ने एक्टर संजय दत्त के घर में अनीस इब्राहीम के कहने पर हथियार पहुँचाए थे। इब्राहीम मूसा के पास से एक एके-56 राइफल, 635 राउंड गोलियाँ, 10 मैगजीन्स और 25 हैंड ग्रेनेड्स भी बरामद हुए थे।

इन धमाकों में 257 लोगों की मौत हो गई थी, तो 700 से अधिक लोग घायल हो गए थे। इन धमाकों की वजह से मुंबई में सांप्रदायिक तनाव भी फैल गया था। इस धमाके में पहली बार आरडीएक्स का भी इस्तेमाल किया गया था। इस केस की सुनवाई टाडा की स्पेशल कोर्ट में हुई थी और इसे देश के सबसे अहम मुकदमों में से एक माना जाता है। इन धमाकों के पीछे दाऊद इब्राहीम जैसे दुर्दांत मुस्लिम माफिया का नाम सामने आया और वो देश छोड़कर फरार हो गया था।

(नोट-कई मीडिया रिपोर्ट्स, बीजेपी नेताओं के ट्वीट्स में इब्राहीम मूसा को इकबाल मूसा भी बताया जा रहा है। ये समाचार मुंबई ब्लास्ट 1993 केस में हथियारों की सप्लाई करने वाले इब्राहीम मूसा चौहार उर्फ बाबा चौहान के बारे में है, जो शिवसेना-यूबीटी के उम्मीदवार के लिए चुनाव प्रचार करता देखा गया। उसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल भी हो रहा है।)

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वाति मालीवाल बन गई INDI गठबंधन में गले की फाँस? राहुल गाँधी की रैली के लिए केजरीवाल को नहीं भेजा गया न्योता, प्रियंका कह...

दिल्ली में आयोजित होने वाली राहुल गाँधी की रैली में शामिल होने के लिए AAP प्रमुख अरविंद केजरीवाल को न्योता नहीं दिया गया है।

‘अनुच्छेद 370 को हमने कब्रिस्तान में गाड़ दिया, इसे वापस नहीं लाया जा सकता’: PM मोदी बोले- अलगाववाद को खाद-पानी देने वाली कॉन्ग्रेस ने...

पीएम मोदी ने कहा, "आजादी के बाद गाँधी जी की सलाह पर अगर कॉन्ग्रेस को भंग कर दिया गया होता, तो आज भारत कम से कम पाँच दशक आगे होता।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -