Tuesday, July 23, 2024
Homeराजनीति'कितने दिन में बनाई?': जब माँ की पेंटिंग देख रुक गई PM मोदी की...

‘कितने दिन में बनाई?’: जब माँ की पेंटिंग देख रुक गई PM मोदी की गाड़ी… सिर पर हाथ रख हिमाचल की बेटी को दिया आशीर्वाद

रिज मैदान पर कार्यक्रम समाप्त होने के बाद पीएम जब मॉल रोड से अपनी कार में लौट रहे थे, तभी वह युवती उन्हें उनकी माँ की पेंटिंग लिए हुए खड़ी दिखाई।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने केंद्र सरकार के 8 वर्ष पूरे होने पर मंगलवार (31 मई, 2022) को हिमाचल प्रदेश के शिमला में एक कार्यक्रम में शिरकत की। शिमला से लौटते हुए पीएम ने अचानक अपनी कार रोकी और एक बेटी से बात करने लगे। इनका वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो में आप देख सकते हैं कि पीएम के हाथों में उनकी माँ हीराबेन की पेंटिंग है। यह पेंटिंग उसी लड़की ने बनाई है।

एक यूजर ने ट्विटर पर लिखा, “अद्भुत,अविस्मरणीय, स्वर्णिम पल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने शिमला में अपनी कार को रोककर एक बेटी द्वारा बनाई गई उनकी माताजी हीराबेन की पेंटिंग को सहस भाव से स्वीकार किया। ये है मोदी जी की सादगी और सरलता।”

दरअसल, रिज मैदान पर कार्यक्रम समाप्त होने के बाद पीएम जब मॉल रोड से अपनी कार में लौट रहे थे, तभी वह युवती उन्हें उनकी माँ की पेंटिंग लिए हुए खड़ी दिखाई। इस पर पीएम मोदी ने अपनी कार रोक ली और उसके पास पहुँच गए। पीएम ने लड़की से उसका नाम पूछा और साथ कहा कि आपने कितने दिन में यह पेंटिंग बनाई है। पीएम के सवाल का जवाब देते हुए लड़की ने कहा, “मेरा नाम अनु है। मैं शिमला की रहने वाली हूँ। मैंने एक दिन में इस पेंटिंग को बनाया है। इस दौरान युवती ने पीएम मोदी के पैर भी छुए। वहीं पीएम ने भी लड़की को आशीर्वाद दिया और वहाँ से चले गए।

बता दें कि अपनी सरकार के 8 वर्ष पूरे होने पर अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में रोड शो किया और कई विकास परियोजनाओं के उद्घाटन के साथ-साथ एक विशाल जनसभा को भी सम्बोधित किया। उन्होंने इस दौरान ‘किसान सम्मान निधि’ की 11वीं किश्त भी जारी की।

पीएम ने इसके बाद कहा कि उन्हें शिमला की धरती से देश के 10 करोड़ से भी ज्यादा किसानों के खाते में पैसे पहुँचाने का सौभाग्य मिला है। आज उनके जीवन में एक विशेष दिवस भी है, इस विशेष दिवस पर देवभूमि को प्रणाम करने का मौका मिले, इससे बड़ा सौभाग्य क्या हो सकता है। उन्होंने इतनी बड़ी तादाद में आशीर्वाद देने आने के लिए जनता का आभार व्यक्त किया।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नेचुरल फार्मिंग क्या है, बजट में क्यों इसे 1 करोड़ किसानों से जोड़ने का ऐलान: गोबर-गोमूत्र के इस्तेमाल से बढ़ेगी किसानों की आय

प्राकृतिक खेती एक रसायनमुक्त व्यवस्था है जिसमें प्राकृतिक संसाधनों का इस्तेमाल किया जाता है, जो फसलों, पेड़ों और पशुधन को एकीकृत करती है।

नारी शक्ति को मोदी सरकार ने समर्पित किए ₹3 लाख करोड़: नौकरी कर रहीं महिलाओं और उनके बच्चों के लिए भी रहने की सुविधा,...

बजट में महिलाओं की हिस्सेदारी कार्यबल में बढ़ाने पर काम किया गया है। इसके अलावा कामकाजी महिलाओं के लिए छात्रावास स्थापित करने का भी ऐलान हुआ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -