Sunday, July 14, 2024
Homeराजनीतिराज्यसभा चुनावों में BJP ने गाड़े झंडे: सभी 8 सीटें जीत UP में सपा...

राज्यसभा चुनावों में BJP ने गाड़े झंडे: सभी 8 सीटें जीत UP में सपा को दिया झटका, हिमाचल में बहुमत के बावजूद कॉन्ग्रेस की इकलौती सीट भी छिनी

राज्य सभा चुनावों में भाजपा ने उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और हिमाचल प्रदेश में कॉन्ग्रेस को बड़ा झटका दिया है। उत्तर प्रदेश में भाजपा के सभी 8 उम्मीदवारों की जीत हुई है, जबकि बहुमत होने के बावजूद हिमाचल में कॉन्ग्रेस हार गई और वहाँ भी भाजपा को जीत मिली है।

उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और कर्नाटक में आज मंगलवार (27 फरवरी 2024) को राज्यसभा के 15 सीटों पर हुए मतदान में बड़ा उलटफेर देखने को मिला है। उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी और हिमाचल प्रदेश में कॉन्ग्रेस के कई विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की। इसके कारण कुछ उम्मीदवारों के राज्यसभा पहुँचने की लालसा पूरी नहीं हो पाई। अब तक सामने आए परिणामों में भाजपा बाजी मार गई। दरअसल, 15 राज्यों में राज्यसभा की 56 सीटें खाली हुई थीं। इनमें से 12 राज्यों की 41 राज्यसभा सीटों पर उम्मीदवार निर्विरोध चुन लिए गए, जबकि बाकी सीटों के लिए मतदान हुआ।

यूपी में भाजपा की बंपर जीत

यूपी में राज्यसभा की 10 सीटों के लिए भाजपा के 8 और समाजवादी पार्टी के 3 प्रत्याशी मैदान में हैं। इसमें भाजपा के 7 और सपा के 3 उम्मीदवारों की जीत माना जा रहा था। इस बीच भाजपा ने अपना आठवाँ उम्मीदवार खड़ा करके चुनाव को दिलचस्प बना दिया। भाजपा के आठवें उम्मीदवारों को जिताने के लिए समाजवादी पार्टी के 9 विधायकों ने ही क्रॉस वोटिंग कर दी।

सपा के जिन विधायकों ने भाजपा के पक्ष में क्रॉस वोटिंग की, उनमें मनोज पांडेय, पवन पांडेय, आशुतोष मौर्य, राकेश प्रताप सिंह, अभय सिंह सहित 7 विधायक बताए जाते हैं। वहीं, अखिलेश यादव की डिनर में शामिल नहीं होने वाले सपा विधायक मुकेश वर्मा, महाराजी प्रजापति, पूजा पाल, विनोद चतुर्वेदी हैं। इसके माना जा रहा था क्रॉस वोटिंग होगी और भाजपा की जीत होगी।

इस चुनाव में बीजेपी के सभी 8 उम्मीदवार चुनाव जीत गए हैं। सुधांशु त्रिवेदी 38 वोट पाकर राज्यसभा चुनाव जीत गए हैं। भाजपा के जो उम्मीदवार जीते हैं, उनके नाम हैं- अमरपाल मौर्य, RPN सिंह, साधना सिंह, संजय सेठ, संगीता बलवंत बिंद, सुधांशु त्रिवेदी, तेज वीर सिंह और नवीन जैन। वहीं, सपा के जया बच्चन और रामजी लाल सुमन चुनाव जीते हैं।

बता दें कि उत्तर प्रदेश की 10 राज्यसभा सीटों के लिए कुल 11 उम्मीदवार मैदान में थे। इससे पहले 10 सीटों के लिए 10 ही उम्मीदवार थे, जिसमें भाजपा की ओर से 7 और समाजवादी पार्टी के 3 उम्मीदवार थे। दो-तीन वोटों के इधर-उधर से इन 10 उम्मीदवारों की जीत तय मानी जा रही थी। इस बीच भाजपा ने 8वाँ उम्मदीवार उतार दिया और सपा के विधायकों के क्रॉस वोटिंग से यह उम्मदीवार भी जीत गया।

हिमाचल प्रदेश में भाजपा ने मारी बाजी

हिमाचल प्रदेश में हुए एक सीटों के राज्यसभा चुनावों में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के हर्ष महाजन को जीत मिली है। उनके सामने कॉन्ग्रेस के नेता एवं सुप्रीम कोर्ट के वकील अभिषेक मनु सिंघवी थे। बहुमत होने के बावजूद हिमाचल प्रदेश कॉन्ग्रेस पर उनके बागी नेताओं की बगावत भारी पड़ी। यहाँ कॉन्ग्रेस के 9 विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की।

कॉन्ग्रेस और भाजपा को यहाँ 34-34 वोट मिले। अंतिम फैसला टॉस से हुआ जिसमें भाजपा प्रत्याशी को जीत हासिल हुई। इसके अलावा भारतीय जनता पार्टी कॉन्ग्रेस का एक वोट रद्द करवाने के लिए चुनाव आयोग पहुँच गई है। यह वोट बीमार बताकर हेलीकॉप्टर से लाए गए कॉन्ग्रेस विधायक सुदर्शन बबलू का है। भाजपा ने हेलीकॉप्टर का प्रयोग आचार संहिता का उल्लंघन बताया है।

दरअसल, हिमाचल प्रदेश विधानसभा की में कुल 68 सीटें हैं। इनमें से कॉन्ग्रेस के पास 40 और बीजेपी के 25 विधायक हैं, जबकि दो निर्दलीय है एक अन्य पार्टी का है। प्रदेश के सुखविंदर सिंह सुक्खू सरकार को कुल 43 विधायक का समर्थन है। कॉन्ग्रेस के 9 विधायकों के क्रॉस वोटिंग के बाद दोनों पक्षों की ओर से 34-34 वोट पड़े थे।

क्रॉस वोटिंग पर हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने बागी विधायकों को ईमान बेचने वाला बताया है। उन्होंने कहा कि कॉन्ग्रेस के कई विधायकों का हरियाणा पुलिस ने अपहरण करके पंचकुला के एक गेस्ट हाउस में रखा है। फिलहाल यह गेस्ट हाउस आम जनता के लिए बंद कर दिया गया है। क्रॉस वोटिंग के बाद अब हिमाचल सरकार के भविष्य पर सवाल खड़े हो रहे हैं।

कर्नाटक में कॉन्ग्रेस को राहत

कर्नाटक में राज्यसभा की 4 सीटों पर हुए चुनावों में कॉन्ग्रेस को तीन सीटें मिली हैं। वहीं, भाजपा को एक सीट पर संतोष करना पड़ा है। कॉन्ग्रेस के जीतने वाले उम्मीदवारों में अजय माकन, नासिर हुसैन और जीसी चंद्रशेखर हैं। अजय माकन को 47, नासिर हुसैन को 46 और जीसी चंद्रशेखर को 46 वोट मिले।

वहीं, भाजपा की ओर से नारायण बंदिगे ने जीत हासिल की है। वहीं, जनता दल सेक्युलर (JDS) के कुपेंद्र रेड्डी को हार का सामना करना पड़ा है। यहाँ पर भाजपा विधायक एसटी सोमशेखर ने क्रॉस वोटिंग की, जबकि एक अन्य विधायक शिवराम हब्बार ने मत नहीं डाला। इस तरह भाजपा को 48, जेडीएस को 35 और कॉन्ग्रेस को 139 वोट मिले।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -