Saturday, June 15, 2024
Homeराजनीतिकारोबारी के बँगले पर चाचा-भतीजा की मुलाकात: शरद पवार और भतीजे अजीत के बीच...

कारोबारी के बँगले पर चाचा-भतीजा की मुलाकात: शरद पवार और भतीजे अजीत के बीच 1 घंटे तक चली ‘सीक्रेट मीटिंग’, NCP के दोनों धड़ों ने साधी चुप्पी

मीटिंग के बाद शरद पवार बंगले से बाहर निकल आए। वहीं, इसके करीब एक घण्टे बाद अजित पवार भी यहाँ से चले गए।इस मुलाकात को लेकर एनसीपी के दोनों धड़ों की ओर से कोई भी बयान सामने नहीं आया है।

महाराष्ट्र की सियासत में फिर बड़े बदलाव की सुगबुगाहट तेज हो गई है। दरअसल, महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री अजित पवार ने अपने चाचा शरद पवार के साथ ‘सीक्रेट मीटिंग’ की है। यह मीटिंग पुणे के बिजनेसमैन अतुल चोरड़िया के बंगले पर हुई। माना जा रहा है कि चाचा-भतीजे की यह मुलाकात दो फाड़ हो चुकी एनसीपी को एक करने के लिए हुई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, शरद पवार और अजित पवार शनिवार (12 अगस्त, 2023) को पुणे पहुँचे। यहाँ दोनों ने कोरेगाँव पार्क क्षेत्र के लेन 3 में स्थित अतुल चोरड़िया के बंगले पर मुलाकात की। अजित और शरद पवार के बीच 1 घण्टे से अधिक समय तक मीटिंग चली। इस दौरान शरद पवार के साथ जयंत पाटिल भी मौजूद थे। कहा जा रहा है कि यह मीटिंग पहले एक होटल में होनी थी। हालाँकि फिर बिजनेसमैन के घर में हुई।

मीटिंग के बाद शरद पवार बंगले से बाहर निकल आए। वहीं, इसके करीब एक घण्टे बाद अजित पवार भी यहाँ से चले गए। इस मुलाकात को लेकर एनसीपी के दोनों धड़ों की ओर से कोई भी बयान सामने नहीं आया है। हालाँकि राजनीति हलकों में यह ‘सीक्रेट मीटिंग’ एनसीपी को एक करने की कवायद के रूप में देखा जा रहा है। बता दें कि इससे पहले भी अजित पवार और शरद पवार के बीच मुलाकात हो चुकी है। 1 अगस्त को पुणे में ही आयोजित एक कार्यक्रम में दोनों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में मंच साझा किया था। इस कार्यक्रम में पीएम मोदी को लोकमान्य तिलक राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

वहीं, इससे पहले 18 जुलाई को एनसीपी के कार्यकारी अध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल के साथ अजित पवार ने शरद पवार से मुलाकात की थी। इस मुलाकात में अजित और प्रफुल्ल ने शरद पवार से एनसीपी को एकजुट करने का आग्रह किया था। वहीं 14 जुलाई को अजित पवार अपनी चाची और शरद पवार की पत्नी प्रतिभा पवार से मिलने उनके घर पहुँचे थे। इसके अलावा, अजित पवार गुट के कई अन्य नेता भी शरद पवार से मुलाकात कर एनसीपी को एक रखने की बात कर चुके हैं।

बता दें कि 2 जुलाई को अजित पवार ने एनसीपी के महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। इस दौरान उनके साथ एनसीपी के 8 विधायकों को भी मंत्री बनाया गया था। वहीं बाद में अजित पवार को वित्त मंत्रालय भी दिया गया था। अजित पवार के एनडीए में शामिल होने के बाद से NCP दो फाड़ हो चुकी है। यही नहीं, एनसीपी को लेकर चाचा-भतीजे (शरद-अजित) के बीच चल रही लड़ाई चुनाव आयोग भी पहुँच चुकी है। दोनों गुटों ने अपने विधायकों के समर्थन के साथ पार्टी के चिन्ह ‘घड़ी’ और नाम ‘राष्ट्रवादी कॉन्ग्रेस पार्टी’ पर अपना-अपना दावा ठोंक रखा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NSA, तीनों सेनाओं के प्रमुख, अर्धसैनिक बलों के निदेशक, LG, IB, R&AW – अमित शाह ने सबको बुलाया: कश्मीर में ‘एक्शन’ की तैयारी में...

NSA अजीत डोभाल के अलावा उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा, तीनों सेनाओं के प्रमुख के अलावा IB-R&AW के मुखिया व अर्धसैनिक बलों के निदेशक भी मौजूद रहेंगे।

अब तक की सबसे अधिक ऊँचाई पर पहुँचा भारत का विदेशी मुद्रा भंडार, उधर कंगाली की ओर बढ़ा पाकिस्तान: सिर्फ 2 महीने का बचा...

एक तरफ पाकिस्तान लगातार बर्बादी की कगार पर पहुँच रहा है, तो दूसरी तरफ भारत का विदेशी मुद्रा भंडार लगातार बढ़ता जा रहा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -