Wednesday, July 24, 2024
Homeराजनीतिराहुल गाँधी की तारीफ़ में कॉन्ग्रेस नेता का स्मृति ईरानी को लेकर आपत्तिजनक बयान,...

राहुल गाँधी की तारीफ़ में कॉन्ग्रेस नेता का स्मृति ईरानी को लेकर आपत्तिजनक बयान, केंद्रीय मंत्री ने वायनाड के सांसद से पूछा – अमेठी से लड़ेंगे? भागेंगे तो नहीं?

अजय राय के इस बयान के बाद भाजपा कॉन्ग्रेस पर हमलावर रही। इसके बाद अब केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने पटलवार करते हुए ट्वीट किया है, "राहुल गाँधी जी, सुना है आपने अपने किसी प्रांतीय नेता से अभद्र तरीके से 2024 में अमेठी से लड़ने की घोषणा करवाई है।

उत्तर प्रदेश की सियासत में अमेठी सीट सबसे अधिक चर्चा का विषय रही है। अब कॉन्ग्रेस नेता अजय राय के बिगड़े बोल के बाद यहाँ एक बार फिर मुकाबला स्मृति ईरानी और राहुल गाँधी के बीच चुनावी लड़ाई की चर्चा है। अजय राय के बयान पर पटलवार करते हुए स्मृति ईरानी ने राहुल गाँधी से पूछा है कि क्या वह अमेठी से लड़ने वाले हैं या डर कर भाग जाएँगे?

दरअसल, कॉन्ग्रेस नेता अजय राय ने कहा था, “अमेठी निश्चित रूप से गाँधी परिवार की सीट है और रहेगी। राजीव गाँधी, राहुल गाँधी और गाँधी परिवार के कई सदस्यों ने जगह-जगह सेवा की है। स्मृति ईरानी केवल आती हैं और ‘लटके-झटके’ करती हैं और चली जाती हैं। कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता चाहते हैं कि राहुल गाँधी वहाँ से 2024 का चुनाव लड़ें।”

अजय राय के इस बयान के बाद भाजपा कॉन्ग्रेस पर हमलावर रही। इसके बाद अब केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने पटलवार करते हुए ट्वीट किया है, “राहुल गाँधी जी, सुना है आपने अपने किसी प्रांतीय नेता से अभद्र तरीके से 2024 में अमेठी से लड़ने की घोषणा करवाई है। तो क्या आपका अमेठी से लड़ना पक्का समझूँ? दूसरी सीट पर तो नहीं भागेंगे? डरेंगे तो नहीं? पुनश्च: आपको और मम्मी जी (सोनिया गाँधी) को अपने नारी विरोधी गुंडों के लिए एक नया भाषण लेखक लाने की जरूरत है।”

अजय राय के बयान के बाद भाजपा प्रवक्ता राकेश त्रिपाठी ने कहा था कि कॉन्ग्रेस की रस्सी जल गई है लेकिन बल नहीं जा रहा। यही कारण है कि कॉन्ग्रेस यूपी में एक सांसद और दो विधायकों वाली पार्टी रह गई। कॉन्ग्रेस नेता अगर ऐसी ही बदजुबानी करेंगे तो आने वाले दिनों में उनकी दुर्गति और होगी। राकेश त्रिपाठी ने कॉन्ग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी वाड्रा से उनका इस बयान को लेकर सवाल पूछते हुए कहा है कि क्या ‘लड़की हूँ लड़ सकती हूँ’ का कैंपेन चलाने वाली प्रियंका गाँधी एक महिला के खिलाफ की गई इस टिप्पणी को लेकर अजय राय के खिलाफ कार्रवाई करेंगी?

गौरतलब है कि अमेठी लोकसभा सीट कॉन्ग्रेस की परंपरागत सीट रही है। राजीव गाँधी से लेकर सोनिया गाँधी और राहुल गाँधी तक अमेठी से सांसद रहे हैं। हालाँकि, साल 2019 के लोकसभा चुनाव में स्मृति ईरानी ने कॉन्ग्रेस का यह तिलिस्म तोड़ते हुए जीत दर्ज की थी। चूँकि, 2019 के आम चुनाव में राहुल गाँधी अमेठी के अलावा केरल की मुस्लिम बाहुल्य सीट वायनाड से भी चुनाव लड़े थे। इसलिए भाजपा की ओर से यह कहा गया था कि राहुल गाँधी हार के डर से अमेठी छोड़कर भाग गए हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मेरे बेटे को मार डाला’: आधुनिक पश्चिमी सभ्यता ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स को भी दे दिया ऐसा दर्द, कहा – Woke वाले...

लिंग-परिवर्तन कराने वाले को उसके पुराने नाम से पुकारना 'Deadnaming' कहलाता है। उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि उनका बेटा मर चुका है।

‘बंद ही रहेगा शंभू बॉर्डर, JCB लेकर नहीं कर सकते प्रदर्शन’: सुप्रीम कोर्ट ने ‘आंदोलनजीवी’ किसानों को दिया झटका, 15 अगस्त को दिल्ली कूच...

सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू बॉर्डर को अभी बंद ही रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा किसान JCB लेकर प्रदर्शन नहीं कर सकते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -