Monday, July 22, 2024
Homeराजनीतिदिशा सालियान की मौत की होगी SIT जाँच: डिप्टी CM फडणवीस का ऐलान, BJP...

दिशा सालियान की मौत की होगी SIT जाँच: डिप्टी CM फडणवीस का ऐलान, BJP विधायक ने कहा- आदित्य ठाकरे का हो नार्को टेस्ट

भाजपा विधायक नितेश राणे ने कहा कि दिशा सालियान की मौत का सच सामने आने दीजिए। यह मामला अभी भी मुंबई पुलिस के पास है। इसकी सीबीआई जाँच नहीं कराई गई है। उन्होंने अनुरोध किया कि इस मामले में आदित्य ठाकरे का नार्को टेस्ट होना चाहिए।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे की पार्टी बाला साहेब शिवसेना के सासंद राहुल शेवाले ने बुधवार (21 दिसंबर 2022) को संसद में बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत से जुड़े कई चौंकाने वाले खुलासे किए थे। उनके बाद शिवसेना (एकनाथ शिंदे गुट) के विधायक भरत गोगावले (Bharat Gogavale) और बीजेपी विधायक नितेश राणे (Nitesh Rane) ने महाराष्ट्र विधानसभा में आज सुशांत सिंह राजपूत की मैनेजर दिशा सालियान की मौत का मुद्दा उठाया और इस मामले की जाँच की माँग की। इसके बाद सदन में विधायकों का हंगामा शुरू हो गया।

वहीं डिप्टी सीएम देवेंद्र फडणवीस ने ऐलान किया कि इस मामले की जाँच अब स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम द्वारा करवाई जाएगी। यह जाँच बिलकुल निष्पक्ष होगी

नितेश राणे ने इस मामले में आदित्य ठाकरे का नार्को टेस्ट कराने की माँग भी की है। राणे ने गुरुवार (22 दिसंबर 2022) को मीडियाकर्मियों से कहा, “दिशा सालियान की मौत का सच सामने आने दीजिए। यह मामला अभी भी मुंबई पुलिस के पास है। अभी तक इसकी सीबीआई जाँच नहीं कराई गई है। मैं सीएम से इसकी जाँच कराने का अनुरोध करूँगा। फाइनल पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट और पूरी किताब के पन्ने अभी मिलने बाकी हैं। आदित्य ठाकरे का नार्को टेस्ट कराया जाना चाहिए।”

बीजेपी विधायक ने आगे कहा कि सुशांत सिंह राजपूत और उनकी मैनेजर दिशा सालियान मौत का केस फिर से खोला जाए। दिशा की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट अभी तक सामने नहीं आई है। इसलिए अगर आदित्य ठाकरे का नार्को टेस्ट किया जाता है, तो सच्चाई सामने आ जाएगी। जैसे श्रद्धा वाकर मर्डर केस में आफताब अमीन पूनावाला का नार्को टेस्ट कराया गया था, वैसे ही आदित्य ठाकरे का भी नार्को टेस्ट कराया जाए।

नितेश राणे ने यह भी कहा कि सुशांत राजपूत मौत मामले में आदित्य ठाकरे का नाम ही क्यों लिया जा रहा है। राहुल शेवाले कभी मातोश्री के चाहने वाले थे। उन्होंने ही इस मुद्दे को उठाया था। शेलावे का कहना है कि सुशांत की मौत से पहले रिया चक्रवर्ती को आदित्य ठाकरे 44 कॉल आए हैं।” नितेश राणे ने पूछा, फिर इस मामले में जाँच अधिकारी क्यों बदले गए।

बता दें कि लोकसभा में सांसद राहुल शेवाले ने कहा था, “रिया चक्रवर्ती को सुशांत की मौत से पहले 44 बार AU के नाम से फोन किया गया। रिया चक्रवर्ती की लीगल टीम ने AU को अनन्या उदास बताया था, लेकिन बिहार पुलिस की जाँच में AU का मतलब आदित्य उद्धव ठाकरे था। इसकी जाँच की जानी चाहिए और सच्चाई सामने आनी चाहिए।”

हालाँकि पूर्व मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्य ने इसे सिरे से खारिज किया है। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति अपनी पार्टी के प्रति वफादार नहीं रहा उससे किसी तरह अपेक्षा नहीं की जा सकती। वैसे यह पहली बार नहीं है जब सुशांत और उनकी मैनेजर रही दिशा सालियान को लेकर आदित्य पर सवाल उठे हैं। इससे पहले इस केस में उनका नाम कई बार लिया गया है। अब इस मामले की जाँच स्पेशन इन्वेस्टिगेशन टीम द्वारा होगी। यह ऐलान प्रदेश के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस द्वारा किया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -