Friday, July 19, 2024
Homeराजनीतिलगातार 3 बार सांसद और शुभेंदु के पिता 'जय श्री राम' बोल BJP में...

लगातार 3 बार सांसद और शुभेंदु के पिता ‘जय श्री राम’ बोल BJP में शामिल, अमित शाह से कहा – ‘बंगाल को बचाना है’

"पश्चिम बंगाल को इस क्रूरता से बचाना है। हम आपके साथ हैं। मेरा परिवार आपके साथ है। जय सिया राम! जय भारत!" - लगातार तीन बार के सांसद शिशिर अधिकारी ने TMC को छोड़ कर...

पश्चिम बंगाल के पूर्व मंत्री और नंदीग्राम से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के खिलाफ बतौर भाजपा उम्मीदवार ताल ठोक रहे शुभेंदु अधिकारी के परिवार के सदस्य कब भाजपा (BJP) में शामिल होंगे, इस पर अटकलें चल रही थीं। अब शुभेंदु के पिता और कांथी लोकसभा क्षेत्र से लगातार तीसरी बार सांसद बने वरिष्ठ नेता शिशिर अधिकारी ने ‘जय श्री राम’ के उद्घोष के साथ केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की मौजूदगी में भाजपा का दामन थामा।

शिशिर अधिकारी पूर्वी मेदिनीपुर के एर्गा में भाजपा में शामिल हुए। उन्होंने जनता से कहा, “पश्चिम बंगाल को इस क्रूरता से बचाना है। हम आपके साथ हैं। मेरा परिवार आपके साथ है। जय सिया राम! जय भारत!”

उन्होंने कहा कि अब लड़ाई मेदिनीपुर की प्रतिष्ठा की है। इससे पहले उन्होंने कहा था कि उनका कहीं जाने का मन नहीं है लेकिन भाजपा में जाने के लिए TMC उन्हें धक्का दे रही थी। भाजपा नेता मनसुख मंडाविया ने उनसे मिल कर उन्हें भाजपा में आमंत्रित किया था।

शिशिर तृणमूल कॉन्ग्रेस (TMC) के जिलाध्यक्ष भी थे। साथ ही वो दीघा-शंकरपुर डेवलपमेंट काउंसिल के अध्यक्ष भी थे। हाल ही में उन्हें दोनों पदों से हटा दिया गया था। उन्होंने नंदीग्राम से अपने बेटे शुभेंदु की बड़े अंतर से जीत की भविष्यवाणी करते हुए कहा कि वो खुद वहाँ जाकर भाजपा के लिए चुनाव प्रचार करेंगे।

शिशिर के भाजपा में आने की पटकथा 13 मार्च को हुगली की सांसद और चुनचरु से भाजपा उम्मीदवार लॉकेट चटर्जी के उनके साथ लंच करने के साथ ही लिख दी गई थी।

वहीं रैली में पूर्व भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा, “मैं आज बंगाल के इस कोने में आपको यह बताने आया हूँ कि 37 साल तक आपने कम्युनिस्टों की सरकार चुनी। फिर आपने दीदी की सरकार चुनी लेकिन इन दोनों सरकारों ने बंगाल का भला नहीं किया। दुर्गा पूजा, सरस्वती पूजा के लिए कोर्ट की अनुमति लेनी पड़ता है। ऐसी सरकार चल सकती है क्या? अगर भाजपा सत्ता में आई तो सरस्वती पूजा, दुर्गा पूजा को कोई रोक नहीं पाएगा।”

अमित शाह ने कहा कि राज्य में हर काम के लिए कटमनी देनी पड़ती है, टोलाबाजी हो रही है। उन्होंने कहा कि ममता दीदी कहती हैं कि 500 रुपए ही तो लिए, उसमें क्या हुआ!

उन्होंने जनता को भरोसा दिलाया कि भाजपा के आने के बाद 5 आना भी टोल मनी या कट मनी नहीं जाएगी। शाह ने कहा कि इस बार ममता दीदी के गुंडों को दिन में तारे दिखाई देंगे। उन्होंने आरोप लगाया कि ममता दीदी अपने भतीजे को सीएम बनाना चाहती हैं।

साथ ही अमित शाह ने भाजपा के उद्देश्य की बात करते हुए कहा कि PM मोदी सोनार बांग्ला बनाना चाहते हैं। उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि TMC के गुंडे ये न समझें कि बच जाएँगे। शाह ने वादा किया कि प्रदेश में 2 मई को भाजपा की सरकार बनते ही TMC के गुंडों को पाताल से भी ढूँढ कर सजा दी जाएगी। वहीं शिशिर ने तेजपुर बंदरगाह के विकास पर ममता सरकार द्वारा अड़ंगा लगाने की बात हुए कहा कि अब उनका परिवार भाजपा के साथ है।

उधर असम के बोकाखाट में पीएम मोदी ने कहा कि ‘असम दर्शन’ के तहत 9000 से ज्यादा सत्रों, नामघरों और आस्था से जुड़े दूसरे स्थानों में इंफ्रास्ट्रक्चर को बेहतर करने का काम भाजपा सरकार ने किया है। कहा कि कॉन्ग्रेस का खज़ाना अब खाली हो गया है, उसे भरने के लिए इन्हें किसी भी कीमत पर सत्ता चाहिए। पीएम ने ध्यान दिलाया कि झारखंड में, बिहार में, महाराष्ट्र में, जिनके साथ इनका गठबंधन है, वो पश्चिम बंगाल में इनके खिलाफ प्रचार कर रहे हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -