Friday, July 30, 2021
Homeराजनीति'बीजेपी की सेंचुरी पूरी, आधे चुनाव में ही TMC पूरी साफ': बर्धमान में PM...

‘बीजेपी की सेंचुरी पूरी, आधे चुनाव में ही TMC पूरी साफ’: बर्धमान में PM मोदी ने उठाया बिहार के SHO की मॉब लिंचिंग का मुद्दा

"दीदी, ओ दीदी, अरे दीदी, हार होती देख ये क्या हो गया आपको? आपके करीबियों को? हालत तो ये हो गई है कि दीदी अब केंद्रीय वाहिनी के खिलाफ अपने कार्यकर्ताओं को भड़का रही हैं।"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार (अप्रैल 12, 2021) को पश्चिम बंगाल के बर्धमान में एक चुनावी जनसभा को सम्बोधित किया। बंगाल में 17 अप्रैल को पाँचवें चरण का चुनाव होना है। इस दौरान प्रधानमंत्री ने बर्धमान की दो मशहूर चीजों चावल और मिहिदाना को याद करते हुए कहा कि यहाँ के लोगों की बोली, व्यवहार, यहाँ का खान-पान, हर चीज में भरपूर मिठास है। उन्होंने इस मौके पर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को भी आड़े हाथों लिया।

पीएम मोदी ने कहा, “दीदी की कड़वाहट, उनका क्रोध, उनकी बौखलाहट बढ़ती ही जा रही है। जानते हैं क्यों? मैं बताता हूँ। क्योंकि बंगाल में हुए आधे चुनावों में आपने TMC को पूरा साफ कर दिया है। यानी, आधे चुनाव में ही TMC पूरी साफ। चार चरणों के चुनाव में बंगाल की जागरूक जनता ने इतने चौके-छक्के मारे कि भाजपा की सीटों की सेंचुरी हो गई है। जो आपके साथ खेला करने की सोच रहे थे, उन्हीं के साथ खेला हो गया है।”

प्रधानमंत्री ने कहा कि एक तो नंदीग्राम में बंगाल के लोगों ने दीदी को ‘क्लीन बोल्ड’ कर दिया, यानी बंगाल में दीदी की पारी समाप्त हो चुकी है। दूसरा, बंगाल के लोगों ने दीदी का बहुत बड़ा प्लान फेल कर दिया। बकौल पीएम मोदी, दीदी तैयारी करके बैठी थीं कि पार्टी की कप्तानी भाइपो को सौंपेंगी, लेकिन दीदी का ये खेला भी जनता ने समय रहते समझ लिया और इसलिए दीदी का सारा खेला धरा का धरा रह गया।

पीएम मोदी ने तीसरी बात ये बताई कि दीदी की पूरी टीम को ही बंगाल के लोगों ने मैदान से बाहर जाने को कह दिया है, तो अब दीदी बंगाल के लोगों से गुस्सा तो होंगी ही। उन्होंने लोगों को बताया कि दीदी को ये भी मालूम है कि एक बार बंगाल से कॉन्ग्रेस गई तो कभी वापस नहीं आई। वामपंथी वाले, लेफ्ट वाले गए वापस नहीं आए। उन्होंने TMC सुप्रीमो से कहा, “दीदी, आप भी एक बार गईं तो कभी वापस नहीं आएँगी।”

पीएम मोदी ने बर्धमान में गरजते हुए कहा कि दीदी के लोग बंगाल के अनुसूचित जाति के भाई-बहनों को गाली देने लगे हैं और उन्हें भिखारी कहने लगे हैं। पीएम मोदी ने दुःख जताते हुए कहा कि बाबा साहेब की आत्मा को दीदी के कड़वे शब्द सुनकर कितना कष्ट हुआ होगा। उन्होंने कहा कि वो राजा राम मोहन राय जिन्होंने जाति प्रथा के खिलाफ देश को झकझोरा, इस कुरीति को मिटाने के लिए देश को दिशा दिखाई, उनके बंगाल में दीदी ने दलितों को इतना बड़ा अपमान किया है।

प्रधानमंत्री ने कहा, “दीदी, ओ दीदी, अरे दीदी, हार होती देख ये क्या हो गया आपको? आपके करीबियों को? हालत तो ये हो गई है कि दीदी अब केंद्रीय वाहिनी के खिलाफ अपने कार्यकर्ताओं को भड़का रही हैं। दीदी, ओ दीदी, आपको गुस्सा करना है तो मैं हूँ न, मुझ पर कीजिए। जितनी मर्जी गाली दीजिए। लेकिन बंगाल की गरिमा, बंगाल की गौरवमयी परंपरा का अपमान मत कीजिए।”

प्रधानमंत्री मोदी ने तंज कसते हुए कहा कि दीदी ने 10 साल तक माँ, माटी, मानुष के नाम पर बंगाल पर राज किया है, लेकिन इन दिनों सभा में माँ, माटी, मानुष नहीं बल्कि ‘मोदी, मोदी, मोदी..’ करती रहती हैं। उन्होंने भीड़ द्वारा माए डाले गए बिहार के SHO अश्विनी कुमार की हत्या का मुद्दा उठाते हुए कहा कि वो वीर जवान, दो दिन पहले अपने कर्तव्य का पालन करने बंगाल की धरती पर आया था, लेकिन यहाँ पीट-पीट कर उस पुलिस अफसर की हत्या कर दी गई।

प्रधानमंत्री ने याद किया कि कैसे जब अश्विनी कुमार की माँ ने अपने वीर जवान बेटे का शव देखा, तो उन्होंने भी दम तोड़ दिया। प्रधानमंत्री ने ममता बनर्जी से सवाल दागा कि क्या उस पुलिस अफसर की माँ, आपके लिए माँ नहीं थीं? उन्होंने कहा, “आप इतनी कठोर हैं, इतनी निर्मम हैं, इसका अंदाजा बंगाल की किसी माँ को नहीं था।” उन्होंने 80 वर्षीय वृद्ध महिला शोभा मजूमदार की मौत का मुद्दा भी उठाया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

स्वतंत्र है भारतीय मीडिया, सूत्रों से बनी खबरें मानहानि नहीं: शिल्पा शेट्टी की याचिका पर बॉम्बे हाईकोर्ट

कोर्ट ने कहा कि उनका निर्देश मीडिया रिपोर्ट्स को ढकोसला नहीं बताता। भारतीय मीडिया स्वतंत्र है और सूत्रों पर बनी खबरें मानहानि नहीं है।

रामायण की नेगेटिव कैरेक्टर से ममता बनर्जी की तुलना कंगना रनौत ने क्यों की? जावेद-शबाना-खान को भी लिया लपेटे में

“...बंगाल मॉडल एक उदाहरण है… इसमें कोई शक नहीं कि देश में खेला होबे।” - जावेद अख्तर और ममता बनर्जी की इसी मीटिंग के बाद कंगना रनौत ने...

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,994FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe