Monday, August 2, 2021
Homeराजनीतिविष्णुदत्त विश्नोई सुसाइड केस: सीबीआई जॉंच को लेकर राज्यवर्धन राठौड़ ने गहलोत को लिखा...

विष्णुदत्त विश्नोई सुसाइड केस: सीबीआई जॉंच को लेकर राज्यवर्धन राठौड़ ने गहलोत को लिखा खत, पुलिसकर्मियों के बयान दर्ज

विष्णुदत्त विश्नोई के आत्महत्या करने की खबर पुलिस को शनिवार 9:30 बजे लग गई थी। कथित तौर पर उनका शव 12 घंटे तक फंदे से लटका रहा। रात के 9:15 के करीब शव को नीचे उतारा गया।

राजस्थान के पुलिस अधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई की आत्महत्या मामले की सीबीआई जॉंच की मॉंग जोर पकड़ती जा रही है। पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी सांसद राज्यवर्धन राठौड़ ने इस संबंध में प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखा है।

फिलहाल मामले की जॉंच सीआईडी क्राइम ब्रांच के पास है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार बुधवार को क्राइम ब्रांच की टीम दिनभर राजगढ़ थाने में रही। पुलिसकर्मियों के बयान दर्ज किए। विश्नोई और अन्य लोगों के सोशल मीडिया पोस्ट, ह्वाट्सएप चैट और कॉल डिटेल की भी जॉंच की जा रही है।

विश्नोई चुरू जिले के राजगढ़ थाने के ही प्रभारी थे। शनिवार (23 मई 2020) को वे अपने सरकारी क्वार्टर में फंदे से लटके मिले थे। इस मामले में सादुलपुर की कॉन्ग्रेस विधायक कृष्णा पूनिया की भूमिका को लेकर सवाल उठ रहे हैं। उन पर पुलिसकर्मियों की शिकायत उच्च अधिकारियों से करने का आरोप है।

विश्नोई ने जो दो सुसाइड नोट छोड़े थे उसमें भी उन्होंने दबाव की बात कही थी। शुरुआत से ही इस मामले की सीबीआई जॉंच की मॉंग की जा रही है। राज्यवर्धन राठौड़ ने ट्वीट कर कहा है, “विष्णुदत्त विश्नोई जी जैसे ईमानदार पुलिस अधिकारी को आत्महत्या जैसे कदम उठाने पर बाध्य करने वालों का खुलासा होना बेहद जरूरी है, जिससे पुलिसकर्मी निर्भीक हो कार्य कर सकें। मैं राजस्थान राज्य सरकार से इस मामले की त्वरित एवं निष्पक्ष जाँच हेतु इसे CBI को सौंपने की माँग करता हूँ।”

विष्णुदत्त विश्नोई की पत्नी और उनके दोनों बच्चों ने भी गहलोत को मामले की सीबीआई जॉंच को लेकर पत्र लिखा था। कई अन्य नेताओं ने जिसमें कुछ कॉन्ग्रेस के भी हैं पूर्व में यह मॉंग कर चुके हैं।

सीबीआई जॉंच की मॉंग को लेकर विश्नोई की पत्नी द्वारा लिखा गया पत्र

मीडिया रिपोर्टों में यह भी दावा किया गया था कि विष्णुदत्त विश्नोई के आत्महत्या करने की खबर पुलिस को शनिवार 9:30 बजे लग गई थी। कथित तौर पर उनका शव 12 घंटे तक फंदे से लटका रहा। रात के 9:15 के करीब शव को नीचे उतारा गया।

साभार: दैनिक भास्कर

इतना ही नहीं उनके आत्महत्या करने की खबर परिजनों को टीवी से लगी। सुबह के करीब 11:30 बजे। पुलिस का कहना है कि मामले की जॉंच सीआईडी (क्राइम ब्रांच) को सौंप दी गई थी। उनके इंतजार में शव को नीचे नहीं उतारा गया।

विष्णु के भाई संदीप ने जो एफआईआर दर्ज कराई है उसमें भी उन्होंने कहा है कि उन्हें और उनके माता-पिता को पुलिस अधिकारियों ने इस घटना की सूचना नहीं दी। उन्हें सुबह के 11:30 बजे टीवी से इसका पता चला। इसके बाद वे सभी लोग गॉंव से राजगढ़ पहुॅंचे। विष्णु चुरू जिले के राजगढ़ थाने के ही प्रभारी थे।

विश्नोई के भाई संदीप द्वारा दर्ज कराई गई एफआईआर

एफआईआर में संदीप ने कहा है कि उनके भाई की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हुई है। जो दो सुसाइड नोट मिले हैं, उसमें भी विष्णुदत्त ने अत्यधिक दबाव होने की बात कही है। उन्होंने कहा है कि थाने के रोजनामचे में इस दबाव के बारे में कई रपटें लिखी हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मुहर्रम पर यूपी में ना ताजिया ना जुलूस: योगी सरकार ने लगाई रोक, जारी गाइडलाइन पर भड़के मौलाना

उत्तर प्रदेश में डीजीपी ने मुहर्रम को लेकर गाइडलाइन जारी कर दी हैं। इस बार ताजिया का न जुलूस निकलेगा और ना ही कर्बला में मेला लगेगा। दो-तीन की संख्या में लोग ताजिया की मिट्टी ले जाकर कर्बला में ठंडा करेंगे।

हॉकी में टीम इंडिया ने 41 साल बाद दोहराया इतिहास, टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनल में पहुँची: अब पदक से एक कदम दूर

भारतीय पुरुष हॉकी टीम ने टोक्यो ओलिंपिक 2020 के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। 41 साल बाद टीम सेमीफाइनल में पहुँची है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,544FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe