Saturday, June 19, 2021
Home राजनीति 2 दिन में दूसरी धमकी: अब गहलोत ने कहा- PM आवास पर करेंगे प्रदर्शन

2 दिन में दूसरी धमकी: अब गहलोत ने कहा- PM आवास पर करेंगे प्रदर्शन

शुक्रवार को राज्यपाल पर दबाव बनाने की कोशिश करते हुए गहलोत ने कहा था, "राज्यपाल बिन दबाव में आए सत्र बुलाएँ। वरना पूरे राज्य की जनता अगर राजभवन को घेरने के लिए आ गई तो हमारी जिम्मेदारी नहीं होगी।"

सियासी संकट में फॅंसे राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अब प्रधानमंत्री आवास पर प्रदर्शन की चेतावनी दी है। इससे पहले उन्होंने गवर्नर के घेराव की धमकी दी थी।

गहलोत ने शनिवार (जुलाई 25, 2020) को कहा कि कॉन्ग्रेस पार्टी राष्ट्रपति से मुलाकात करेगी और अगर जरूरत पड़ी तो राजस्थान में मौजूदा स्थिति के संबंध में प्रधानमंत्री आवास के बाहर प्रदर्शन भी करेगी। जयपुर के होटल फेयरमोंट में आयोजित कॉन्ग्रेस विधायक दल (सीएलपी) की बैठक में उन्होंने यह बात कही।

उन्होंने कहा, “जरूरत पड़ने पर हम राष्ट्रपति से मिलने राष्ट्रपति भवन जाएँगे। साथ ही, आवश्यकता पड़ने पर हम पीएम के आवास के बाहर विरोध-प्रदर्शन करेंगे।”

गहलोत ने राज्यपाल कलराज मिश्र से मिलने का वक्त भी मॉंगा है। इस दौरान वे विधानसभा का सत्र बुलाने को लेकर प्रस्ताव दे सकते हैं। शुक्रवार को राज्यपाल पर दबाव बनाने की कोशिश करते हुए गहलोत ने कहा था, “राज्यपाल बिन दबाव में आए सत्र बुलाएँ। वरना पूरे राज्य की जनता अगर राजभवन को घेरने के लिए आ गई तो हमारी जिम्मेदारी नहीं होगी।”

राज्यपाल से मुलाकात के बाद काफी देर तक ​कॉन्ग्रेस विधायक राजभवन में ही डटे रहे थे। इसके बाद राज्यपाल का एक पत्र सामने आया था जिसमें उन्होंने कहा था, “इससे पहले कि मैं विधानसभा सत्र के संबंध में विशेषज्ञों से चर्चा करता, आपने सार्वजनिक रूप से कहा कि यदि राजभवन घेराव होता है तो यह आपकी जिम्मेदारी नहीं है।”

उन्होंने लिखा था, “अगर आप और आपका गृह मंत्रालय राज्यपाल की रक्षा नहीं कर सकता तो राज्य में कानून-व्यवस्था का क्या होगा? राज्यपाल की सुरक्षा के लिए किस एजेंसी से संपर्क किया जाना चाहिए? मैंने कभी किसी सीएम का ऐसा बयान नहीं सुना। क्या यह एक गलत प्रवृत्ति की शुरुआत नहीं है, जहाँ विधायक राजभवन में विरोध-प्रदर्शन करते हैं?”

राज्यपाल सचिवालय ने बताया था कि राज्य सरकार के जरिए 23 जुलाई की रात को विधानसभा के सत्र को काफी कम नोटिस के साथ बुलाए जाने की पत्रावली पेश की गई। पत्रावली का एनालिसिस किया गया और कानून विशेषज्ञों से परामर्श लिया गया। इस संबंध में जो दस्तावेज दिए गए हैं उसमें न तो सत्र बुलाने की तारीख का उल्लेख है और न इस संबंध में कैबिनेट की मॅंजूरी मिलने का जिक्र।

उल्लेखनीय है कि राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट और गहलोत के बीच मतभेद सामने आने के बाद कॉन्ग्रेस सरकार पर संकट मॅंडरा रहा। पायलट को उपमुख्यमंत्री के साथ ही 14 जुलाई को पार्टी की राज्य इकाई के प्रमुख के रूप में भी रूप में हटा दिया गया था। इसके बाद विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने पायलट और 18 अन्य विधायकों को अयोग्यता का नोटिस भेजा था। इस पर कार्रवाई पर हाई कोर्ट ने रोक लगा रखी है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

खीर भवानी माता मंदिर: शुभ-अशुभ से पहले बदल जाता है कुंड के जल का रंग, अनुच्छेद-370 पर दिया था खुशहाली का संकेत

हनुमान जी लंका से माता खीर भवानी की प्रतिमा को ले आए और उन्हें जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर से 14 किमी दूर तुलमुल गाँव में स्थापित कर दिया।

‘देश का कानून सर्वोपरि, आपका नियम नहीं’ – शशि थरूर की अध्यक्षता वाली संसदीय समिति ने ट्विटर को सुनाई दो टूक

केंद्र सरकार के नए आईटी नियमों को लेकर सरकार और ट्विटर में जारी तनाव के बीच सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को संसदीय समिति ने...

‘ताबीज के कारण गर्भ में हुई बच्चे की मौत, इसी कारण गुस्से में बुजुर्ग को पीटा’ – UP पुलिस के सामने आरोपित ने कबूला

इस मामले में गाजियाबाद पुलिस ने 4 और आरोपितों को गिरफ्तार किया। इन आरोपितों के नाम हिमांशु, अनस, शावेज और बाबू हैं।

आंध्र प्रदेश: टीपू सुल्तान की प्रतिमा लगा रहे जगन रेड्डी के MLA और मुस्लिम, विरोध करने पर BJP नेताओं की गिरफ्तारी

आंध्र प्रदेश के प्रोद्दुतुर में इस्लामिक शासक टीपू सुल्तान की प्रतिमा लगाने का विरोध करने पर भाजपा नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया।

विकिपीडिया पर 3 साल तक दौड़ती रही एक ऐसी ट्रेन जो थी ही नहीं, लाहौर यूनिवर्सिटी के शोध पत्र में भी हुआ कॉपी-पेस्ट

खुद को 'विश्वसनीय' बताने वाले विकिपीडिया पर मौजूद एक काल्पनिक ट्रेन का विवरण अकादमिक लेखों तक का हिस्सा बन गया।

उद्घाटन की लिस्ट जारी, कौन करेगा, क्या-क्या करेगा… सब क्लियर: मुख्यमंत्री-विधायक सबकी बल्ले-बल्ले

"जबसे कोरोना आया है, तब से नए काम हो नहीं रहे हैं। किसी पोस्टर पर अपना चेहरा देखे आठ महीने हो गए। उद्घाटनों की संख्या ड्रास्टिकली गिर गई है।"

प्रचलित ख़बरें

70 साल का मौलाना, नाम: मुफ्ती अजीजुर रहमान; मदरसे के बच्चे से सेक्स: Video वायरल होने पर केस

पीड़ित छात्र का कहना है कि परीक्षा में पास करने के नाम पर तीन साल से हर जुम्मे को मुफ्ती उसके साथ सेक्स कर रहा था।

BJP विरोध पर ₹100 करोड़, सरकार बनी तो आप होंगे CM: कॉन्ग्रेस-AAP का ऑफर महंत परमहंस दास ने खोला

राम मंदिर में अड़ंगा डालने की कोशिशों के बीच तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने एक बड़ा खुलासा किया है।

‘रेप और हत्या करती है भारतीय सेना, भारत ने जबरन कब्जाया कश्मीर’: TISS की थीसिस में आतंकियों को बताया ‘स्वतंत्रता सेनानी’

राजा हरि सिंह को निरंकुश बताते हुए अनन्या कुंडू ने पाकिस्तान की मदद से जम्मू कश्मीर को भारत से अलग करने की कोशिश करने वालों को 'स्वतंत्रता सेनानी' बताया है। इस थीसिस की नजर में भारत की सेना 'Patriarchal' है।

‘…इस्तमाल नहीं करो तो जंग लग जाता है’ – रात बिताने, साथ सोने से मना करने पर फिल्ममेकर ने नीना गुप्ता को कहा था

ऑटोबायोग्राफी में नीना गुप्ता ने उस घटना का जिक्र भी किया है, जब उन्हें होटल के कमरे में बुलाया और रात बिताने के लिए पूछा।

वामपंथी नेता, अभिनेता, पुलिस… कुल 14: साउथ की हिरोइन ने खोल दिए यौन शोषण करने वालों के नाम

मलयालम फिल्मों की एक्ट्रेस रेवती संपत ने एक फेसबुक पोस्ट में 14 लोगों के नाम उजागर कर कहा है कि इन सबने उनका यौन शोषण किया है।

मोटरसाइकल बनवाने गया था रोहित, सलाम-सद्दाम ने क्लच वॉयर से गला घोंट मार डाला: गैराज में दफन कर ऊपर हैंडपंप लगाया

रोहित ने सद्दाम व सलाम को बताया था कि उसके खाते में बड़ी रकम है। इतना सुनकर आरोपित उधार माँगने लगे, रोहित टालता रहा। इससे खफा होकर...
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
104,821FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe