Sunday, July 21, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीय'एक सूअर गया, अगले को देखो अब... सबको कुत्ते की मौत मरना है': हिंदूवादी...

‘एक सूअर गया, अगले को देखो अब… सबको कुत्ते की मौत मरना है’: हिंदूवादी नेता की हत्या पर Pak में बैठ खालिस्तानी ने मनाया जश्न, हत्यारों को बताया- भाई

सोशल मीडिया पर गोपाल चावला नाम के एक खालिस्तानी की वीडियो सामने आई है। इस वीडियो में वो उन हत्यारों की तारीफ करता नहीं थक रहा जिन्होंने सुधीर सूरी को अमृतसर में गोली मारी।

पंजाब में हिंदूवादी नेता को मारी गई गोली के बाद कनाडा से लेकर पाकिस्तान में बैठे खालिस्तानी आतंकी फूले नहीं समा रहे। सोशल मीडिया पर गोपाल चावला नाम के एक खालिस्तानी की वीडियो सामने आई है। इस वीडियो में वो उन हत्यारों की तारीफ करता नहीं थक रहा जिन्होंने सुधीर सूरी को अमृतसर में गोली मारी।

वीडियो में गोपाल चावला कहता है, “पूरी सिख कौम को, पूरी मुसलमान कौम, हर कौम को, जो आजादी चाहता है, सुकून चाहता है- उन सबको बहुत बहुत बधाई। मैं उसे सूरी नहीं कहूँगा, सूअर कहूँगा। जिन नौजवानों ने उसे गोली मारी है, मैं सद के जाऊँ अपने उस भाई पर। मैं सबको मुबारकबाद दूँगा। एक सूअर चला गया अब अगले सूअर को देखो। इन सुअरों को जाना ही जाना है। निशांत शर्मा को भी जाना है। अमित अरोड़ा को भी जाना है। बाकी लोगों को भी इस तरह कुत्ते की मौत मरना है जैसे सूरी मरा। जिन शेरों ने उसे मारा मेरी जान उनके लिए हाजिर है।”

उल्लेखनीय है कि एक ओर जहाँ सुधीर सूरी की हत्या के बाद पाकिस्तान में बैठा खालिस्तानी जश्न मना रहा है। वहीं दूसरी ओर पूरी हत्या की जिम्मेदारी कनाडा में बैठे फरार आतंकी लखबीर सिंह लांडा ने ली है।कथिततौर पर लखबीर सिंह लांडा ने लांडा हरिके नामक फेसबुक अकाउंट से एक पोस्ट कर हत्या की जिम्मेदारी ली है। इस पोस्ट में लांडा ने कहा है कि सुधीर सूरी का कत्ल उसके ‘भाइयों’ ने किया है। यही नहीं, लांडा ने लिखा कि ‘किसी भी धर्म के खिलाफ बोलने वालों’ का हाल भी ऐसा ही होगा।

उसने लिखा, “उनकी बारी भी आएगी, सिक्योरिटी लेकर उन्हें यह नहीं सोचना चाहिए कि वे बच जाएँगे।” उसने आगे लिखा कि जो भी उनके साथ खड़े हैं वह मरते दम तक उनका साथ निभाएँगे और अभी तो सिर्फ शुरूआत हुई है, हक लेना अभी बाकी है।

बता दें कि सुधीर सूरी को कल अमृतसर में दिनदहाड़े गोली मारी गई थी। दो लड़कों ने बाइक पर आकर उनपर उस समय हमला किया था जब वो मंदिर के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे। पुलिस ने बताया था कि कैसे खालिस्तानी लंबे समय से उनकी मौत की साजिश रच रहे थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आरक्षण के खिलाफ बांग्लादेश में धधकी आग में 115 की मौत, प्रदर्शनकारियों को देखते ही गोली मारने के आदेश: वहाँ फँसे भारतीयों को वापस...

बांग्लादेश में उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के भी आदेश दिए गए हैं। वहाँ हिंसा में अब तक 115 लोगों की जान जा चुकी है और 1500+ घायल हैं।

काशी विश्वनाथ मंदिर और महाकालेश्वर मंदिर परिसर के दुकानदारों को लगाना होगा नेम प्लेट: बिहार के बोधगया की दुकानों में खुद ही लगाया बोर्ड,...

उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश के महाकालेश्वर मंदिर परिसर में स्थित दुकानदारों को अपना नेम प्लेट लगाने का आदेश दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -