Wednesday, July 17, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयबॉडीगार्ड के साथ सेक्स, दुबई के किंग ने अपनी सबसे छोटी बीवी को दिया...

बॉडीगार्ड के साथ सेक्स, दुबई के किंग ने अपनी सबसे छोटी बीवी को दिया तलाक: 5500 करोड़ रुपए में सेटलमेंट

बताया जा रहा है कि शेख ने अपने दो बच्चों राजकुमारी लतीफा और राजकुमारी शमसा के अपहरण की योजना बनाई थी और उन्हें दुबई में रहने के लिए मजबूर किया था। लतीफा ने अपने अब्बा पर आरोप लगाया था कि उन्होंने उन्हें बंधक बना लिया था।

दुबई के किंग शेख मोहम्मद बिन राशिद अल-मकतूम (Sheikh Mohammed bin Rashid Al-Maktoum) और उनकी छठी एवं सबसे छोटी बेगम राजकुमारी बिंत अल हुसैन (Princess Haya Bint Al Hussein) के सबसे महँगे तलाक के चर्चे दुनिया भर में हो रहे हैं। ब्रिटेन की अदालत ने दुबई के किंग शेख मोहम्मद बिन राशिद अल-मकतूम को उनकी बेगम राजकुमारी हया और बच्चों को लगभग 550 मिलियन पाउंड (लगभग 730 मिलियन डॉलर) यानी 5,500 करोड़ रुपए को देने का आदेश दिया है।

न्यायाधीश फिलिप मूर (Philip Moor) ने कहा कि किंग को यह रकम डिवोर्स सेटलमेंट और बच्चों के सुरक्षित भविष्य के लिए देनी होगी। ब्रिटेन के ​इतिहास में यह सेटलमेंट सबसे बड़े सेटलमेंट में से एक है। राजकुमारी हया जॉर्डन के पूर्व बादशाह हुसैन की बेटी और जॉर्डन के राजा अब्दुल्ला द्वितीय की सौतेली बहन हैं।

फिलिप मूर ने अपने फैसले में यह भी कहा कि राजकुमारी हया और उनके बच्चों को आतंकवाद या फिर अपहरण जैसे खतरों से बचाने व सुरक्षा देने के लिए खास इंतजाम होने चाहिए। ब्रिटेन में उन्हें खास सुरक्षा की जरूरत होगी। रिपोर्टों के अनुसार, अदालत ने शेख मोहम्मद बिन राशिद अल-मकतूम को राजकुमारी हया को बैंक गारंटी के साथ तीन महीने के अंदर 251.5 मिलियन पाउंड की एकमुश्त राशि का भुगतान करने का आदेश दिया है। इसके अलावा बच्चों के भरण-पोषण और सुरक्षा को कवर करने के लिए 290 मिलियन पाउंड की राशि देने का आदेश दिया है।

इसके अलावा ब्रिटेन की कोर्ट ने 72 वर्षीय शेख को अपनी 47 वर्षीय बीवी और उसके वकील के फोन को हैक करने के लिए पेगासस जैसे स्पाईवेयर का इस्तेमाल करने का दोषी पाया है। इस सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल सिर्फ सरकारें ही करती हैं। जज ने कहा था कि शेख ने अपनी बीवी राजकुमारी हया को इंग्लैंड जाने से पहले और बाद में परेशान किया था और उसे धमकाया था। कोर्ट के फैसले में फिलिप मूर ने कहा था कि राजकुमारी हया और उनके बच्चों को मुख्य खतरा संयुक्त अरब अमीरात के प्रधानमंत्री शेख मोहम्मद बिन राशिद अल-मकतूम से है।

बताया जा रहा है कि शेख ने अपने दो बच्चों राजकुमारी लतीफा और राजकुमारी शमसा के अपहरण की योजना बनाई थी और उन्हें दुबई में रहने के लिए मजबूर किया था। लतीफा ने अपने अब्बा पर आरोप लगाया था कि उन्होंने उन्हें बंधक बना लिया था।

बता दें कि राजकुमारी हया अब अपने दो बच्चों के साथ लंदन (London) के पश्चिम में स्थित केंसिंग्टन पैलेस (Kensington Palace) के पास एक घर में रहती हैं, जो उन्हें जॉर्डन के दिवंगत राजा हुसैन से विरासत में मिला है। राजकुमारी हया ने वर्ष 2004 में शेख से निकाह किया था। यह उनका दूसरा निकाह था। अदालत के फैसले के अनुसार, शेख ने राजकुमारी हया को वर्ष 2019 में शरिया कानून (Sharia law) के तहत उनको तलाक दे दिया था।

तलाक की वह राजकुमारी हयाक का अवैध संबंध था। हया का अपने बॉडीगार्ड के साथ अवैध संबंध थे। उन्होंने बॉडीगार्ड का मुँह बंद रखने के लिए अपनी 10 वर्षीय बेटी के खाते से 7.5 मिलियन डॉलर रुपये उस बॉडीगार्ड (अंगरक्षक) को दिए थे। शेख मोहम्मद बिन राशिद अल-मकतूम ने अपनी पत्नी राजकुमारी हया के अवैध संबंध के बारे में पता चलने पर उन्हें तलाक दे दिया, जिस कारण मामला कोर्ट में गया। कोर्ट ने कहा कि राजकुमारी और उनके बच्चों की शेख से सुरक्षा जरूरी है क्योंकि, शेख बेवफाई को अपराध मानते हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -