Saturday, July 20, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयअमेरिका में रहने वाले भारतीयों को तोहफा, दिवाली मनाने के लिए घोषित हो सकता...

अमेरिका में रहने वाले भारतीयों को तोहफा, दिवाली मनाने के लिए घोषित हो सकता है अवकाश: 3 नवंबर को पेश होगा विधेयक 

अगर इस विधेयक को मंजूरी मिल जाती है, तो अमेरिका में रहने वाले भारतीयों को दिवाली पर छुट्टी मनाने का मौका मिलेगा और भारतीय अमेरिकियों की सांस्कृतिक विरासत का भी सम्मान होगा। साथ ही अमेरिका के कई दफ्तरों में दिवाली वाले दिन अवकाश रहेगा।

अमेरिका में रहने वाले भारतीयों को जल्द ही दिवाली उत्सव मनाने के लिए अवकाश मिल सकता है। खबर है कि अमेरिका में दिवाली को प्रशासनिक अवकाश घोषित किया जा सकता है, यह घोषणा भारतीयों के लिए किसी तोहफे से कम नहीं है।

अमेरिकी कॉन्ग्रेस की सदस्य कैरोलिन मैलोनी (Carolyn Maloney) की ओर से बुधवार (3 नवंबर 2021) को अमेरिकी कॉन्ग्रेस में एक विधेयक पेश किया जाएगा, जिसका उद्देश्य संयुक्त राज्य अमेरिका में दिवाली को संघीय अवकाश के रूप में स्थापित करना है। बुधवार को पेश होने वाले इस विधेयक के समर्थन में डेमोक्रेट कॉन्ग्रेस के सदस्यों के साथ इंडिया कॉकस, कॉन्ग्रेस के सदस्य रो खन्ना, राजा कृष्णमूर्ति व अन्य अधिवक्ता भी शामिल होंगे। 

भारतीय अमेरिकी समुदाय के सदस्यों का प्रतिनिधित्व करते हुए इंडियास्पोरा के कार्यकारी निदेशक संजीव जोशीपुरा भी उन कॉन्ग्रेस सदस्य में शामिल होंगे, जो भारतीय प्रवासियों के लंबे समय से समर्थक रहे हैं।

बताया जा रहा है कि अगर इस विधेयक को मंजूरी मिल जाती है, तो अमेरिका में रहने वाले भारतीयों को दिवाली पर छुट्टी मनाने का मौका मिलेगा और भारतीय अमेरिकियों की सांस्कृतिक विरासत का भी सम्मान होगा। साथ ही अमेरिका के कई दफ्तरों में दिवाली वाले दिन अवकाश रहेगा।

 

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

घुमंतू (खानाबदोश) पूजा खेडकर: जिसका बाप IAS, वो गुलगुलिया की तरह जगह-जगह भटक बिताई जिंदगी… इसी आधार पर बन गई MBBS डॉक्टर

पूजा खेडकर ने MBBS में नाम लिखवाने से लेकर IAS की नौकरी पास करने तक में नाम, उम्र, दिव्यांगता, अटेंप्ट और आय प्रमाण पत्र में फर्जीवाड़ा किया।

फैक्ट चेक’ की आड़ लेकर भारत में ‘प्रोपेगेंडा’ फैलाने की तैयारी कर रहा अमेरिका, 1.67 करोड़ रुपए ‘फूँक’ तैयार कर रहा ‘सोशल मीडिया इन्फ्लूएंसर्स’...

अमेरिका कथित 'फैक्ट चेकर्स' की फौज को तैयार करने की योजना को चतुराई से 'डिजिटल लिटरेसी' का नाम दे रहा है, लेकिन इनका काम होगा भारत में अमेरिकी नरेटिव को बढ़ावा देना।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -