Monday, July 26, 2021
HomeराजनीतिPM मोदी की रैली में मिथुन चक्रवर्ती का भी होगा संबोधन, शुभेंदु ने कहा-...

PM मोदी की रैली में मिथुन चक्रवर्ती का भी होगा संबोधन, शुभेंदु ने कहा- TMC आई तो बंगाल बन जाएगा कश्मीर

कैलाश विजयवर्गीय ने शनिवार देर रात कोलकाता के बेलगाचिया में मिथुन चकवर्ती से मुलाकात की। विजयवर्गीय ने कहा कि उनकी राष्ट्र भक्ति और गरीबों के प्रति प्रेम की कहानियाँ सुन कर मन गदगद हो गया।

नंदीग्राम से भाजपा द्वारा शुभेंदु अधिकारी को चुनावी मैदान में उतारने के बाद पश्चिम बंगाल में सियासी सरगर्मी बढ़ गई है, क्योंकि वहाँ उनका सीधा मुकाबला मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से होगा। रविवार (मार्च 7, 2021) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की आगामी विधानसभा चुनाव के आलोक में पहली रैली होगी। कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड में रैली होनी है। वरिष्ठ अभिनेता मिथुन चक्रवर्ती ने पुष्टि की है कि वो इस रैली में उपस्थित रहेंगे।

मीडिया में ये भी अटकलें हैं कि BCCI अध्यक्ष सौरभ गांगुली भी भाजपा में शामिल हो सकते हैं। 356 हिंदी और बंगाली फिल्मों में काम कर चुके मिथन चक्रवर्ती बंगाल में बड़ा प्रभाव रखते हैं। 1989 में एक ऐसा समय आया था, जब एक ही साल में बतौर लीड अभिनेता उनकी 19 फ़िल्में आई थीं, जो आज भी एक रिकॉर्ड है। वो TMC से राज्यसभा सांसद भी रहे हैं। ऐसी में भाजपा को उनके पार्टी में शामिल होने का फायदा मिल सकता है।

पश्चिम बंगाल भाजपा के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने भी शनिवार देर रात कोलकाता के बेलगाचिया में उनसे मुलाकात की। विजयवर्गीय ने कहा कि उनकी राष्ट्र भक्ति और गरीबों के प्रति प्रेम की कहानियाँ सुन कर मन गदगद हो गया। मिथुन चक्रवर्ती पीएम मोदी की रैली में उनसे पहले एक भाषण भी देंगे। लेकिन उनके चुनाव लड़ने को लेकर कुछ साफ़ नहीं है। पिछले कुछ महीनों में उनका स्वास्थ्य भी ठीक नहीं था।

उधर शुभेंदु अधिकारी ने भाजपा के पितृ-पुरुष श्यामा प्रसाद मुखर्जी को याद करते हुए कहा कि उनके योगदान के बिना हमारा भारत एक इस्लामी मुल्क बन गया होता। उन्होंने कहा कि अगर मुखर्जी नहीं होते तो हम बांग्लादेश में रह रहे होते। बेहला के मुचिपारा में आयोजित रैली में उन्होंने ये बातें कहीं। उन्होंने लोगों को चेताया कि अगर TMC तीसरी बार सत्ता में आ जाती है तो वो बंगाल को कश्मीर बना देगी।

इसी दौरान ममता बनर्जी ने भी आज सिलीगुड़ी में मोर्चा सँभाला है। वे रसोई गैस के बढ़े हुए दामों के खिलाफ यहाँ पैदल मार्च निकालने वाली हैं। ममता बनर्जी ने अब तक कई पदयात्राएँ की हैं। TMC ने 291 और भाजपा ने 57 सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों की घोषणा कर दी है। कॉन्ग्रेस और वामपंथियों ने मौलाना अब्बास सिद्दीकी की ISF के साथ गठबंधन किया है। मौलाना के फुरफुरा शरीफ के लिए तृणमूल सरकार ने भी खजाना खोला है।

उधर तृणमूल कॉन्ग्रेस के विधायक सिद्दीकुल्ला चौधरी ने कहा, “उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने यहाँ आकर कहा था कि अगर भाजपा सत्ता में आती है, तो वह राज्य में गोहत्या को समाप्त कर देगी।” उन्होंने आरोप लगाया, “पिछले 1000-1200 वर्षों से बंगाल में गोहत्या हो रही है। हर कोई गोमांस खाता है, जिसमें मुसलमान और अन्य शामिल हैं। गोमांस को वोट से क्या मिला? यह कोशिश हिंदू मानसिकता को आगे बढ़ाने की है।” 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

यूपी के बेस्ट सीएम उम्मीदवार हैं योगी आदित्यनाथ, प्रियंका गाँधी सबसे फिसड्डी, 62% ने कहा ब्राह्मण भाजपा के साथ: सर्वे

इस सर्वे में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को सर्वश्रेष्ठ मुख्यमंत्री बताया गया है, जबकि कॉन्ग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी प्रियंका गाँधी सबसे निचले पायदान पर रहीं।

असम को पसंद आया विकास का रास्ता, आंदोलन, आतंकवाद और हथियार को छोड़ आगे बढ़ा राज्य: गृहमंत्री अमित शाह

असम में दूसरी बार भाजपा की सरकार बनने का मतलब है कि असम ने आंदोलन, आतंकवाद और हथियार तीनों को हमेशा के लिए छोड़कर विकास के रास्ते पर जाना तय किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,226FollowersFollow
393,000SubscribersSubscribe