Sunday, July 14, 2024
Homeसोशल ट्रेंडमोहम्मद शमी ने कहा- हैप्पी दीवाली, तड़प गए पाकिस्तान के कट्टरपंथी: बोले- ह₹मी सजदा...

मोहम्मद शमी ने कहा- हैप्पी दीवाली, तड़प गए पाकिस्तान के कट्टरपंथी: बोले- ह₹मी सजदा कर लेता

दीवाली के मौके पर मोहम्मद शमी ने सोशल मीडिया पर अपनी एक फोटो डाली और उसपर हैप्पी दीवाली लिखा। यह देख कट्टरपंथी उनसे पूछने लगे तुम मुसलमान ही हो न।

भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद शमी ने दीवाली के मौके पर आज एक तस्वीर पोस्ट की। तस्वीर में वह कुर्ता पजामा पहने खड़े दिखाई दिए और साथ में लिखा है- हैप्पी दीवाली। पीछे बैकग्राउंड भी दीवाली वाला है। अब शमी के पोस्ट पर जहाँ भारतीय यूजर्स उन्हें दीवाली की शुभकामनाएँ देने में जुटे तो वहीं पाकिस्तानी कट्टरपंथी उन्हें इस तरह देख बिदक गए।

कई कट्टरपंथियों ने उन्हें उलटा सीधा बोला। महरीन नाम की यूजर उनसे पूछने लगी- तुम मुस्लिम ही हो न? इसके बाद उसी महरीन ने कहा- ये सिर्फ नाम के मुस्लिम हैं। फॉलो तो ये भारतीय धर्म को ही करते हैं।

हुजैफाह भट्टी ने कहा- “इन्हें उतनी आजादी नहीं है जितनी हमें पाकिस्तान में है।”

एक यूजर्स ने सलमान खान के रोने वाली फोटो लगाकर लिखा- “शमी बिलकुल इसी तरह भारत के आगे अपनी लॉयलटी को साबित करने में लगा हुआ है।”

मियाँ लरैब अहमद ने भी कहा- “एक और दिन जब शमी अपनी ईमानदारी भारत के आगे साबित करने में लगा है।”

आसिफ गफूर ने लिखा- “दीवाली विश कर देता हूँ भारत के साथ लॉयल लगूँगा।”

शेरलॉक ओम्स नाम की आईडी से कहा- “भाई सजदा तो कर नहीं पाए तुम, दीवाली अच्छे से मना लो।”

उमर लालामूसा ने कहा- ह₹मी सजदा कर लेना था। सेमी में काम आता लेकिन नहीं।

बता दें कि मोहम्मद शमी इन दिन वैसे तो वर्ल्ड कप में अपने प्रदर्शन के कारण चर्चा में हैं लेकिन आम दिनों में वह अक्सर इन कट्टरपंथियों के निशाने की वजह से खबरों में रहते हैं। वो चाहे कोई भी त्योहार की शुभकामना दे दें या उस दिन अपने या परिवार की तस्वीर डाल दें। ये लोग उन्हें कोसने से पीछे नहीं हटते। पिछले साल शमी ने जब दशहरा की बधाई दी थी तब भी इस्लामी कट्टरपंथियों को उनकी यह बात रास नहीं आई थी और फिर उनको क्रिसमस मनाता देख भी कई इस्लामी नाराज हुए थे। उनकी बेटी को सरस्वती पूजा करते देख को इन्हीं लोगों ने कहा था तुम जहन्नुम में जाओगे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जिसने चलाई डोनाल्ड ट्रंप पर गोली, उसने दिया था बाइडेन की पार्टी को चंदा: FBI लगा रही उसके मकसद का पता

पेंसिल्वेनिया के मतदाता डेटाबेस के मुताबिक, डोनाल्ड ट्रंप पर हमला करने वाला थॉमस मैथ्यू क्रूक्स रिपब्लिकन के मतदाता के रूप में पंजीकृत था।

डोनाल्ड ट्रंप को मारी गई गोली, अमेरिकी मीडिया बता रहा ‘भीड़ की आवाज’ और ‘पॉपिंग साउंड’: फेसबुक पर भी वामपंथी षड्यंत्र हावी

डोनाल्ड ट्रंप की हत्या के प्रयास की पूरी दुनिया के नेताओं ने निंदा की, तो अमेरिकी मीडिया ने इस घटना को कमतर आँकने की कोशिश की।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -