Saturday, July 13, 2024
Homeरिपोर्टअंतरराष्ट्रीयइजरायल का समर्थन करने पर AMU में पढ़ चुके शरजील उस्मानी ने हिन्दुओं को...

इजरायल का समर्थन करने पर AMU में पढ़ चुके शरजील उस्मानी ने हिन्दुओं को कहा भला-बुरा, भगवान राम पर कर चुका है आपत्तिजनक टिप्पणी

"यह हैरानी की बात नहीं है कि भारतीय हिंदू दक्षिणपंथी इजराइल की जय-जयकार कर रहे हैं क्योंकि उनका पूरा वजूद इस बात के विरोध से परिभाषित होता है कि भारत में मुसलमान किसका समर्थन करते हैं।"

हिंदू धर्म और भारत के खिलाफ हमेशा जहर उगलने वाला अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी का पूर्व छात्र शरजील उस्मानी हमास और इजराइल युद्ध पर भड़का हुआ है। उसने अपने एक पोस्ट में भारत पर अनर्गल आरोप लगाए हैं। उस्मानी ने कहा है कि भारत के मुस्लिम जिसका समर्थन करते हैं दक्षिणपंथी उसके विरोध में खड़े दिखते हैं।

दरअसल, फिलिस्तनी आतंकी समूह हमास ने आज तड़के गाजा पट्टी से इजराइल पर बड़ा हमला किया। इसके बाद इन आतंकियों ने इजराइल में घुसकर कत्लेआम शुरू कर दिया। इसके जवाब में प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू की सरकार ने ऑपरेशन ‘आयरन स्वॉर्ड्स’ शुरू किया है। उन्होंने कहा देश युद्ध में है और इसके लिए हमास को कीमत चुकानी पड़ेगी।

वहीं अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र नेता शरजील उस्मानी भारत के खिलाफ जहर उगलते रहते हैं। उन पर साल 2021 में भगवान राम पर आपत्तिजनक ट्वीट करने के आरोप में महाराष्ट्र के औरंगाबाद में केस दर्ज किया गया था। तब उसके खिलाफ हिंदू जागरण मंच से जुड़े आंभोरे ने महाराष्ट्र पुलिस में शिकायत दर्ज कराइ थी। शरजील ने ट्वीट कर कहा था, “जय श्रीराम बोलने वाले सभी हिंदू आतंकवादी हैं।”

यही नहीं उस्मानी के खिलाफ यूपी में भी एफआईआर दर्ज की गई थी। महाराष्ट्र के पुणे में एल्गार परिषद के कार्यक्रम में भड़काऊ भाषण देने वाले उस्मानी के ख़िलाफ़ लखनऊ के हजरतगंज पुलिस थाने में मुकदमा दर्ज हुआ था। उनके ख़िलाफ़ लखनऊ के अनुराग सिंह ने मामला दर्ज करवाया था।

उन्होंने सोशल मीडिया एक्स पर पोस्ट किया है, “यह हैरानी की बात नहीं है कि भारतीय हिंदू दक्षिणपंथी इजराइल की जय-जयकार कर रहे हैं क्योंकि उनका पूरा वजूद इस बात के विरोध से परिभाषित होता है कि भारत में मुसलमान किसका समर्थन करते हैं। फिलिस्तीन के साथ खड़े हैं।”

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इजराइल पर हुए हमास के आतंकवादी हमले को लेकर दुःख जाहिर किया है और इस मुश्किल वक्त में इज़राइल के साथ खड़े होने की प्रतिबद्धता जताई है। PM मोदी ने ट्वीट कर कहा, “इजराइल में आतंकवादी हमलों की खबर से गहरा सदमा लगा है। हमारी संवेदनाएँ और प्रार्थनाएँ निर्दोष पीड़ितों और उनके परिवारों के साथ हैं। हम इस मुश्किल घड़ी में इज़राइल के साथ एकजुटता से खड़े हैं।”

पीएम मोदी के इस पोस्ट को भारत में इज़राइल के राजदूत नाओर गिलोन ने रीट्वीट किया है। उन्होंने अपने एक्स हैंडल पर लिखा, “धन्यवाद पीएम मोदी, हम भारत के नैतिक समर्थन की बहुत सराहना करते हैं। इजराइल की जीत होगी।”

वही शरजील उस्मानी के ट्वीट के समर्थन में भी मुस्लिम उतर आए हैं। इरफान खान नाम के एक्स यूजर ने पोस्ट किया, “अधिकांश संघी भक्तों को इजराइल के पीएम का नाम भी नहीं पता होगा, गूगल कर पता हो तो बात अलग है, लेकिन वे समर्थन करेंगे और हमारे देश में इसका कारण अच्छी तरह से पता है, जब ऐसा ही भारत में होता है मणिपुर की तरह तो मुँह में गोबर चला जाता है।” वहीं एक्स यूजर शाहरुख खान ने पोस्ट किया, “फ़िलिस्तीन अमर रहे।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

महाराष्ट्र विधान परिषद चुनाव में NDA की बड़ी जीत, सभी 9 उम्मीदवार जीते: INDI गठबंधन कर रहा 2 से संतोष, 1 सीट पर करारी...

INDI गठबंधन की तरफ से कॉन्ग्रेस, शिवसेना UBT और PWP पार्टी ने अपना एक-एक उमीदवार उतारा था। इनमें से PWP उम्मीदवार जयंत पाटील को हार झेलनी पड़ी।

नेपाल में गिरी चीन समर्थक प्रचंड सरकार, विश्वास मत हासिल नहीं कर पाए माओवादी: सहयोगी ओली ने हाथ खींचकर दिया तगड़ा झटका

नेपाल संसद के निचले सदन प्रतिनिधि सभा में अविश्वास प्रस्ताव पर हुए मतदान में प्रचंड मात्र 63 वोट जुटा पाए। जिसके बाद सरकार गिर गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -