Tuesday, July 23, 2024
Homeफ़ैक्ट चेकमीडिया फ़ैक्ट चेक'BJP विधायक ने मुस्लिमों को धमकाया - वोट नहीं दोगे तो विकास का काम...

‘BJP विधायक ने मुस्लिमों को धमकाया – वोट नहीं दोगे तो विकास का काम रोक दूँगा’: AltNews वाले जुबैर की फेक न्यूज़ फैक्ट्री से निकला एक और झूठा दावा

मुस्लिम महिला का कहना है, “यह वीडियो भ्रामक है। हिंदू-मुस्लिम जैसी कोई चीज नहीं होती। हम उन्हीं को वोट देंगे, जिन्होंने हमारे क्षेत्र में विकास कार्य किए हैं। किसी को हमारा वोट माँगने का अधिकार नहीं है।"

नोबेल पुरस्कार जीतने का झूठा दावा करने वाले (फर्जी खबरों के लिए) ऑल्ट न्यूज के कथित फैक्ट चेकर मोहम्मद जुबैर (Mohammad Zubair) ने 13 दिसंबर, 2022 को कर्नाटक के भाजपा विधायक प्रीतम गौड़ा का एक वीडियो साझा किया। इसके साथ मोहम्मद जुबैर ने लिखा, “कर्नाटक के हासन से भाजपा विधायक प्रीतम गौड़ा ने मुस्लिमों को धमकी दी है कि अगर वे आने वाले चुनावों में उन्हें वोट नहीं देते हैं तो वे कोई भी विकास कार्य नहीं करेंगे।” ट्वीट का आर्काइव वर्जन यहाँ देखा जा सकता है।

जमानत पर बाहर चल रहे मोहम्मद जुबैर ने सीधे तौर पर भाजपा विधायक पर आरोप लगाया है कि उन्होंने मुस्लिमों को धमकी दी है कि यदि वे आगामी चुनावों में उन्हें वोट नहीं देते हैं, तो वे उनके क्षेत्र में कोई विकास कार्य नहीं करवाएँगे। हालाँकि, पूरा वीडियो देखने वालों को यह स्पष्ट हो जाएगा कि प्रीतम गौड़ा ने जो कहा है, वह जुबैर के दावों से बिल्कुल अलग है।

बीजेपी विधायक ने कहा था, “आप हमें अन्ना कहते हैं, लेकिन हमें वोट नहीं देते। यह किसी को भी नाराज करने जैसा है। आपने जो काम किया है, उसकी मजदूरी नहीं मिलने पर क्या आप नाराज नहीं होंगे? कई विकासात्मक परियोजनाओं को पूरा करने के बाद भी अगर आप ये कहेंगे कि बीजेपी को वोट न दें, तो क्या मैं इससे परेशान नहीं हो जाऊँगा? मैंने आपको हमेशा अपने परिवार की तरह माना है और हमेशा मानूँगा। हालाँकि, हमें (नेता) ऐसा लगता है कि मदद करने का कोई मतलब नहीं है, क्योंकि आप कई विकासात्मक परियोजनाओं को पूरा करने के बाद भी हमारी मदद नहीं करेंगे। अब यह आपकी जिम्मेदारी है कि हमें ऐसा न सोचना पड़े।”

उन्होंने अपनी बात को जारी रखते हुए कहा, “आपलोगों ने मुझे तीन बार धोखा दिया है। अगले छह महीने में चुनाव होने वाले हैं। अगर आप फिर मेरी मदद नहीं करोगे, तो मैं भी वही हो जाऊँगा और आपके किसी काम नहीं आ सकूँगा। अगर आप मेरे घर आओगे तो मैं आपको कॉफी ऑफर करूँगा और वापस भेज दूँगा। पानी, सड़क और नाली का काम मेरा कर्तव्य है, लेकिन मैं आपके निजी काम के लिए वहाँ नहीं रहूँगा।”

प्रीतम गौड़ा के भाषण का पूरा वीडियो यहाँ देखा जा सकता है।

विधायक के वीडियो और उनके भाषण के ट्रांसक्रिप्ट से स्पष्ट है कि उन्होंने यह नहीं कहा कि वे क्षेत्र का विकास कार्य रोक देंगे, बल्कि उन्होंने तो यह कहा है कि वह उनके पर्सनल काम नहीं करेंगे। भाजपा विधायक स्पष्ट रूप से कहते हैं, “पानी, सड़क और नाली का काम किया जाएगा, क्योंकि यह मेरा कर्तव्य है। लेकिन मैं आपके निजी काम के लिए नहीं रहूँगा।”

गौड़ा के भाषण पर इलाके के मुस्लिमों की प्रतिक्रिया

आपको बता दें कि स्थानीय मुस्लिमों ने बीजेपी विधायक के खिलाफ किए गए भ्रामक दावों का खंडन किया।

यह इस बात की पुष्टि करता है कि मोहम्मद जुबैर फर्जी खबरें फैला रहा है। वीडियो में दिख रहे मुस्लिम व्यक्ति ने कहा, “प्रीतम गौड़ा कुछ दिन पहले हमसे मिलने आए थे। उन्होंने गरीब मुस्लिमों के लिए घर बनाने का वादा किया था। उन्होंने न तो हमसे अपने पक्ष में मतदान करने की बात कही और न ही हमें कोई धमकी दी। यह एक झूठा और भ्रामक वीडियो है।”

एक स्थानीय मुस्लिम का एक और वीडियो सामने आया है।

मुस्लिम महिला का कहना है, “यह वीडियो भ्रामक है। हिंदू-मुस्लिम जैसी कोई चीज नहीं होती। हम उन्हीं को वोट देंगे, जिन्होंने हमारे क्षेत्र में विकास कार्य किए हैं। किसी को हमारा वोट माँगने का अधिकार नहीं है। प्रीतम गौड़ा हमारे भाई की तरह हैं, जो कुछ भी मीडिया में चल रहा है, वह भ्रामक है। हम उन लोगों के फैक्ट चेक के लिए तैयार हैं, जो सोशल मीडिया पर पर भ्रामक वीडियो शेयर कर रहे हैं।”

वीडियो के ट्रांसक्रिप्ट और स्थानीय मुस्लिमों ने जो कहा

  1. विधायक प्रीतम गौड़ा ने कभी भी धमकी नहीं दी कि अगर मुस्लिमों ने उन्हें वोट नहीं दिया तो वे उनके क्षेत्र में विकास कार्य रोक देंगे।
  2. उन्होंने कहा कि विकास कार्य उनका कर्तव्य है, लेकिन वह किसी का कोई व्यक्तिगत काम नहीं करेंगे।
  3. स्थानीय मुस्लिम उन्हें अपना भाई मानते हैं।
  4. एक स्थानीय मुस्लिम व्यक्ति ने यह भी दावा किया है कि बीजेपी विधायक ने गरीब मुस्लिमों के लिए घर बनाने का वादा किया है।
  5. मोहम्मद जुबैर फर्जी खबरें फैला रहा है।

दिलचस्प बात यह है कि इस वीडियो को सबसे पहले इमरान खान नाम के एक पत्रकार ने शेयर किया था। उन्होंने लिखा था, “बीजेपी हसन विधायक प्रीतम गौड़ा का एक कथित वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह श्रीनगर के मुस्लिम मतदाताओं को वोट देने की धमकी दे रहे हैं, नहीं तो वह उनका कोई निजी काम नहीं करेंगे।” वह आगे कहते हैं, “वह मुस्लिमों के साथ प्यार से पेश आते हैं, लेकिन उन्होंने उन्हें धोखा दिया है।”

इमरान खान ने इस वीडियो को सही व्याख्या के साथ साझा किया था, जबकि जुबैर ने गौड़ा के खिलाफ फर्जी खबरों को फैलाने के लिए फैक्ट्स के साथ छेड़छाड़ की।

जुबैर के ट्वीट का स्क्रीनशॉट

जुबैर के ट्वीट के स्क्रीनशॉट से स्पष्ट है कि उसने वह वीडियो शेयर किया था, जिसे इमरान खान ने ट्वीट किया था। लेकिन उसने खान की बातों को नजरअंदाज किया और जानबूझकर फर्जी खबरें फैलाईं।

नूपुर शर्मा विवाद: ऑल्ट न्यूज और मोहम्मद ज़ुबैर की भूमिका

गौरतलब है कि इससे पहले भी मोहम्मद जुबैर कई बार फर्जी खबरें फैलाकर नेटिजन्स के निशाने पर आ चुका है। इस साल मई में फैक्ट चेक के नाम पर प्रोपेगेंडा फैलाने वाले ऑल्ट न्यूज के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर ने बीजेपी की पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा का एक ट्विस्टेड स्पीच ट्वीट कर ट्रोल्स को उकसाया था। इसके बाद कई कट्टरपंथियों ने नूपुर शर्मा को सोशल मीडिया पर धमकियाँ दी थी और कुछ ने सिर काटने की बात भी कही थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

गया में विष्णुपद मंदिर, बोधगया महाबोधि मंदिर कॉरिडोर: काशी विश्वनाथ के जैसा बजट, बिहार से लेकर उड़ीसा तक टूरिज्म पर बड़े ऐलान

केंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा, "मैं प्रस्ताव करती हूँ कि बिहार में राजगीर और नालंदा के लिए एक व्यापक विकास पहल की जाएगी। हम ओडिशा में पर्यटन को बढ़ावा देंगे।"

₹3 लाख तक की आय पर 0% टैक्स, स्टैंडर्ड डिडक्शन ₹50000 से ₹75000 हुआ: जानिए करदाताओं के लिए बजट 2024 में क्या-क्या, TDS भरने...

3 लाख रुपए तक की आय पर 0%, 7 लाख तय की आय पर 5%, 10 लाख तक की आय पर 10%, 12 लाख तक की आय पर 15%, 15 लाख तक की आय पर 20% और इससे ऊपर की आय पर 30% टैक्स लगेगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -