Sunday, June 20, 2021
Home फ़ैक्ट चेक राजनीति फ़ैक्ट चेक 'लता मंगेशकर ने 1947 में नेहरू के लिए गाया था ऐ मेरे वतन के...

‘लता मंगेशकर ने 1947 में नेहरू के लिए गाया था ऐ मेरे वतन के लोगों’: विशाल डडलानी ने बताया इतिहास – Fact Check

आम आदमी पार्टी के प्रचारक विशाल डडलानी ने कहा, "ये गाना खुद लता जी ने 73-74 वर्ष पहले 1947 में पंडित नेहरू के लिए गाया था, जब देश आज़ाद हुआ था।" जबकि सच्चाई यह है कि...

संगीतकार और गायक विशाल डडलानी ने दावा किया है कि देश की महान गायिका लता मंगेशकर ने भारत के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के लिए ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ गाना गाया था। उन्होंने ऐसा कह के अपने इतिहास और सामान्य ज्ञान, दोनों की समझ प्रदर्शित कर दी है। जबकि विशाल डडलानी अपने जोड़ीदार शेखर रवजियानी के साथ मिल कर 5 दर्जन से भी अधिक फिल्मों में संगीत तैयार कर चुके हैं।

दरअसल, ये मामला सोनी टीवी पर आ रहे गायिकी के रियलिटी शो ‘इंडियन आइडल’ के 12वें सीजन का है। शो में एक प्रतिभागी ने ‘ऐ मेरे वतन के लोगों’ गाना गाया था। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए विशाल डडलानी ने कहा, “ये गाना खुद लता जी ने 73-74 वर्ष पहले 1947 में पंडित नेहरू के लिए गाया था, जब देश आज़ाद हुआ था। अगर दुनिया में कोई सर्वकालीन सर्वश्रेष्ठ गाना है तो ये है। लता जी की तरह तो ये गाना कोई नहीं गा सकता, लेकिन आपको इस कोशिश के लिए बधाई।”

इसके बाद सोशल मीडिया पर उनकी जम कर किरकिरी हुई। आम आदमी पार्टी (AAP) के लिए कई चुनावों में प्रचार कर चुके विशाल डडलानी इससे पहले भी कई बार विवादों में रह चुके हैं। ‘इंडियन आइडल’ के मौजूदा सेशन में जहाँ आदित्य नारायण होस्ट की भूमिका निभा रहे हैं, वहीं विशाल डडलानी के अलावा संगीतकार हिमेश रेशमिया और गायिका नेहा कक्कर भी बतौर जज इसमें हिस्सा ले रही हैं।

अब आपको बताते हैं कि विशाल डडलानी के दावों में कितना दम है। दरअसल, ये गाना न तो 1947 में गाया गया था और न ही पंडित नेहरू के लिए। दरअसल, कवि प्रदीप ने ये गाना उन बलिदानी सैनिकों की याद में लिखा था, जिन्होंने 1962 के भारत-चीन युद्ध के दौरान सीमा पर अपनी जान न्यौछावर कर दी थी। इस गाने को 1963 में लिखा गया था और युद्ध के मात्र 2 महीनों बाद गणतंत्र दिवस के दौरान इसे गाया गया था।

इस तरह से लता मंगेशकर ने ये गाना जनवरी 26, 1963 को पहली बार तत्कालीन राष्ट्रपति सर्वपल्ली राधाकृष्णन और पीएम नेहरू की मौजूदगी में एक बड़े जनसमूह के सामने गाया था। उनके इस लाइव परफॉरमेंस को इतना उम्दा माना जाता है कि कोई रिकॉर्डिंग भी इसकी शायद ही बराबरी कर पाए। इस तरह ये गाना किसी खास राजनेता के लिए नहीं, बल्कि देश की सेना के लिए था। इस गाने से जो भी रुपए मिले, उसे पूरी टीम ने बलिदानी सैनिकों के परिवारों को समर्पित कर दिया था।

विशाल डडलानी सुप्रीम कोर्ट के पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई पर भी आपत्तिजनक टिप्पणी कर चुके हैं। जब CAA के खिलाफ विरोध प्रदर्शन चल रहा था, तब विशाल डडलानी ने प्याज के बढ़ते दाम और हैदराबाद में प्रीति रेड्डी के गैंगरेप व हत्या के आरोपितों के एनकाउंटर को एक ही चश्मे से देखते हुए कहा था कि यह सब ध्यान भटकाने के लिए किया जा रहा है। इसके कुछ ही दिनों पहले तक डडलानी बलात्कारियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई न करने का आरोप लगा कर मोदी सरकार पर निशाना साध रहे थे।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘नाइट चार्ज पर भेजो रं$* सा*$ को’: दरगाह परिसर में ‘बेपर्दा’ डांस करना महिलाओं को पड़ा महंगा, कट्टरपंथियों ने दी गाली

यूजर ने मामले में कट्टरपंथियों पर निशाना साधते हुए पूछा है कि ये लोग दरगाह में डांस भी बर्दाश्त नहीं कर सकते और चाहते हैं कि मंदिर में किसिंग सीन हो।

इन 6 तरीकों से उइगर मुस्लिमों का शोषण कर रहा है चीन, वहीं की एक महिला ने सुनाई खौफनाक दास्ताँ

रिपोर्ट में कहा गया है कि चीन योजनाबद्ध तरीके से उइगर मुसलमानों की संख्‍या सीमित करने में जुटा है और इसका असर अगले 20 वर्षों में साफ देखने को मिलेगा।

शशि थरूर की अध्यक्षता वाली संसदीय स्थायी समिति के सामने पेश हुआ Twitter, खुद अपने ही जाल में फँसा: जानें क्या हुआ

संसदीय समिति ने ट्विटर के अधिकारियों से पूछताछ करते हुए साफ कहा कि देश का कानून सर्वोपरि है ना कि आपकी नीतियाँ।

हिन्दू देवी की मॉर्फ्ड तस्वीर शेयर कर आस्था से खिलवाड़, माफी माँगकर किनारे हुआ पाकिस्तानी ब्रांड: भड़के लोग

एक प्रमुख पाकिस्तानी महिला ब्रांड, जेनरेशन ने अपने कार्यालय में हिंदू देवता की एक विकृत छवि डालकर हिंदू धर्म का मजाक उड़ाया।

केजरीवाल सरकार को 30 जून तक राशन दुकानों पर ePoS मशीन लगाने का केंद्र ने दिया अल्टीमेटम, विफल रहने पर होगी कार्रवाई

ऐसा करने में विफल रहने पर क्या कार्रवाई की जाएगी यह नहीं बताया गया है। दिल्ली को एनएफएसए के तहत लाभार्थियों को बाँटने के लिए हर महीने 36,000 टन चावल और गेहूँ मिलता है।

सपा नेता उम्मेद पहलवान दिल्ली में गिरफ्तार, UP पुलिस ले जाएगी गाजियाबाद: अब्दुल की पिटाई के बाद डाला था भड़काऊ वीडियो

गिरफ्तारी दिल्ली के लोक नारायण अस्पताल के पास हुई है। गिरफ्तारी के बाद उसे गाजियाबाद लाया जाएगा और फिर आगे की पूछताछ होगी।

प्रचलित ख़बरें

70 साल का मौलाना, नाम: मुफ्ती अजीजुर रहमान; मदरसे के बच्चे से सेक्स: Video वायरल होने पर केस

पीड़ित छात्र का कहना है कि परीक्षा में पास करने के नाम पर तीन साल से हर जुम्मे को मुफ्ती उसके साथ सेक्स कर रहा था।

‘…इस्तमाल नहीं करो तो जंग लग जाता है’ – रात बिताने, साथ सोने से मना करने पर फिल्ममेकर ने नीना गुप्ता को कहा था

ऑटोबायोग्राफी में नीना गुप्ता ने उस घटना का जिक्र भी किया है, जब उन्हें होटल के कमरे में बुलाया और रात बिताने के लिए पूछा।

BJP विरोध पर ₹100 करोड़, सरकार बनी तो आप होंगे CM: कॉन्ग्रेस-AAP का ऑफर महंत परमहंस दास ने खोला

राम मंदिर में अड़ंगा डालने की कोशिशों के बीच तपस्वी छावनी के महंत परमहंस दास ने एक बड़ा खुलासा किया है।

‘रेप और हत्या करती है भारतीय सेना, भारत ने जबरन कब्जाया कश्मीर’: TISS की थीसिस में आतंकियों को बताया ‘स्वतंत्रता सेनानी’

राजा हरि सिंह को निरंकुश बताते हुए अनन्या कुंडू ने पाकिस्तान की मदद से जम्मू कश्मीर को भारत से अलग करने की कोशिश करने वालों को 'स्वतंत्रता सेनानी' बताया है। इस थीसिस की नजर में भारत की सेना 'Patriarchal' है।

वामपंथी नेता, अभिनेता, पुलिस… कुल 14: साउथ की हिरोइन ने खोल दिए यौन शोषण करने वालों के नाम

मलयालम फिल्मों की एक्ट्रेस रेवती संपत ने एक फेसबुक पोस्ट में 14 लोगों के नाम उजागर कर कहा है कि इन सबने उनका यौन शोषण किया है।

कम उम्र में शादी करो, एक से ज्यादा करो: अभिनेता फिरोज खान ने पैगंबर मोहम्मद का दिया उदाहरण

फिरोज खान ने कहा कि शादी सीखने का एक अनुभव है। इस्लामिक रूप से यह प्रोत्साहित भी करता है, इसलिए बहुविवाह आम प्रथा होनी चाहिए।
- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
104,984FollowersFollow
392,000SubscribersSubscribe