Sunday, July 21, 2024
Homeविविध विषयधर्म और संस्कृतिसोने की माला पहनेंगे रामलला, चाँदी का होगा द्वार: राम मंदिर के लिए मठ-व्यापारी...

सोने की माला पहनेंगे रामलला, चाँदी का होगा द्वार: राम मंदिर के लिए मठ-व्यापारी खुल कर दे रहे दान, लोगों ने अब तक समर्पित की 500 Kg चाँदी

मंदिर के गर्भ गृह से लेकर शिखर तक सोने की सजावट होगी। मंदिर में स्थापित की जाने वाली स्थायी रामलला की मूर्ति के लिए 108 सोने के सिक्के का हार पहनाए जाने की भी तैयारी चल रही है।

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण का कार्य जारी है। जनवरी 2024 तक निर्माण कार्य पूर्ण होने का अनुमान है। मंदिर निर्माण के लिए देश भर से लोगों ने अपनी क्षमता अनुसार दान दिया। रुपए के अतिरिक्त भगवान राम के भव्य मंदिर निर्माण के लिए सोने और चाँदी भी दान के रूप में दिए जा रहे हैं। जानकारी के अनुसार गर्भगृह के दरवाजों और खिड़की के साथ-साथ राम मंद‍िर का सिंह द्वार भी चाँदी से ही तैयार होगा। इसके लिए काशी मठ के हरिद्वार पीठ की तरफ से 167 किलो चाँदी भेंट किया गया।

सोमवार (09 जनवरी, 2023) को हरिद्वार काशी मठ के उत्तराधिकारी स्वामी संयमेंद्र तीर्थ महाराज ने रामलला के दर्शन किए। इस दौरान उन्होंने राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय से मुलाकात की और मंदिर निर्माण कार्य को भी देखा। स्वामी संयमेंद्र तीर्थ महाराज ने भगवान राम के बाल स्वरूप के लिए 48 ग्राम सोने की माला और 167 किलोग्राम चाँदी समर्पित की। इस चाँदी का इस्तेमाल रामलला के गर्भगृह और सिंह द्वार बनाने में किया जाएगा।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, मंदिर के गर्भ गृह से लेकर शिखर तक सोने की सजावट होगी। मंदिर में स्थापित की जाने वाली स्थायी रामलला की मूर्ति के लिए 108 सोने के सिक्के का हार पहनाए जाने की भी तैयारी चल रही है। इसके लिए हरिद्वार मठ काशी पीठाधीश्वर के तरफ से राम मंदिर ट्रस्ट के पास निवेदन कर स्थायी मूर्ति की माप माँगी गई है। आपको बता दें देश भर से राम भक्तों ने अब तक 500 किलो से ज्यादा चाँदी दान के रुप में राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र को दे दी है। दान दिए जाने का सिलसिला जारी है। एक रिपोर्ट के अनुसार, महाराष्ट्र के एक व्यापारी ने रामलला के सिंहासन पर सोने का पत्तर लगवाने की इजाजत माँगी है।

जानकारी के अनुसार, राम मंदिर का निर्माण शुरू होने के बाद बिहार के पटना महावीर मंदिर न्यास की तरफ से मंदिर निर्माण के लिए 10 करोड़ रुपए दान स्वरूप देने की बात कही गई थी। जिसके बाद हर वर्ष 2 करोड़ रुपए का किस्त राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र को सौंपा जा रहा है। महावीर मंदिर न्यास की तरफ से अब तक 6 करोड़ रुपए दिए जा चुके हैं। रामकथा कहने वाले मोरारी बापू ने मंदिर निर्माण के लिए 18 करोड़ 60 लाख रुपए जुटा लिए।

दरअसल, मोरारी बापू ने मंदिर निर्माण के लिए दुनिया भर के रामभक्तों से अपील की थी। उन्होंने इसके लिए 5 करोड़ रुपए जुटाने का आह्वान किया था लेकिन उनके समर्थकों और प्रशंसकों ने 18.61 करोड़ रुपये जुटा लिए। आपको बता दें कि मंदिर निर्माण में अब 1 साल से भी कम समय बचा हुआ है। पिछले दिनों गृहमंत्री अमित शाह ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण की तारीख का ऐलान किया था। उन्होंने कहा था कि 1 जनवरी 2024 तक मंदिर तैयार हो जाएगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हर दिन 14 घंटे करो काम, कॉन्ग्रेस सरकार ला रही बिल: कर्नाटक में भड़का कर्मचारियों का संघ, पहले थोपा था 75% आरक्षण

आँकड़े कहते हैं कि पहले से ही 45% IT कर्मचारी मानसिक समस्याओं से जूझ रहे हैं, 55% शारीरिक रूप से दुष्प्रभाव का सामना कर रहे हैं। नए फैसले से मौत का ख़तरा बढ़ेगा।

आजादी के वक्त थे 3 मुस्लिम बहुल जिले, अब 9 हैं: बंगाल BJP प्रमुख ने कहा- असम और बंगाल में डेमोग्राफी बदलाव सोची-समझी रणनीति,...

बंगाल भाजपा अध्यक्ष सुकांत मजूमदार ने असम के सीएम हिमंता के उस बयान का समर्थन किया है, जिसमें उन्होंने डोमोग्राफी बदलाव की बात कही थी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -