Friday, August 6, 2021
Homeविविध विषयमनोरंजनमुझे डायन, नरभक्षी और सुशांत सिंह को बलात्कारी घोषित कर दिया था: कंगना रनौत...

मुझे डायन, नरभक्षी और सुशांत सिंह को बलात्कारी घोषित कर दिया था: कंगना रनौत का बॉलीवुड माफिया पर वार

"मेरे जैसी कलाकार जिसे सिर्फ अभिनय की वजह से 3 राष्ट्रीय पुरस्कार मिले, पद्मश्री मिला। "न मैं कभी करण जौहर के अच्छे कलाकारों की सूची का हिस्सा बन पाई और न ही कभी सुशांत बन पाया। मुझे बॉलीवुड के लोग नरभक्षी और ‘डायन’ तक कहते थे।"

बॉलीवुड की मशहूर अदाकारा कंगना रनौत ने हाल ही में रिपब्लिक टीवी समाचार चैनल को एक साक्षात्कार दिया। साक्षात्कार में उन्होंने बॉलीवुड से जुड़े कई अहम पहलुओं पर अपना नज़रिया रखा।

रिपब्लिक टीवी के एडिटर इन चीफ अर्नब गोस्वामी से बात करते हुए कंगना ने सुशांत सिंह राजपूत, बॉलीवुड माफिया, भाई-भतीजावाद पर खुल कर बात की। साथ ही उन घटनाओं का भी ज़िक्र किया जब उनके सामने हालात बहुत मुश्किल थे।  

कंगना ने सुशांत सिंह राजपूत की मौत को ‘हत्या’ करार दिया। साथ ही कई दिग्गज निर्माता, निर्देशकों और फिल्म प्रोड्यूसर्स पर इसका आरोप लगाया। कंगना ने कहा इन मूवी माफियाओं समेत तमाम लोगों ने मिल कर सुशांत सिंह का करियर ख़त्म किया है।

34 वर्षीय अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत 14 जून के दिन अपने आवास पर मृत पाए गए थे। इसके बाद बहस छिड़ी थी कि फ़िल्मी दुनिया में भाई-भतीजावाद (नेपोटिज्म) के चलते उनके साथ गलत रवैया अपनाया गया। उन्हें दरकिनार किया गया जिसकी वजह से सुशांत ने ऐसा कदम उठाया।  

कंगना रनौत ने सबसे पहले मुंबई पुलिस पर सवाल किया। उन्होंने कहा, “मुंबई पुलिस ताकतवर लोगों को समन क्यों नहीं भेजती? इन लोगों को कलाकारों से ऐसे कहने का अधिकार किसने दिया कि तुम्हारा अंत नज़दीक है? अगर यह (महेश भट्ट) जानते थे कि सुशांत सिंह अच्छा महसूस नहीं कर रहे हैं तो उन्होंने सुशांत के पिता को इस बारे में क्यों नहीं बताया? रिया ने महेश भट्ट को कॉल क्यों किया? वह कौन है?” 

तय होते थे सुशांत के फैसले 

कंगना ने कहा, “मुझे समन भेजा गया था लेकिन मैंने बयान दर्ज करने के लिए किसी को मनाली भेजने के लिए कहा। इसके बाद मुंबई पुलिस की तरफ से कोई जवाब नहीं आया।”

कंगना के मुताबिक़ मुंबई पुलिस को 2 बड़े प्रोड्यूसर्स को समन भेजना चाहिए था। कारण जौहर और आदित्य चोपड़ा। कंगना ने यशराज फिल्म पर भी सुशांत सिंह राजपूत को मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का आरोप लगाया। कंगना ने खुलासा किया कि यशराज बैनर की टैलेंट एजेंसी ने सुशांत को हायर किया था। सुशांत के लगभग सारे पेशेवर फैसले वही लेते थे। उनकी नीतियाँ इतनी भयानक थी कि एक कलाकार मन मुताबिक फैसले भी नहीं ले सकता था।  

कई बड़े मौके छीने गए सुशांत सिंह से 

कंगना के मुताबिक इस दौरान सुशांत को कई बड़े बजट की फिल्म में काम करने का मौक़ा मिला था। लेकिन यशराज बैनर से कॉन्ट्रैक्ट होने के चलते सुशांत किसी बड़े समझौते पर हस्ताक्षर नहीं कर सकते थे।

सुशांत को संजय लीला भंसाली की फिल्म में रणवीर सिंह की तरह मुख्य भूमिका निभाने का मौक़ा मिला था। लेकिन इस तरह के तमाम बड़े मौके उससे छीन लिए गए थे।

कंगना ने इस बात का दावा किया कि यशराज बैनर से समझौता होने के चलते सुशांत की तरक्की पूरी तरह थम गई थी। उसे किसी और बड़े बैनर की फिल्म में काम करने से रोक दिया जा रहा था। इसके लिए कंगना ने आदित्य चोपड़ा को भी ज़िम्मेदार ठहराया है।  

रिया-सुशांत के बीच क्या कर रहे थे महेश भट्ट

इसके साथ ही कंगना रनौत ने महेश भट्ट पर कई गंभीर आरोप लगाए। उन्होंने कहा, “सुशांत सिंह पर मानसिक दबाव बनाने में महेश भट्ट ने अहम भूमिका निभाई। कंगना ने कहा महेश भट्ट को बहुत बुरा लग जाता था अगर कोई उनकी फिल्म नकारता था।”

महेश भट्ट पर सवाल करते हुए कंगना ने कहा, “वह (महेश भट्ट) क्यों सुशांत की काउंसलिंग कर रहे थे? किसने उन्हें ऐसे बात करने का अधिकार दिया, तुम्हारा अंत नज़दीक है। अगर उन्हें पता था कि सुशांत सिंह अच्छा महसूस नहीं कर रहा है तो उन्होंने इस बारे में सुशांत के पिता को क्यों नहीं बताया? वह रिया और सुशांत के बीच क्या कर रहे थे? सभी जानना चाहते हैं। मुंबई पुलिस महेश भट्ट से सवाल क्यों नहीं कर रही है?” 

फ़िल्मी दुनिया में अपने संघर्ष का ज़िक्र करते हुए भी कंगना ने कई हैरान कर देने वाली बातें बताई। कंगना ने कहा, “एक समय ऐसा आया जब उन्हें आत्महत्या का विकल्प सही लगने लगा। इंडस्ट्री में उनके प्रति लोगों का जैसा रवैया था, उसकी वजह से वह ऐसा सोचने लगी थी।”

साल 2016 के घटनाक्रम का ज़िक्र करते हुए कंगना ने कहा, “साल 2016 में ब्लॉकबस्टर आने के बाद मैंने 19 ब्रांड साइन किए। फिर मेरे एक्स (पुराने साथी) ने मुझ पर मुकदमा कर दिया। ब्रांड कंपनी में एक नियम होता है, अगर हमारे खिलाफ कोई मुकदमा चल रहा है तो ब्रांड अपना करार रद्द कर देते हैं।”  

2 महीने में 18 ब्रांड्स ने रद्द किए कॉन्ट्रैक्ट 

कंगना ने कहा, “मेरे जैसी कलाकार जिसे सिर्फ अभिनय की वजह से 3 राष्ट्रीय पुरस्कार मिले, पद्मश्री मिला। न मैं कभी करण जौहर के अच्छे कलाकारों की सूची का हिस्सा बन पाई और न कभी सुशांत बन पाया। महज़ 2 महीने के भीतर 18 ब्रांड्स ने मेरे साथ कॉन्ट्रैक्ट ख़त्म कर दिया था। मेरे पास विकल्प ही कहाँ बचे थे? शायद मेरे दिमाग में आत्महत्या का ख़याल नहीं आया होगा, पर अपना सिर मुॅंड़वा कर गायब हो जाने का ख़याल ज़रूर आया था। मुझे बॉलीवुड के लोग नरभक्षी और ‘डायन’ तक कहते थे।”

छोटे शहर वाले इज्ज़त देखते हैं, पैसे नहीं 

कंगना ने कहा, “मेरे रिश्तेदार मुझे अपने बच्चों से नहीं मिलने देते थे, क्योंकि मुझे nymphomaniac (असंतुलित हारमोंस) बना दिया गया था। मुझे सार्वजनिक स्थानों पर कई चीज़ें कही जाती थीं। ऐसे में मेरे सामने शादी और बच्चों का विकल्प ही नहीं रह गया था।”

उन्होंने कहा, “इनलोगों ने सुशांत सिंह को एक बलात्कारी में तब्दील कर दिया था। वह कैसे अपने घर बिहार वापस जाता? छोटे शहरों में पैसे नहीं देखे जाते, सम्मान देखा जाता है।”

इसके बाद कंगना ने बताया कि उन्हें सलमान खान की फिल्म ‘सुल्तान’ ठुकराने पर आदित्य चोपड़ा ने धमकी दी थी। कंगना ने कहा, “मैंने जैसे ही सलमान खान की सुल्तान के लिए ना कहा, आदित्य ने कहा इसके बाद वह कभी मेरे साथ काम नहीं करेंगे।”

अंत में कंगना ने कहा, “फिल्म के निर्देशक मेरे घर पर आए, उन्होंने पूरी कहानी सुनाई। मेरी आदित्य चोपड़ा के साथ मीटिंग थी, जिससे मैं उनसे मिल कर माफ़ी माँग सकूँ। लेकिन कुछ ही देर में ख़बर आई कि कंगना ने सुल्तान के लिए ना कहा। इसके बाद उनका मैसेज आया, तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई मुझे ना कहने की? अब तुम ख़त्म हो।”   

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

पाकिस्तान में गणेश मंदिर तोड़ने पर भारत सख्त, सालभर में 7 मंदिर बन चुके हैं इस्लामी कट्टरपंथियों का निशाना

पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में मंदिर तोड़े जाने के बाद भारत सरकार ने पाकिस्तान के शीर्ष राजनयिक को तलब किया है।

अफगानिस्तान: पहले कॉमेडियन और अब कवि, तालिबान ने अब्दुल्ला अतेफी को घर से घसीट कर निकाला और मार डाला

अफगानिस्तान के उपराष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह ने भी अब्दुल्ला अतेफी की हत्या की निंदा की और कहा कि अफगानिस्तान की बुद्धिमत्ता खतरे में है और तालिबान इसे ख़त्म करके अफगानिस्तान को बंजर बनाना चाहता है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,173FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe