Sunday, July 21, 2024
Homeविविध विषयअन्यट्विटर से पैसे कमाने का आसान तरीका, बिना वीडियो बनाए भी पैसे देगा एलन...

ट्विटर से पैसे कमाने का आसान तरीका, बिना वीडियो बनाए भी पैसे देगा एलन मस्क का ‘X’: सरल शब्दों में समझें क्या-क्या करना होगा

शर्तें हैं - 3 महीने में 5 मिलियन व्यूज (वेरिफाइड हैंडलों द्वारा) आपके ट्वीट्स पर, ट्विटर के ब्लू टिक का सब्सक्रिप्शन और 'Stripe' पर आपका अकाउंट होना पेमेंट के लिए।

अब आप सिर्फ ट्वीट कर के कमाई कर सकते हैं। दुनिया के सबसे अमीर उद्योगपति एलन मस्क के नियंत्रण में आने के बाद ट्विटर अब ‘X’ बन गया है और ट्वीट को पोस्ट कहा जाने लगा है, रीट्वीट को रिपोस्ट नाम दिया गया है, लेकिन ये बदलाव सिर्फ नाम बदलने तक ही सीमित नहीं है। अब ट्विटर आपकी कमाई का जरिया भी बन सकता है। ठहरिए, अगर आप सोच रहे हैं कि इसके लिए आपको वीडियो बनाना होगा तो आप गलत हैं। ज़रूरी नहीं कि ट्विटर पर कमाई के लिए आप वीडियो ही बनाएँ।

ट्विटर (X) ने बदले नियम, अब सिर्फ ट्वीट कर के करें कमाई

आगे बढ़ने से पहले ट्विटर के नए नियमों को समझ लेते हैं। ‘X’ (पूर्व में ट्विटर) ने बताया है कि इस प्लेटफॉर्म पर अब ज़्यादा से ज़्यादा यूजर्स को पैसे कमाने का मौका मिलेगा। आप सोच रहे होंगे कि वो कैसे? जैसा कि पहले ही ऐलान किया जा चुका था, विज्ञापनों से आने वाले राजस्व की धनराशि ट्विटर अब अपने यूजर्स के साथ शेयर कर रहा है। जो इसके पात्र हैं, उन्हें इसकी पहली खेप उनके बैंक खातों में पहुँच भी चुकी है।

राजस्व को शेयर करने का मतलब ये हुआ कि ट्विटर को विज्ञापनों से जो पैसे आ रहे हैं, उनमें अब यूजर्स का भी हिस्सा होगा। YouTube वर्षों से ऐसा करते आ रहा है, तभी आप खबरों में देखते हैं कि फलाँ यूट्यूबर ने इस साल इतने रुपए की कमाई की। व्यूज के हिसाब से यूट्यूब पैसे देता है। वीडियो में जो विज्ञापन चलते हैं, उससे आने वाले पैसों का एक हिस्सा वीडियो क्रिएटरों को मिलता है। ट्विटर इस मामले में अलग है, वहाँ वीडियो ही नहीं बल्कि सिर्फ टेक्स्ट-तस्वीरें डाल कर भी कमाई की जा सकती है।

वापस आते हैं ट्विटर के नए नियमों पर। एड रेवेन्यू में शेयरिंग के लिए पात्रता को और आसान करते हुए ‘X’ ने ऐलान किया है कि जिन यूजर्स के ट्वीट्स के ‘इम्प्रेशन्स’ 5 मिलियन या उससे अधिक हैं पिछले 3 महीनों में, उन्हें अब विज्ञापन से आने वाले राजस्व में हिस्सेदारी पाने का मौका मिलेगा। पहले ये आँकड़ा 15 मिलियन यानी 1.5 करोड़ था, अब ये 50 लाख कर दिया गया है। यानी, तीन गुना कम कर दिया गया है इसे। इससे यूजर्स का एक बड़ा दायरा इससे जुड़ेगा।

कैसे देखें अपने ट्विटर हैंडल के आँकड़े?

अब आप सोच रहे होंगे कि आप कैसे पता लगाएँगे कि आपके ट्वीट्स के ‘इम्प्रेशन्स’ क्या हैं? इसके लिए ट्विटर का एक टूल है ‘ट्विटर एनालिटिक्स‘, जिस पर जाकर आप ये देख सकते हैं। एक और नियम आसान बनाया है ट्विटर ने। पिछले 1 महीने में आपने कितने ट्वीट्स किए, इम्प्रेशन्स क्या रहे हैं, आपकी प्रोफाइल कितने लोगों ने देखी, कितनी बार आपके हैंडल को मेंशन किया गया और आपके फॉलोवर्स में कितनी बढ़ोतरी हुई – ये सब आपको यहीं पर देखने को मिलेगा।

मौजूदा महीने के ‘इम्प्रेशन्स’ से लेकर आपके सारे ताज़ा ट्वीट्स की रीच तक, एक क्लिक में सारे आँकड़े आपके पास होंगे। ग्राफ के माध्यम से आपको आसानी से बता दिया जाएगा सब कुछ। ‘इम्प्रेशन्स’ का मतलब हुआ, आपके ट्वीट्स को कितनी बार देखा गया ट्विटर पर। किसी ने लाइक-रिपोस्ट नहीं किया, सिर्फ स्क्रॉल भी कर लिया देख कर तो वो भी ‘इम्प्रेशन्स’ में गिना जाता है। इतना ही नहीं, किसी व्यक्ति ने 10 बार आपकी ट्वीट को देखा तो भी इम्प्रेशन बढ़ेगा, ज़रूरी नहीं कि 10 व्यक्ति देखे तभी इम्प्रेशन 10 होगा।

फिर आपके मन में सवाल उठेगा कि ‘इम्प्रेशन’ तो समझ लिया लेकिन ये ‘इंगेजमेंट’ क्या बला है। इंगेजमेंट को लेकर कोई शर्त नहीं रखी है ट्विटर ने आपकी कमाई के लिए, लेकिन इसके बारे में जानना जरूरी है। किसी ने आपकी ट्वीट को क्लिक किया, लाइक किया, रिपोस्ट (रीट्वीट) किया, आपकी प्रोफाइल पर क्लिक किया, ट्वीट में मौजूद लिंक पर क्लिक किया, उसे कोट किया या फिर सेव किया – ये सब इंगेजमेंट में गिना जाएगा। इंगेजमेंट हमेशा इम्प्रेशन से कम ही रहता है।

ट्विटर ने नियमों को और आसान किया है। पहले नियम था कि अगर आपकी कमाई 50 डॉलर तक हो जाएगी तभी आप पैसे आपके बैंक खाते में डाले जाएँगे, लेकिन अब इसे घटना कर 10 डॉलर कर दिया गया है। ट्विटर ने कहा है कि इसका फायदा उठाने के लिए आपको ‘प्रीमियम सब्सक्रिप्शन’ के लिए साइनअप करना होगा। अर्थात, ट्विटर का ब्लू टिक खरीदना होगा। इसी बीच एलन मस्क ने एक नया ऐलान कर दिया जो और राहत देने वाला है।

उन्होंने बड़ी जानकारी दी है कि जिन भी ट्विटर हैंडल के ट्वीट्स 5 मिलियन से अधिक बार देखे जाएँगे ट्विटर पर, उन सबको ‘X प्रीमियम’ (ट्विटर ब्लू) फ्री में मिलेगा। लेकिन, इसमें एक पेंच है। जो हैंडल वेरिफाइड हैं, केवल उनके द्वारा ही आपके ट्वीट्स को 5 मिलियन बार देखा जाना चाहिए। कहीं बॉट्स का इस्तेमाल कर के फेक रीच न जेनेरेट किए जाने लगें, इसीलिए ये शर्त लगाई गई है। सीधे शब्दों में – आपके ट्वीट को 50 लाख बार देखा जाता है वेरिफाइड हैंडलों द्वारा, तो आपको ब्लू टिक फ्री और कमाई भी।

अब तक हमने क्या जाना? हमने जाना कि ट्विटर, जो अब ‘X’ हो गया, वो सिर्फ ट्वीट करने के लिए पैसे दे रहा है। शर्तें हैं – 3 महीने में 5 मिलियन व्यूज (वेरिफाइड हैंडलों द्वारा) आपके ट्वीट्स पर, ट्विटर के ब्लू टिक का सब्सक्रिप्शन और ‘Stripe’ पर आपका अकाउंट होना पेमेंट के लिए। हमने जाना कि ये पात्रता पूरी करने के बाद आपको ‘ट्विटर ब्लू’ भी फ्री में मिल जाएगा। कमाई 10 डॉलर पहुँचते ही इसे बैंक खाते में भेज दिया जाएगा।

ब्लू टिक लेने के लिए आपको वेब के माध्यम से आपको प्रति महीने 680 रुपए या फिर प्रतिवर्ष 6800 रुपए का भुगतान करना होता है। वहीं स्मार्टफोन में एप के माध्यम से ब्लू टिक का सब्सक्रिप्शन लेने के लिए आपको प्रति महीने 900 रुपए का फिर साल में 9000 रुपए का भुगतान करना होगा। इसके लिए चौथी शर्त है – आपको ‘Stripe’ नामक प्लेटफॉर्म पर अकाउंट बनाना होगा और उसे अपने ट्विटर हैंडल से जोड़ना होगा।

ये ‘Stripe’ क्या बला है? कैसे देखें कितने पैसे आ रहे

एक शंका बच गई। अब ये ‘Stripe’ क्या बला है? ‘Stripe’ एक आयरिश-अमेरिकन वित्तीय सेवाएँ देने वाला प्लेटफॉर्म है, जो सिर्फ पेमेंट गेटवे न होकर इससे भी अधिक काम करता है। मार्केटप्लेस के वित्तीय प्रबंधन से लेकर सब्स्क्रिप्शन्स को मैनेज करने तक, इसके माध्यम से सभी पैसों के लेनदेन वाले काम किए जा सकते हैं। इस पर अकाउंट बनाने के लिए आपको नाम, ईमेल, पैन और फोन नंबर वेरिफाई कराना पड़ेगा। आपको भारत के टैक्स से जुड़े नियमों का पालन करना होगा, इसके लिए एक फॉर्म आपसे भरवाया जाएगा।

आपका ‘Stripe’ अकाउंट आपके ट्विटर हैंडल से जुड़ जाएगा। आपको ट्विटर (X) पर नहीं दिखेंगे कि आपकी कमाई कितनी हो रही है, न ही ये एकालिटिक्स टूल पर दिखेगा। ये दिखेगा आपके स्ट्राइप अकाउंट पर। स्ट्राइप अकाउंट पर पैसे आएँगे, आप रोज की कमाई देख सकते हैं, कमाई के लक्ष्य सेट कर सकते हैं और फिर उसे अपने बैंक खाते में भेज सकते हैं। कितने पैसे आए, कितने खाते में भेजे गए – सारी हिस्ट्री आपको स्ट्राइप पर ही दिखेगी। आप पेटीएम और फोनपे का उपयोग करते हैं तो इसे समझने में कठिनाई नहीं होगी।

ट्वीट रिप्लाइज से पैसे कैसे कमाएँ? – जानें प्रक्रिया

इसके लिए आपको सबसे पहले ट्विटर के ‘Monetization’ वाले सेक्शन में जाना होगा। इस लिंक पर क्लिक कर के आप सीधे वहाँ तक पहुँच सकते हैं। वहाँ आपको ‘जॉइन एन्ड सेटअप पेआउट्स’ विकल्प दिखेगा, जिस पर क्लिक करने के बाद आपको स्ट्राइप पर अकाउंट बनाने के लिए कहा जाएगा। कुल मिला कर इसे ऐसे समझिए कि आपके कंटेंट या ट्वीट की रिप्लाई में एड दिखाने की एवज में आपको ये पैसे दिए जाएँगे।

‘Monetization’ वाले सेक्शन में जाएँ, फिर ‘Ads रेवेन्यू शेयरिंग’ में जाएँ

जितने ज्यादा लोग इस एड को देखेंगे उस हिसाब से आपके पैसे बढ़ेंगे। अगर किसी को ट्विटर के एड रेवेन्यू शेयरिंग सिस्टम से बाहर निकलना है तो वो पेड सपोर्ट से संपर्क कर के ऐसा कर सकता है। ये कार्यक्रम अब दुनिया के लगभग सभी देशों में उपलब्ध करा दिया गया है। ये क्रिएटर सब्सक्रिप्शन से बिलकुल अलग है। ज़रूरी नहीं है कि आपके पास केवल रीच बढ़ाने से ही पैसे आएँगे, इसके तहत अगर आप क्रिएटर नहीं हैं फिर भी आपकी कमाई हो सकती है।

कितने लोगों द्वारा आपके ट्वीट्स या रिप्लाइज में आने वाले विज्ञापन देखने पर कितनी कमाई होगी, ये ट्विटर ने अभी साफ़ नहीं किया है। कुछ दिनों बाद हो सकता है कि इस बारे में स्पष्ट जानकारी दी जाए कि इम्प्रेशन और कमाई का कोई रेश्यो है या नहीं। फ़िलहाल के लिए आपको कमाई करनी है तो ट्विटर ब्लू खरीद डालिए, 5 मिलियन ‘इम्प्रेशन्स’ पहुँचाइए, ‘ट्विटर एनालिटिक्स’ से आँकड़े चेक कीजिए, 500 फॉलोवर्स जुटाइए और ‘Stripe’ पर अकाउंट बना कर पैसे बैंक खाते में भेजिए।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आरक्षण के खिलाफ बांग्लादेश में धधकी आग में 115 की मौत, प्रदर्शनकारियों को देखते ही गोली मारने के आदेश: वहाँ फँसे भारतीयों को वापस...

बांग्लादेश में उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के भी आदेश दिए गए हैं। वहाँ हिंसा में अब तक 115 लोगों की जान जा चुकी है और 1500+ घायल हैं।

काशी विश्वनाथ मंदिर और महाकालेश्वर मंदिर परिसर के दुकानदारों को लगाना होगा नेम प्लेट: बिहार के बोधगया की दुकानों में खुद ही लगाया बोर्ड,...

उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश के महाकालेश्वर मंदिर परिसर में स्थित दुकानदारों को अपना नेम प्लेट लगाने का आदेश दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -