Wednesday, July 17, 2024
Homeविविध विषयअन्यइंटरनेशनल क्रिकेटर को IPL के मालिक ने मारे कई थप्पड़... क्योंकि जीरो पर आउट...

इंटरनेशनल क्रिकेटर को IPL के मालिक ने मारे कई थप्पड़… क्योंकि जीरो पर आउट हो गया था

टेलर ने अपनी किताब में लिखा है, "हमें 195 रन का लक्ष्य मिला था और मैं जीरो पर आउट हो गया। इस मैच में हमारी टीम को करारी हार मिली थी। हार के बाद टीम मालिक ने मुझसे कहा कि हम आपको जीरो पर आउट होने के लिए करोड़ों रुपए नहीं दे रहे हैं।"

न्यूजीलैंड (New Zealand) के पूर्व बल्लेबाज रॉस टेलर (Ross Taylor) ने आरोप लगाया है कि एक बार राजस्थान रॉयल्स (Rajasthan Royals) टीम मालिक ने उन्हें थप्पड़ जड़ दिया था। टेलर का कहना है कि साल 2011 के सीजन में यह घटना उनके साथ घटी थी। टेलर इसके बाद इस फ्रेंचाइजी के लिए फिर कभी नहीं खेले।

टेलर ने यह आरोप एक किताब के जरिए लगाया है। उन्होंने अपनी आत्मकथा ‘रॉस टेलर: ब्लैक एंड व्हाइट’ में टेलर ने लिखा है कि किंग्स इलेवन पंजाब (Kings XI Punjab) के खिलाफ मोहाली में हुए मैच में उनकी टीम हार गई थी। इसके बाद फ्रेंचाइजी का मालिक उन पर गुस्सा हो गया था।

टेलर ने अपनी किताब में लिखा है, “हमें 195 रन का लक्ष्य मिला था और मैं जीरो पर आउट हो गया। इस मैच में हमारी टीम को करारी हार मिली थी। हार के बाद टीम मालिक ने मुझसे कहा कि हम आपको जीरो पर आउट होने के लिए करोड़ों रुपए नहीं दे रहे हैं।”

न्यूजीलैंड के पूर्व बल्लेबाज ने आगे लिखा, “इसके बाद उन्होंने मुझे तीन-चार थप्पड़ मारा। हालाँकि, इस दौरान वह (फ्रेंचाइजी का मालिक) हँस रहे थे और थप्पड़ भी तेज नहीं थे। मैं इसको कोई मुद्दा नहीं बनाना था, लेकिन यह मेरे लिए बहुत अप्रत्याशित था।”

टेलर के आरोपों पर राजस्थान रॉयल्स ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। बता दें कि रॉस टेलर ने राजस्थान रॉयल्स के लिए साल 2011 में मैच खेला था। इस सीजन में 12 मैच खेलते हुए उन्होंने 119 के स्ट्राइक रेट से 181 रन बनाए थे।

रॉस टेलर IPL में 55 मैच खेल चुके हैं। उन्होंने 1017 रन बनाए हैं। उनके नाम 3 अर्धशतक भी हैं। वे दिल्ली डेयरडेविल्स, पुणे वॉरियर्स, राजस्थान रॉयल्स और रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू के लिए खेल चुके हैं।

न्यूजीलैंड पर नस्लावाद का आरोप

रॉस टेलर ने न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम और उसके खिलाड़ियों के नस्लवाद को भी अपनी किताब में उजागर किया है। टेलर ने लिखा, “वहाँ मुझे भारतीय समझते थे और साथी खिलाड़ी ड्रेसिंग रूम में मुझे बंदर कहते थे।”

उन्होंने आगे बताया, “कई बार जब मैं खराब शॉट खेलता था तो उस पर मेरे लिए बहुत ही गंदे शब्दों का इस्तेमाल किया जाता था। उसी तरह के शॉट पर टीम के बाकी बल्लेबाजों के लिए ऐसा कुछ नहीं कहा जाता था।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

सरकारी नौकरियों में अग्निवीरों को 10% आरक्षण: हरियाणा के CM सैनी का ऐलान- आयुसीमा में भी मिलेगी छूट, बंदूक का लाइसेंस भी मिलेगा

हरियाणा के सीएम सैनी ने कहा कि राज्य में अग्निवीरों को पुलिस भर्ती और माइनिंग गार्ड समेत कई अन्य पदों की भर्ती में 10 फीसदी आरक्षण मिलेगा।

12वीं पास को ₹6000, डिप्लोमा वाले को ₹8000, ग्रेजुएट को ₹10000: क्या है महाराष्ट्र की ‘लाडला भाई योजना’, कैसे और किनको मिलेगा फायदा?

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने 'लाडला भाई योजना' की घोषणा की है। इस लाडला भाई योजना में युवाओं को फैक्ट्रियों में अप्रेंटिसशिप मिलेगी और सरकार की तरफ से उन्हें वजीफा दिया जाएगा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -