Tuesday, July 16, 2024
Homeविविध विषयविज्ञान और प्रौद्योगिकीपराग अग्रवाल को निकाला, लेकिन भरोसा भी भारतीय पर ही... ट्विटर चलाने में श्रीराम...

पराग अग्रवाल को निकाला, लेकिन भरोसा भी भारतीय पर ही… ट्विटर चलाने में श्रीराम कृष्णन कर रहे एलन मस्क की मदद, 23 स्टार्टअप्स में कर चुके हैं निवेश

चूँकि, एलन मस्क ने ट्विटर डील पूरी होते ही इसमें कई महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं और आगे भी बड़े बदलाव करने के संकेत दे चुके हैं। ऐसे में, फेसबुक से लेकर माइक्रोसॉफ्ट और ट्विटर में काम करने का अनुभव होने के कारण मस्क श्रीराम कृष्णन को महत्वपूर्ण भूमिका दे सकते हैं।

दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति एलन मस्क ने माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर को खरीदने के बाद सीईओ पराग अग्रवाल को हटा दिया था। इसके बाद से इस बात की चर्चा जोरों पर रही है कि ट्विटर का अगला सीईओ कौन होगा। भले ही एलन मस्क ने पराग अग्रवाल को हटा दिया हो, लेकिन आज भी उन्हें ट्विटर से संबंधित महत्वपूर्ण सलाह लेने के लिए एक भारतीय का ही सहारा लेना पड़ रहा है। दरअसल, अब चेन्नई के भारतीय टेक्नोलॉजिस्ट और इन्वेस्टर श्रीराम कृष्णन एलन मस्क की सहायता कर रहे हैं।

श्रीराम कृष्णन ने सोमवार (31 अक्टूबर, 2022) को ट्वीट कर कहा है कि वह एलन मस्क की सहायता कर रहे हैं। उन्होंने कहा है ,”जैसा कि अब यह बात सामने आ चुकी है, मैं ट्विटर में एलन मस्क की अस्थाई तौर पर सहायता कर रहा हूँ। मैं (और A16z) मानता हूँ कि यह बहुत ही महत्वपूर्ण कंपनी है, दुनिया पर इसका बहुत अधिक प्रभाव हो सकता है और एलन मस्क ही ऐसा संभव कर सकते हैं।”

श्रीराम कृष्णन कंज्यूमर स्टार्टअप ए16जेड (A16z) के पार्टनर हैं। यही नहीं वह बिट्स्की, होपिन और पॉलीवर्क के बोर्ड में काम करने के साथ ही ट्विटर पर भी काम कर चुके हैं। वहाँ उन्होंने होम टाइमलाइन, न्यू यूजर एक्सपीरियंस, सर्च, डिस्कवरी और ऑडियंस ग्रोथ को लेकर बड़ा काम किया था।

इसके अलावा वह स्नैप और फेसबुक के लिए विभिन्न मोबाइल ऐड प्रॉडक्ट्स के लिए भी काम कर चुके हैं। इसमें स्नैप का डायरेक्ट रिस्पांस ऐड्स बिजनेस और फेसबुक ऑडियंस नेटवर्क भी शामिल है। श्रीराम कृष्णन का करियर माइक्रोसॉफ्ट से शुरू था। जहाँ वह विंडोज अजुरे से जुड़े कई प्रोजेक्ट्स में काम करते थे। यही नहीं, वह प्रोग्रामिंग विंडोज अजुरे पुस्तक के लेखक भी हैं।

चूँकि, एलन मस्क ने ट्विटर डील पूरी होते ही इसमें कई महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं और आगे भी बड़े बदलाव करने के संकेत दे चुके हैं। ऐसे में, फेसबुक से लेकर माइक्रोसॉफ्ट और ट्विटर में काम करने का अनुभव होने के कारण मस्क श्रीराम कृष्णन को महत्वपूर्ण भूमिका दे सकते हैं।

जैसा कि पहले भी बताया है कि श्रीराम कृष्णन टेक्नोलॉजिस्ट और इंवेस्टर हैं। वह स्टार्टअप्स में इन्वेस्ट करने के लिए जाने जाते हैं। अब तक कृष्णन ने कुल 23 स्टार्टअप्स पर इन्वेस्ट किया है। इस महीने की शुरुआत में 4 अक्टूबर को उन्होंने सीड राउंड लैसो लैब्स में इंवेस्ट किता था। जिसके बाद, लैसो लैब्स ने 4.2 मिलियन डॉलर का फंड भी रेज किया था।

श्रीराम कृष्णन का जन्म चेन्नई में हुआ था और वह यहीं पले बढ़े हैं। उनका जन्म एक निम्न मध्यवर्गीय परिवार में हुआ था। कृष्णन के पिता इंश्योरेंस कंपनी में काम करते थे। उन्होंने अन्ना यूनिवर्सिटी के एसआरएम इंजीनियरिंग कॉलेज से इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी में ग्रेजुएशन किया है। श्रीराम की उनकी पत्नी आरती से मुलाकात भी बेहद दिलचस्प है। साल 2002 में दोनों की भेंट याहू मैसेंजर पर हुई थी। इसके बाद उन्होंने शादी कर ली। साल 2005 में, 21 साल की उम्र में वह अमेरिका के सिएटल चले गए थे वहीं उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट में काम करना शुरू किया था। इसके बाद से उनका करियर लगातार बढ़ता रहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘जम्मू-कश्मीर की पार्टियों ने वोट के लिए आतंक को दिया बढ़ावा’: DGP ने घाटी के सिविल सोसाइटी में PAK के घुसपैठ की खोली पोल,...

जम्मू कश्मीर के DGP RR स्वेन ने कहा है कि एक राजनीतिक पार्टी ने यहाँ आतंक का नेटवर्क बढ़ाया और उनके आका तैयार किए ताकि उन्हें वोट मिल सकें।

कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री DK शिवकुमार को सुप्रीम कोर्ट से झटका, चलती रहेगी आय से अधिक संपत्ति मामले CBI की जाँच: दौलत के 5 साल...

सुप्रीम कोर्ट ने कर्नाटक के उपमुख्यमंत्री डीके शिवकुमार को आय से अधिक संपत्ति मामले में CBI जाँच से राहत देने से मना कर दिया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -