Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजहिन्दू लड़की को भगा ले गया अमज़द, ₹65000 के गहने भी ले गई: जमानत...

हिन्दू लड़की को भगा ले गया अमज़द, ₹65000 के गहने भी ले गई: जमानत पर बाहर वकील रईसुद्दीन ने की मदद, उल्टे आक्रोशित हिन्दुओं पर ही हमला

मामले की जानकारी जब हिन्दू संगठन के सदस्यों को हुई तो वो पीड़िता के घर पहुँच गए। सबने मिल कर वकील रईसुद्दीन के घर का रुख किया। आरोप है कि रईसुद्दीन के घर पर प्रदर्शनकारियों पर हमला हुआ।

उत्तराखंड के देहरादून से ‘लव जिहाद’ का नया मामला सामने आया है। यहाँ अमजद नाम के युवक पर गुरुवार (27 जून, 2024) को एक हिन्दू लड़की को भगा कर ले जाने का आरोप लगा है। अमजद का साथ रईसुद्दीन नाम के एक वकील ने दिया है जिसकी वकालत के लाइसेंस को निरस्त करने की भी माँग उठ रही है। हिन्दू संगठन के सदस्य जब रईसुद्दीन के घर विरोध करने पहुँचे तो उन पर हमला भी हुआ जिसमें ‘बजरंग दल’ का एक कार्यकर्ता घायल हो गया। पुलिस ने केस दर्ज कर के जाँच शुरू कर दी है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यह मामला देहरादून के थाना क्षेत्र विकास नगर का है। यहाँ गुरुवार को एक लड़की अचानक ही अपने घर से गायब हो गई। घर में रखे लगभग 65 हजार रुपए मूल्य के जेवर भी नहीं मिले। पीड़िता के घर वालों ने मोहम्मद अमजद नाम के व्यक्ति पर लड़की को भगा ले जाने का आरोप लगाया है। उन्होंने बताया कि मोहम्मद अमजद के ही कहने पर पीड़िता 65 हजार रुपए मूल्य के गहने भी साथ ले गई है। आरोपित की मदद का आरोप विकास नगर के एक वकील रईसुद्दीन पर लगा है।

मामले की जानकारी जब हिन्दू संगठन के सदस्यों को हुई तो वो पीड़िता के घर पहुँच गए। सबने मिल कर वकील रईसुद्दीन के घर का रुख किया। आरोप है कि रईसुद्दीन के घर पर प्रदर्शनकारियों पर हमला हुआ। इस हमले में ‘बजरंग दल’ का एक कार्यकर्ता घायल हो गया। घायल का इलाज करवाया गया है। हमले के बाद भीड़ भड़क गई। भीड़ द्वारा तोड़फोड़ की भी खबर है। आक्रोशित लोगों ने हरबर्टपुर पुलिस चौकी के आगे हंगामा शुरू कर दिया। मामले की जानकारी मिलते ही तमाम सीनियर प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुँचे।

प्रदर्शनकारी पीड़िता को सही सलामत बरामद करने, अमजद के साथ रईसुद्दीन को गिरफ्तार करने व रईसुद्दीन की वकालत का लाइसेंस रद्द करने की माँग कर रहे थे। भीड़ द्वारा किए गए प्रदर्शन का वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में प्रदर्शनकारियों ने हिंदुस्तान में ही हिन्दू को असुरक्षित बताया। फ़िलहाल पुलिस ने पीड़िता के परिजनों की शिकायत पर मोहम्मद अमजद के साथ रईसुद्दीन के खिलाफ भी नामजद FIR दर्ज कर ली है।

रईसुद्दीन पर पहले से केस दर्ज बताए जा रहे हैं। उसे जेल भी भेजा गया था। आरोप है कि जमानत पर छूटने के बाद भी उसकी आपराधिक हरकतों में कोई सुधार नहीं हुआ। आरोपित और पीड़िता की तलाश में दबिश दी जा रही है। तनाव को देखते हुए इलाके में अतिरिक्त पुलिस बल तैनात कर दिया गया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -