Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाज'प्रतीक सिन्हा सेक्स के लिए पागल, महिलाओं के स्तनों को घूरना उसकी आदत': गुमनाम...

‘प्रतीक सिन्हा सेक्स के लिए पागल, महिलाओं के स्तनों को घूरना उसकी आदत’: गुमनाम महिला ने AltNews के को-फाउंडर पर MeToo का लगाया आरोप

महिला का आरोप है कि रिश्ते को सुलझाने के लिए सिन्हा की एक 'दोस्त' आई और उसने बताया कि सिन्हा के कई महिलाओं के साथ शारीरिक संबंध थे। महिला ने कहा कि उस दोस्त से उसे पता चला कि एक गंभीर रिश्ते के बारे में नाटक करना और बिस्तर पर एक महिला को पाने के लिए झूठ बोलना प्रतीक सिन्हा की कार्यप्रणाली है।

प्रोपगेंडा वेबसाइट AltNews के को-फाउंडर प्रतीक सिन्हा पर एक महिला ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है। गुमनाम इंस्टाग्राम हैंडल ‘फाइटफॉरजस्टवर्ल्ड’ से 14 जनवरी 2023 को अपनी आपबीती साझा करते हुए महिला ने कहा कि सिन्हा न केवल जोड़-तोड़ करने वाला और ‘यौन उन्मादी’ हैं, बल्कि वह अन्य महिलाओं के साथ उनके साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए भी वही तौर-तरीकों का इस्तेमाल किया, जो उसके साथ किया था।

महिला ने कहा कि उसे ‘आरएसएस की कठपुतली, एक भाजपा नेता’ आदि का तमगा देकर उसके आरोपों को खारिज किया जा सकता है, क्योंकि वह ऑल्ट न्यूज को निशाना बना रही है। महिला ने यह भी कहा कि वह दक्षिणपंथियों से लड़ती आ रही है और इसके लिए उसके अपने तौर-तरीके हैं।

पीड़िता का कहा कि वह प्रतीक सिन्हा को कुछ सालों से जानती है और उनके काम से प्रभावित थी। जब सिन्हा ने उसे फेसबुक मैसेनजर में मैसेज किया तो वह उनसे बात करने लगी। महिला ने यह भी आरोप लगाया कि पहले ही दिन प्रतीक सिन्हा ने उसका मोबाइल नंबर माँग लिया और विश्वास के कारण उसने दे भी दिया। उसके बाद पहले मैसेज, फिर कॉल और अंत में वीडियो कॉल पर बात होने लगी।

महिला ने आरोप लगाया कि प्रतीक सिन्हा ने दो महीने से भी कम समय में ‘दोस्ती से आगे वाली फीलिंग’ को जाहिर किया। इस पर महिला ने अपनी शिक्षा को वजह बताते हुए कहा कि रिलेशनशिप दो साल बाद ही संभव है। महिला का आरोप है कि इसके बाद सिन्हा ने कहा कि ठीक है और वह अन्य किसी की खोज जारी नहीं रखेंगे।

महिला ने आगे बताया कि बीच-बीच में प्रतीक सिन्हा ने कहा कि वह इस रिश्ते को जारी रखना नहीं चाहते और फिर वे अपनी बात से पलट जाते और रिश्ते को जारी रखने पर जोर देते। मई 2021 में उन्होंने रिश्ते को जारी रखने और इसमें समय लगाने की इच्छा जताई थी। महिला ने कहा कि सिन्हा उसके साथ ‘मोनोगैमस’ और ‘एक्सक्लूसिव’ रिश्ता रखना चाहते थे।

महिला ने कहा कि जब वह पूछती कि क्या उनका किसी और साथ भावनात्मक या शारीरिक रिश्ता है तो सिन्हा ने कहा कि मार्च 2019 के बाद से किसी के साथ उनका शारीरिक रिश्ता नहीं रहा है। जुलाई 2021 में सिन्हा ने सितंबर में कोलकाता जाने से पहले पीड़िता को मिलने के लिए बुलाया और इस दौरान दोनों के बीच शारीरिक संबंध बने।

महिला ने आरोप लगाया कि पढ़ाई खत्म होने के बाद उसने सिन्हा से शादी करने की बात कही, लेकिन सिन्हा ने बाद कहा कि इस रिश्ते को लेकर वह जो भी कह रहे थे, वह एक नाटक भर था। महिला ने कहा कि इस दौरान प्रतीक सिन्हा के अन्य महिलाओं के साथ भी रिश्ते बन रहे थे। जब शादी से इनकार की बात उसने सुनी तो वह बहुत परेशान हो गई और सिन्हा को चेतावनी दी कि वह इस रिश्ते को सार्वजनिक करेगी।

महिला का आरोप है कि इस बीच दोनों के मध्य रिश्ते को सुलझाने के लिए सिन्हा की एक ‘दोस्त’ आई और उसने बताया कि सिन्हा के कई महिलाओं के साथ शारीरिक संबंध थे। महिला ने कहा कि उस दोस्त से उसे पता चला कि एक गंभीर रिश्ते के बारे में नाटक करना और बिस्तर पर एक महिला को पाने के लिए झूठ बोलना प्रतीक सिन्हा की कार्यप्रणाली है।

महिला ने यह भी आरोप लगाया कि उस दोस्त ने बताया कि प्रतीक सिन्हा सेक्स मैनियाक है, जो ‘सेक्स के लिए बेताब रहता है और महिलाओं को अपने बिस्तर पर लाने के लिए किसी भी हद तक झूठ बोल सकता है’। वह महिलाओं को रात में वीडियो कॉल करने का दबाव डालता है। महिला ने प्रतीक सिन्हा को ‘महिलाओं के स्तनों को घूरने वाला’ बताया, जो सिर्फ महिला अधिकारों का दिखावा करता है।

इस दौरान महिला ने यह भी कहा कि उसकी शिकायत AltNews या उसके किसी और एंप्लॉई से नहीं है। उसने इस दौरान दक्षिणपंथियों पर भी निशाना साधा और कहा कि वे सब फेक न्यूज फैलाते हैं। महिला के आरोपों को पूरा पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें।

गुमनाम महिला ने प्रतीक सिन्हा पर जो आरोप लगाए हैं, उसके बाद ऑपइंडिया ऑल्ट न्यूज के को-फाउंडर से संपर्क करने का प्रयास कर रहा है। उनका पक्ष आने पर अपडेट किया जाएगा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

15 अगस्त को दिल्ली कूच का ऐलान, राशन लेकर पहुँचने लगे किसान: 3 कृषि कानूनों के बाद अब 3 आपराधिक कानूनों से दिक्कत, स्वतंत्रता...

15 सितंबर को जींद और 22 सितंबर को पीपली में किसानों की रैली प्रस्तावित है। किसानों ने पूर्व केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा 'टेनी' के बेटे आशीष को जमानत दिए जाने की भी निंदा की।

केंद्र सरकार ने 4 साल में राज्यों को की ₹1.73 लाख करोड़ की मदद, फंड ना मिलने पर धरना देने वाली ममता सरकार को...

वित्त मंत्रालय ने बताया है कि केंद्र सरकार 2020-21 से लेकर 2023-24 तक राज्यों को ₹1.73 लाख करोड़ विशेष मदद योजना के तहत दे चुकी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -