Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजदुकान के बाहर बुलाया, फिर सिर में दाग दी गोली... उदयपुर में 'बजरंग दल'...

दुकान के बाहर बुलाया, फिर सिर में दाग दी गोली… उदयपुर में ‘बजरंग दल’ के नेता की हत्या, कन्हैया लाल का यही रेत डाला गया था गला

मीडिया रिपोर्ट्स में जमीनी विवाद के चलते बजरंग दल के नेता की हत्या करने की आशंका जताई जा रही है। बताया जा रहा है ​कि उदयपुर में सोमवार (6 फरवरी, 2023) को रात करीब आठ दो बदमाशों ने उन्हें दुकान के बाहर बुलाया और उनके सिर में गोली मार दी।

राजस्थान के उदयपुर में बजरंग दल के नेता की सरेराह गोली मारकर हत्या कर दी गई। नेता का नाम राजू परमार उर्फ राजू तेली है। यह घटना अंबामाता थाना क्षेत्र में रामपुरा चौराहे की है। प्रीतम सिंह नाम के शख्स ने फेसबुक पर पोस्ट शेयर कर उनकी हत्या की जिम्मेदारी ली है। उसने अपना फेसबुक प्राइवेट कर रखा है, लेकिन उसका पोस्ट वायरल हो गया है। इसमें वह लिखता है, “जय माता दी सभी भाइयों को। मैं प्रीतम सिंह, उदयपुर में रामपुरा चौराहे पर हुए हत्याकांड पर।राजेंद्र परमार (राजू तेली), जो कि अंबामाता थाने का हिस्ट्रीशीटर है, वह मेरे मामा जी की जमीन हड़पना चाहता था। इसलिए मैंने उसको गोली मार दी और वो मर गया। जय श्री राम, जय महाकाल।”

प्रीतम सिंह नाम के शख्स ने फेसबुक पर उनकी हत्या की जिम्मेदारी ली। (फोटो साभार: ETV)

मीडिया रिपोर्ट्स में जमीनी विवाद के चलते बजरंग दल के नेता की हत्या करने की आशंका जताई जा रही है। बताया जा रहा है ​कि उदयपुर में सोमवार (6 फरवरी, 2023) को रात करीब आठ दो बदमाशों ने उन्हें दुकान के बाहर बुलाया और उनके सिर में गोली मार दी। स्थानीय लोग उन्हें अस्पताल लेकर पहुँचे, जहाँ उपचार के दौरान उनकी मौत हो गई। वारदात की सूचना मिलने के बाद बड़ी संख्या में हिंदू संगठनों के कार्यकर्ता, एएसपी चंद्रशील ठाकुर समेत कई पुलिस अधिकारी हॉस्पिटल पहुँचे।

बजरंग दल में पूर्व जिला संयोजक रह चुके 38 वर्षीय राजू उर्फ राजेन्द्र परमार प्रॉपर्टी डीलिंग का बिजनेस करते थे। इसके कारण उनका कई लोगों से विवाद भी चल रहा था। सेंट्रल जेल में बंद हिस्ट्रीशीटर दिलीप नाथ के साथ भी राजू का कालीवास गाँव में जमीन का विवाद चल रहा था। कहा जा रहा है कि दिलीप नाथ ने ही अपने गुर्गों के जरिए यह हत्या करवाई होगी। फिलहाल पुलिस ने हत्यारों का पता लगाने के लिए आसपास की दुकानों के सीसीटीवी वीडियो चेक किए हैं, जिसमें दो बदमाश भागते नजर आ रहे हैं। पुलिस को आशंका है कि इन्होंने ही राजू को गोली मारी है।

पुलिस को जानकारी मिली है कि बदमाश पैदल ही परमार के पास आए थे। दोनों ने उन्हें करीब से सिर में दो गोली मारी है। वारदात के दौरान वहाँ से एक बारात गुजर रही थी। इस शोरगुल का फायदा उठाते हुए आरोपितों ने वारदात को अंजाम दिया और वहाँ से भाग निकले। राजू परमार गोवंश बचाने के काम में काफी सक्रिय था। वह हिंदू संगठन के सक्रिय कार्यकर्ता के रूप जाना जाता था। उनको अपने ऊपर पहले से ही फायरिंग होने की आशंका थी, इसलिए वह कुछ दिनों से अकेले घर से बाहर निकलने से परहेज कर रहे थे। एक अन्य मीडिया रिपोर्ट में उनकी उम्र 42 वर्ष बताई जा रही है।

कन्हैया लाल हत्याकांड

उल्लेखनीय है कि राजस्थान का उदयपुर कन्हैया लाल की निर्मम हत्या के बाद से काफी चर्चा में रहा है। पिछले वर्ष जून में (28 जून 2022) उदयपुर में मोहम्मद गौस और रियाज ने टेलर कन्हैया लाल की दुकान पर आकर गला रेतकर उनकी हत्या कर दी थी। घटना के बाद दोनों हत्यारों ने हँसते हुए अपनी वीडियो जारी की थी और वो हथियार भी दिखाया, जिससे कन्हैया का गला रेता था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -