Monday, November 29, 2021
Homeदेश-समाज'बिलाल ने नाम बदला, टीका लगाता था, हमें लगा हिन्दू होगा': 8 लाख लेकर...

‘बिलाल ने नाम बदला, टीका लगाता था, हमें लगा हिन्दू होगा’: 8 लाख लेकर भागी छात्रा, परिजनों ने लगाया ‘लव जिहाद’ का आरोप

आरोपित का नाम बिलाल है, जिसके खिलाफ मामला सामने आने के 3 दिन बाद तक भी कार्रवाई नहीं हुई तो हिन्दू संगठन उग्र हो गए। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। एडीजी ने मौके पर पहुँच कर आश्वासन दिया है कि लड़की को 24 घंटे के भीतर बरामद कर लिया जाएगा।

उत्तर प्रदेश में एक बार फिर से कथित ‘लव जिहाद’ का मामला सामने आया है। बरेली में शनिवार (अक्टूबर 17, 2020) को एक लड़की गायब हो गई थी, जिसके परिवार ने आरोप लगाया है कि दूसरे समुदाय के एक युवक ने उससे शादी कर ली है। आरोप है कि ये शादी जोर-जबरदस्ती की गई। भाजपा और विहिप के कार्यकर्ताओं ने इस घटना के बाद थाने में जाकर विरोध प्रदर्शन किया और मामले में कड़ी कार्रवाई की माँग की

हालाँकि, परिजनों के आरोपों को नकारते हुए लड़की ने एक वीडियो जारी किया है और दावा किया है कि वो बालिग़ है और अपनी मर्जी से गई है। लड़की ने जहाँ जोर-जबरदस्ती की बात नकार दी है, वहीं उसके पिता ने आरोप लगाया है कि वो 8 लाख रुपए और सोने की चैन लेकर फरार हुई है। पिता ने आशंका जताई है कि उनकी बेटी की हत्या की जा सकती है और ये धन के लिए किया गया कृत्य भी हो सकता है।

वहीं स्थानीय हिन्दू संगठनों ने आरोप लगाया है कि लड़की के साथ जोर-जबरदस्ती करके उसे धोखे से ले जाया गया है। प्रदर्शन कर रहे भाजपा और विहिप कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठियाँ भी बरसाईं। लापरवाही और बल-प्रयोग के बाद चौकी इंचार्ज सहित कुछ पुलिसकर्मियों को सस्पेंड भी कर दिया गया है। सोशल मीडिया पर भी कई तस्वीरों के माध्यम से दावा किया जा रहा है कि बरेली का ये मामला ‘लव जिहाद‘ का ही है।

लड़की के पिता ने बताया कि उनकी बेटी बीएससी की छात्र है और कम्प्यूटर कोचिंग के लिए जाती है। अक्टूबर 17 को जब वो कोचिंग से वापस नहीं आई तो परिजनों ने खोजबीन शुरू की। फिर किसी ने बताया कि एक लड़का उसे ले गया है। पिता का कहना है कि लड़के के माथे पर टीका लगा हुआ था, इसीलिए परिजन समझते थे कि वो हिन्दू होगा। प्रेमनगर की रहने वाली छात्रा से आरोपित ने अपना नाम छिपा कर परिचय बढ़ाया था, ऐसा आरोप है।

आरोपित का नाम बिलाल है, जिसके खिलाफ मामला सामने आने के 3 दिन बाद तक भी कार्रवाई नहीं हुई तो हिन्दू संगठन उग्र हो गए। पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा। एडीजी ने मौके पर पहुँच कर आश्वासन दिया है कि लड़की को 24 घंटे के भीतर बरामद कर लिया जाएगा। एसएसपी ने बताया कि अभद्रता करने वाला चौकी इंचार्ज निलंबित किया जा चुका है। आरोपित और पीड़िता को अब कोर्ट में पेश किया जाएगा।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

राजस्थान के मंत्री का स्वागत कर रहे थे कॉन्ग्रेस कार्यकर्ता, तभी इमरान ने जड़ दिया एक मुक्का: बाद में कहा – ये मेरे आशीर्वाद...

राजस्थान में एक अजोबोग़रीब वाकया हुआ, जब मंत्री और कॉन्ग्रेस नेता भँवर सिंह भाटी को एक युवक ने मुक्का जड़ दिया।

‘मीलॉर्ड्स, आलोचक ट्रोल्स नहीं होते’: भारत के मुख्य न्यायाधीश के नाम एक बिना नाम और बिना चेहरा वाले ट्रोल का पत्र

हमें ट्रोल्स ही क्यों कहा जाता है, आलोचक क्यों नहीं? ऐसा इसलिए, क्योंकि हम उन लोगों की आलोचना करते हैं जो अपनी आलोचना पसंद नहीं करते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,335FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe