Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाजBHU गैंगरेप केस में यूपी पुलिस ने 3 को दबोचा, बुलेट बाइक बरामद: बंदूक...

BHU गैंगरेप केस में यूपी पुलिस ने 3 को दबोचा, बुलेट बाइक बरामद: बंदूक दिखा कर उतरवाए थे कपड़े, टहलने निकली थी छात्रा

आईआईटी बीएचयू की एक छात्रा के साथ दुष्कर्म मामले में पुलिस ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार किया है। आरोप है कि इन तीनों ने 1 नवंबर 2023 की रात को हॉस्टल के बाहर क्लासमेट के साथ घूम रही छात्रा के साथ दुष्कर्म किया था। 2 महीने से छात्र इनकी गिरफ्तारी की माँग कर रहे थे। अब पुलिस ने इन्हें पकड़ लिया है।

वाराणसी में दो माह से जिस गैंगरेप केस की गूँज थी और छात्र आंदोलन कर रहे थे, उस केस में तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। इस वारदात को 1 नवंबर 2023 को रात के डेढ़ बजे के आसपास अंजाम दिया गया था। तीनों आरोपितों के नाम कुणाल पांडेय, अभिषेक चौहान और सक्षम पटेल है। तीनों को वाराणसी से ही गिरफ्तार किया गया।

कुणाल पांडेय, आनंद उर्फ अभिषेक चौहान और सक्षम पटेल पर छात्रा के साथ गैंगरेप करने का आरोप है। घटना के बाद इनकी तस्वीर भी सामने आई थी। पुलिस ने आरोपितों के पास से वारदात में उपयोग की गई मोटरसाइकिल भी बरामद की है।

इस मामले में आईपीसी की धारा 354(ख), 506 और 66 आईटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हुआ था, जिसमें बाद में गैंगरेप (IPC 376-D) और इलेक्ट्रॉनिक साधनों के जरिए यौन उत्पीड़न (IPC 509) जैसी धाराएँ बढ़ा दी गई थी। ये दोनों धाराएँ पीड़िता के मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज कराए गए बयान के बाद बढ़ाई गई थी। पुलिस ने तीनों आरोपितों को कोर्ट में पेश किया।

गौरतलब है कि आईआईटी बीएचयू की एक छात्रा अपने क्लासमेट के साथ 1 नवंबर, 2023 की रात में हॉस्टल से बाहर निकलकर टहल रही थी। इसी दौरान उसके साथ दरिंदगी की बात सामने आई। इस मामले में मजिस्ट्रेट को दिए बयान में तीनों आरोपितों ने बंदूक से पहले डरा धमका कर छात्रा को निर्वस्त्र किया। उसके बाद आरोपितों ने छात्रा का वीडियो बनाया और उसके बाद तीनों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया था। पीड़िता ने तीनों आरोपितों के हुलिया के बारे में FIR में विस्तार से बताया था।

BHU के इस मामले में तीनों आरोपितों की गिरफ्तारी करने के लिए काशी हिंदू विश्वविद्यालय के छात्रों द्वारा धरना प्रदर्शन किया गया था। इन प्रदर्शनों में 5 हजार से अधिक लोग शामिल हुए थे। प्रदर्शनकारियों में बीएचयू के छात्रों के साथ ही स्थानीय लोग भी शामिल हो गए थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘दरबार हॉल’ अब कहलाएगा ‘गणतंत्र मंडप’, ‘अशोक हॉल’ बना ‘अशोक मंडप’: महामहिम द्रौपदी मुर्मू का निर्णय, राष्ट्रपति भवन ने बताया क्यों बदला गया नाम

राष्ट्रपति भवन ने बताया है कि 'दरबार' का अर्थ हुआ कोर्ट, जैसे भारतीय शासकों या अंग्रेजों के दरबार। बताया गया है कि अब जब भारत गणतंत्र बन गया है तो ये शब्द अपनी प्रासंगिकता खो चुका है।

जिसका इंजीनियर भाई एयरपोर्ट उड़ाने में मरा, वो ‘मोटू डॉक्टर’ मारना चाह रहा था हिन्दू नेताओं को: हाई कोर्ट से माँग रहा था रहम,...

कर्नाटक हाई कोर्ट ने आतंकी मोटू डॉक्टर को राहत देने से इनकार कर दिया है। उस पर हिन्दू नेताओं की हत्या की साजिश में शामिल होने का आरोप है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -