Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाजबिहार पुलिस ने सेना के जवान को परिवार के सामने घसीट-घसीट कर पीटा, माँ-बहन...

बिहार पुलिस ने सेना के जवान को परिवार के सामने घसीट-घसीट कर पीटा, माँ-बहन की गंदी-गंदी गालियाँ दी, जेल में कैद कर दिया: नसीम अख्तर ने की थी FIR

राधामोहन गिरी अपने परिवार के लोगों के साथ मुख्य पथ स्थित हजारीमल हाईस्कूल के समीप अपनी पत्नी को उतार कर सड़क पर एक तरफ गाड़ी पार्क करने लगे, इतने में सब-इंस्पेक्टर ने उनसे बदसलूकी करनी शुरू कर दी।

बिहार के पूर्वी चम्पारण स्थित रक्सौल में एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसने बिहार पुलिस के दामन को दागदार कर दिया है। बिहार के रक्सौल में पुलिसकर्मियों ने भारतीय सेना के एक जवान को जम कर पीटा, उसे घसीटा, गालियाँ दी और फिर जेल में डाल दिया। परिजन अब तक न्याय की आस में हैं। लोग विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। बिहार पुलिस का ुकर जवान राधामोहन गिरी अपनी पत्नी को परीक्षा दिलाने के लिए ले जा रहा था।

इस वीडियो में बिहार के पुलिसकर्मी भारतीय सेना के जवान को माँ-बहन की गंदी-गंदी गालियाँ देते हुए भी दिख रहे हैं। उक्त व्यक्ति बार-बार खुद को सेना का जवान बता रहा, लेकिन पुलिस वाले वीडियो बनाने वाले को भी रोक रहे हैं। प्रमोद गिरी के बेटे राधामोहन बेलाघाटी के निवासी हैं। वो अपनी पत्नी काजल को परीक्षा दिलाने के लिए रक्सौल आ रहे थे। बताया जा रहा है कि इस दौरान लक्ष्मीपुर में कार के साइड मिरर लुकिंग ग्लास से एक व्यक्ति को चोट लग गई।

उक्त व्यक्ति का नाम नसीम अख्तर है, जिसकी FIR को आधार बना कर बिहार पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है। इंस्पेक्टर जितेंद्र कुमार भी घटनास्थल पर पहुँचे और सेना के जवान को थाने लेकर जाने का आदेश दिया। राधामोहन गिरी अपने परिवार के लोगों के साथ मुख्य पथ स्थित हजारीमल हाईस्कूल के समीप अपनी पत्नी को उतार कर सड़क पर एक तरफ गाड़ी पार्क करने लगे, इतने में सब-इंस्पेक्टर ने उनसे बदसलूकी करनी शुरू कर दी।

परिवार न्याय के लिए थाने में बैठा रहा, लेकिन पुलिस वालों ने कोई ध्यान नहीं दिया। पुलिस अधीक्षक वायरल वीडियो के आधार पर कार्रवाई की बात कह रहे हैं, लेकिन एक सप्ताह बीत जाने के बावजूद किसी भी पुलिसकर्मी पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है। बिहार के चर्चित यूट्यूब पत्रकार मनीष कश्यप ने FIR की कॉपी भी साझा की है, जिसे नसीम अख्तर ने दर्ज कराया है। नसीम का दावा है कि चोट लगने से उसके चाचा बेहोश हो गए और सेना के जवान ने ही उससे गाली-गलौच की।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कोई भी कार्रवाई हो तो हमारे पास आइए’: हाईकोर्ट ने 6 संपत्तियों को लेकर वक्फ बोर्ड को दी राहत, सेन्ट्रल विस्टा के तहत इन्हें...

दिसंबर 2021 में सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने हाईकोर्ट को आश्वासन दिया था कि वक्फ बोर्ड की संपत्तियों को कोई नुकसान नहीं पहुँचाया जाएगा।

‘कागज़ पर नहीं, UCC को जमीन पर उतारिए’: हाईकोर्ट ने ‘तीन तलाक’ को बताया अंधविश्वास, कहा – ऐसी रूढ़िवादी प्रथाओं पर लगे लगाम

मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने कहा है कि समान नागरिक संहिता (UCC) को कागजों की जगह अब जमीन पर उतारने की जरूरत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -