Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजमंगलुरु में चलते ऑटो में हुआ ब्लास्ट, पुलिस ने बताया आतंकी करतूत: ड्राइवर सहित...

मंगलुरु में चलते ऑटो में हुआ ब्लास्ट, पुलिस ने बताया आतंकी करतूत: ड्राइवर सहित 2 झुलसे: कूकर, गैस बर्नर, तार, बैटरी और नट-बोल्ट बरामद

ब्लास्ट नागौरी इलाके में हुआ। यहाँ एक चलते ऑटो रिक्शा में अचानक ही ब्लास्ट हुआ और आग लग गई। जब तक कोई कुछ समझ पाता...

कर्नाटक के मंगलुरु में चलते ऑटो में एक कम तीव्रता का ब्लास्ट हुआ है। इस घटना के चलते 2 लोगों के घायल होने की सूचना है। राज्य पुलिस और केंद्रीय एजेंसियों ने मामले की जाँच शुरू कर दी है। कर्नाटक पुलिस के प्रमुख (DGP) IPS प्रवीण सूद ने इसे एक आतंकी हरकत करार देते हुए बताया कि ब्लास्ट से ज्यादा नुकसान भी हो सकता था। घटना शनिवार (19 नवम्बर, 2022) की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ब्लास्ट नागौरी इलाके में हुआ। यहाँ एक चलते ऑटो रिक्शा में अचानक ही ब्लास्ट हुआ और आग लग गई। जब तक कोई कुछ समझ पाता, तब तक 2 लोग झुलस गए थे। घायलों में ऑटो ड्राइवर भी शामिल है। बताया जा रहा है कि मंगलुरु रेलवे स्टेशन से एक व्यक्ति ने ऑटो चालक से शहर के अंदर ले जाने के लिए कहा था। बाद में थोड़ी ही दूरी तय करने के बाद अचानक ही ब्लास्ट हो गया।

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस और FSL की टीमें मौके पर पहुँच गईं। घायलों को अस्पताल पहुँचाया गया और ऑटो की तलाशी ली गई। तलाशी के दौरान प्रेशर कुकर और गैस स्टोव का बर्नर बरामद हुआ है। अब तक हुई जाँच में ब्लास्ट के लिए 2 बैटरी, नट-बोल्ट, कुछ तार के साथ प्रेशर कुकर और गैस बर्नर बरामद हुए हैं। ऑटो में जो सवारी बैठी थी, उसके पहचान पत्र में उसका नाम प्रेमराज लिखा हुआ है। सवारी का आधा शरीर ब्लास्ट के चलते जल चुका है।

इस मामले का केस कंकानाडी थाने में दर्ज करवाया गया है। मामले की जाँच के लिए पुलिस ने कई CCTV फुटेज निकलवाए हैं। एक फुटेज में ऑटो में हुए ब्लास्ट का वीडियो होने का दावा किया जा रहा है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक, ऑटो में बैठी सवारी ने एक बैग ले रखा था। ब्लास्ट में वह सवारी भी जख्मी हुई है। शहर के पुलिस कमिश्नर एन शशि कुमार ने लोगों से चिंता न करने की अपील की है। साथ ही उन्होंने सोशल मीडिया या किसी अन्य माध्यम से उड़ने वाली अफवाहों पर भी ध्यान न देने को कहा है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काँवड़िए नहीं जान पाएँगे दुकान ‘अब्दुल’ या ‘अभिषेक’ की, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक: कहा- बताना होगा सिर्फ मांसाहार/शाकाहार के बारे में,

सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के कांवड़ रूट पर दुकानदारों के नाम दर्शाने वाले आदेश पर अंतरिम रोक लगा दी है।

AAP विधायक की वकीलगिरी का हाई कोर्ट ने उतारा भूत: गलत-सलत लिख कर ले गया था याचिका, लग चुका है बीवी को कुत्ते से...

दिल्ली हाईकोर्ट के जज ने सोमनाथ भारती की याचिका पर कहा कि वो नोटिस जारी नहीं कर सकते, उन्हें ये समझ ही नहीं आ रहा है, वो मामला स्थगित करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -