Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाज'पुलिस थाने की बिल्डिंग के अंदर धमाका'... वीडियो बना किया वायरल: रियाज, फवाज, मोहम्मद...

‘पुलिस थाने की बिल्डिंग के अंदर धमाका’… वीडियो बना किया वायरल: रियाज, फवाज, मोहम्मद जैसमीन, सलीम, फारिश केरल से गिरफ्तार

एक ने रेलवे स्टेशन या बस अड्डे में धमाके का सुझाव दिया। उसके बाद दूसरे ने धमाका पुलिस स्टेशन में करने का एलान किया। थोड़ी देर बाद केरल के एक पुलिस थाने की बिल्डिंग के अंदर धमाका होता है। इस धमाके के बीच से...

केरल के मलप्पुरम में पुलिस स्टेशन पर बमबारी का वीडियो बना कर उसे वायरल करने के आरोप में 5 युवकों को गिरफ्तार किया गया है। आरोपितों के नाम मोहम्मद रियाज़, मोहम्मद फ़वाज़, मोहम्मद जैसमीन, सलीम और सलमानुल फारिश हैं। इन सभी की उम्र 19 से 25 वर्ष के बीच में है। एडिट किए गए वीडियो में कुछ फिल्मों के डायलॉग भी डाले गए थे। पाँचों की गिरफ्तारी शनिवार (12 अगस्त 2023) को हुई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मामला मेलात्तुर (Melattur) थानाक्षेत्र का है। यहाँ के मोहम्मद रियाज़ नाम के एक व्यक्ति ने कुछ दिनों पहले अपनी इंस्टाग्राम प्रोफ़ाइल पर एक आपत्तिजनक वीडियो अपलोड की। इस वीडियो में युवाओं के एक समूह को एक साथ बैठे देखा जा सकता है। उनकी आपस में हो रही बातचीत को फ़िल्मी संवाद डाल कर एडिट किया गया है।

वीडियो में सभी आरोपित बम फोड़ने की जगह के बारे में चर्चा करते दिखाई दे रहे हैं। एक व्यक्ति ने रेलवे स्टेशन या बस अड्डे का सुझाव दिया। उसके बाद दूसरे ने धमाका पुलिस स्टेशन में करने का एलान किया।

इसी वीडियो में थोड़ी देर बाद केरल के एक पुलिस थाने की बिल्डिंग के अंदर धमाका होता है। इस धमाके के बीच से एक व्यक्ति को बैग लेकर निकलते दिखाया गया है। वीडियो के साथ म्यूजिक भी मिक्स किया गया है। थोड़ी ही देर में यह वीडियो सोशल मीडिया के तमाम प्लेटफार्म पर वायरल हो जाता है।

वायर वीडियो पर पुलिस ने संज्ञान लिया और आरोपितों की तलाश शुरू कर दी। आखिरकार वीडियो के आधार पर 25 वर्षीय मोहम्मद रियाज़, 22 वर्षीय मोहम्मद फ़वाज़, 19 साल के मोहम्मद जैसमीन, 20 साल के सलीम और 19 साल के सलमानुल फारिश को चिन्हित किया गया।

केरल पुलिस ने सभी 5 आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। अभी तक की जाँच के आधार पर पुलिस ने वीडियो बनाने का मकसद सोशल मीडिया पर लाइक पाना बताया है। इन सभी पर दंगे भड़काने की साजिश, सोशल मीडिया पर पुलिस के खिलाफ प्रचार आदि की धाराओं में कार्रवाई की गई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -