Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाजदानिश ने दिनेश बनकर हिन्दू युवती से रचाई शादी: जबरन धर्मांतरण, निकाह के विरोध...

दानिश ने दिनेश बनकर हिन्दू युवती से रचाई शादी: जबरन धर्मांतरण, निकाह के विरोध पर भाई, अब्बू से कराया शारीरिक शोषण

हिन्दू युवती ने बताया कि जब उसने धर्मांतरण और निकाह का विरोध किया तो दानिश ने अपने भाई चाहत मियाँ और अब्बू अहमद मियाँ से उसका शारीरिक और मानसिक शोषण कराया। उसे कुछ दिन तक उन्होंने मुजरिया के छगनपुर के रहने वाले आमिर के घर पर भी रखा।

उत्तर प्रदेश के बदायूँ से धर्मांतरण का नया मामला सामने आया है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, बदायूँ के रहने वाले दानिश ने दिनेश बनकर पहले बुलंदशहर की हिंदू युवती को अपने प्यार के जाल में फँसाया फिर उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। इसके बाद जबरन धर्म परिवर्तन कराकर उसके साथ निकाह कर लिया। युवती ने जब धर्मांतरण का विरोध किया तो दानिश ने उसके साथ मारपीट की और उसे प्रताड़ित भी किया।

यह मामला कादर चौक थाना क्षेत्र के ग्राम गौरामई का है। यहीं रहने वाला दानिश दिल्ली में काम करता था। करीब साल भर पहले दिल्ली में उसकी मुलाकात बुलंदशहर की रहने वाली युवती से हुई थी। निकाह के बाद दानिश युवती को उत्तर प्रदेश में अपने गाँव गौरामई लेकर गया, जहाँ उसके घरवाले रहते थे।

बताया जा रहा है कि जैसे ही वह अपने ससुराल पहुँची, उसे महसूस हुआ किया कि दानिश ने उससे अपने बारे में झूठ बोला था। वह हिंदू नहीं मुस्लिम था, जो अपनी फर्जी पहचान बताकर उसे धोखा दे रहा था। युवती ने आरोप लगाया है कि उसका जबरदस्ती धर्मांतरण कराया गया और निकाह पढ़वाया गया। जब उसने इस निकाह का विरोध किया तो आरोपित के पिता और भाई ने उसे कथित तौर पर शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित किया।

युवती ने बताया कि जब उसने धर्मांतरण और निकाह का विरोध किया तो दानिश ने अपने भाई चाहत मियाँ और अब्बू अहमद मियाँ से उसका शारीरिक और मानसिक शोषण कराया। रिपोर्ट के मुताबिक, युवती को कुछ दिन तक उन्होंने मुजरिया के छगनपुर के रहने वाले आमिर के घर पर भी रखा।

हालाँकि, 12 जून को मौका पाते ही वह दानिश के घर से भागकर अपनी बहन के घर खुर्जा आ गई। उसने बहन को अपनी आपबीती सुनाई, जिसके बाद युवती के परिजन उसे ​लेकर एसएसपी (SSP) बदायूँ संकल्प शर्मा से मिले। उन्होंने कादर चौक थाने में सभी आरोपितों के खिलाफ मामला दर्ज कराया। पुलिस ने धर्मांतरण मामले मे आरोपित बाप-बेटे को गिरफ्तार कर लिया है। वहीं बाकी आरोपितों की तलाश की जा रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

बकरों के कटने से दिक्कत नहीं, दिवाली पर ‘राम-सीता बचाने नहीं आएँगे’ कह रही थी पत्रकार तनुश्री पांडे: वायर-प्रिंट में कर चुकी हैं काम,...

तनुश्री पांडे ने लिखा था, "राम-सीता तुम्हें प्रदूषण से बचाने के लिए नहीं आएँगे। अगली बार साफ़-स्वच्छ दिवाली मनाइए।" बकरीद पर बदल गए सुर।

पावागढ़ की पहाड़ी पर ध्वस्त हुईं तीर्थंकरों की जो प्रतिमाएँ, उन्हें फिर से करेंगे स्थापित: गुजरात के गृह मंत्री का आश्वासन, महाकाली मंदिर ने...

गुजरात के गृह मंत्री हर्ष संघवी ने कहा कि किसी भी ट्रस्ट, संस्था या व्यक्ति को अधिकार नहीं है कि इस पवित्र स्थल पर जैन तीर्थंकरों की ऐतिहासिक प्रतिमाओं को ध्वस्त करे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -