Tuesday, July 23, 2024
Homeदेश-समाज'बैन के बावजूद कैसे खरीदा गया तेज़ाब?': LG ने दिल्ली पुलिस से जवाब तलब...

‘बैन के बावजूद कैसे खरीदा गया तेज़ाब?’: LG ने दिल्ली पुलिस से जवाब तलब किया, इलाज की सर्वोत्तम व्यवस्था का आदेश, छात्रा पर एसिड अटैक करने वाले 3 गिरफ्तार

पुलिस ने जानकारी दी कि सीसीटीवी फुटेज से आरोपितों की पहचान की गई और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपितों की पहचान सचिन अरोड़ा, हर्षित और वीरेंद्र सिंह के तौर पर हुई है।

दिल्ली के द्वारका में नाबालिग स्कूली छात्रा पर एसिड अटैक मामले में पुलिस ने तीन आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है। बुधवार (14 दिसंबर, 2022) सुबह अपनी छोटी बहन के साथ स्कूल जा रही 17 साल की छात्रा पर बाइक सवार दो बदमाशों ने तेजाब फेंक दिया। तेजाब से लड़की के चेहरे, गर्दन और आँखों पर गंभीर चोटें आई हैं। छात्रा का इलाज सफदरजंग अस्पताल में किया जा रहा है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक दिल्ली के उत्तम नगर के मोहन गार्डन इलाके में छात्रा अपनी बहन के साथ स्कूल जाने के लिए निकली थी। तभी बाइक सवार दो नकाबपोश बदमाशों ने पीड़िता पर तेजाब फेंक दिया। पुलिस के मुताबिक सुबह करीब 9 बजे छात्रा पर हुए तेजाब हमले को लेकर PCR कॉल आई। हमले की जानकारी मिलते ही पुलिस ने आरोपितों की तलाश शुरू कर दी।

पुलिस ने जानकारी दी कि सीसीटीवी फुटेज से आरोपितों की पहचान की गई और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपितों की पहचान सचिन अरोड़ा, हर्षित और वीरेंद्र सिंह के तौर पर हुई है। मुख्य आरोपित सचिन और हर्ष बताए जा रहे हैं। वीरेंद्र को उनकी मदद के लिए पकड़ा गया है। जानकारी के मुताबिक, घटना के समय वीरेंद्र ने सचिन का मोबाइल अपने पास रखा हुआ था ताकि जाँच में पुलिस को लगे कि सचिन की लोकेशन घटनास्थल से दूर है। जानकारी यह भी है कि आरोपितों ने तेजाब फ्लिपकार्ट से खरीदा था।

दिल्ली के उप-राज्यपाल वीके सक्सेना ने मामले पर दिल्ली पुलिस से रिपोर्ट माँगी है। उन्होंने पुलिस कमिश्नर संजय अरोड़ा से बात की। इस बात की जानकारी दिल्ली राज निवास की तरफ से ट्वीट कर दी गई। दिल्ली के एलजी ने पुलिस से रिपोर्ट में यह भी जानकारी माँगी है कि शहर में बिक्री पर प्रतिबंध के बावजूद तेजाब कैसे खरीदा गया।

ट्वीट के जरिए यह भी जानकारी दी गई कि एलजी ने मामले की गहराई से जाँच के आदेश दिए हैं। एलजी द्वारा दोषियों को सख्त से सख्त सज़ा दिलाने की बात भी कही गई है। कहा गया है कि एलजी अस्पताल अधिकारियों के संपर्क में भी हैं और पीड़िता के लिए सर्वोत्तम इलाज की व्यवस्था प्रदान करने के निर्देश दिए गए हैं। एलजी ने पीड़िता और उसके परिवार के लिए हर संभव मदद का भरोसा भी दिया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एंजेल टैक्स’ खत्म होने का श्रेय लूट रहे P चिदंबरम, भूल गए कौन लेकर आया था: जानिए क्या है ये, कैसे 1.27 लाख StartUps...

P चिदंबरम ने इसके खत्म होने का श्रेय तो ले लिया, लेकिन वो इस दौरान ये बताना भूल गए कि आखिर ये 'एंजेल टैक्स' लेकर कौन आया था। चलिए 12 साल पीछे।

पत्रकार प्रदीप भंडारी बने BJP के राष्ट्रीय प्रवक्ता: ‘जन की बात’ के जरिए दिखा चुके हैं राजनीतिक समझ, रिपोर्टिंग से हिला दी थी उद्धव...

उन्होंने कर्नाटक स्थित 'मणिपाल इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी' (MIT) से इलेक्ट्रॉनिक एवं कम्युनिकेशंस में इंजीनियरिंग कर रखा है। स्कूल में पढ़ाया भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -