Tuesday, July 16, 2024
Homeदेश-समाजमोनू मानेसर को ले गई राजस्थान पुलिस, गिरफ़्तारी के बाद हरियाणा पुलिस ने सौंप...

मोनू मानेसर को ले गई राजस्थान पुलिस, गिरफ़्तारी के बाद हरियाणा पुलिस ने सौंप दिया

नूहं साइबर क्राइम पुलिस ने मोनू मानेसर को फेसबुक पर भड़काऊ पोस्ट लिखने के मामले में गिरफ्तार किया था। आरोप है कि मोनू मानेसर नामक फेसबुक पेज से 26 अगस्त को एक पोस्ट शेयर की गई थी।

हरियाणा ने पुलिस ने गोरक्षक मोनू मानेसर को राजस्थान पुलिस को सौंप दिया है। राजस्थान पुलिस ने कोर्ट से मोनू मानेसर की रिमांड माँगी थी। इसे कोर्ट ने मंजूरी दे दी। इससे पहले मंगलवार (12 सितंबर, 2023) को हरियाणा की नूहं पुलिस ने मोनू को गिरफ्तार किया था।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, नूहं पुलिस ने मोनू मानेसर को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया था। इसके बाद रिमांड की माँग की थी। लेकिन कोर्ट ने उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। पुलिस उसे भौंडसी जेल लेकर जा रही थी। लेकिन इसी दौरान राजस्थान पुलिस भी कोर्ट पहुँच गई। जहाँ कोर्ट ने राजस्थान पुलिस को मोनू मानेसर की ट्रांजिट रिमांड दे दी। इसके बाद हरियाणा पुलिस ने उसे राजस्थान पुलिस को सौंप दिया।

किस मामले में हुई थी गिरफ्तारी

नूहं साइबर क्राइम पुलिस ने मोनू मानेसर को फेसबुक पर भड़काऊ पोस्ट लिखने के मामले में गिरफ्तार किया था। आरोप है कि मोनू मानेसर नामक फेसबुक पेज से 26 अगस्त को एक पोस्ट शेयर की गई थी। इस पोस्ट में लिखा था, “परिणाम की चिंता हम नहीं करते, वार एक ही होगा, पर आखिर होगा। मोनू मानेसर।”

इस मामले में सोशल मीडिया सेल के सिपाही मनोज कुमार ने नूहं साइबर क्राइम थाने में शिकायत की थी। पुलिस की जाँच में सामने आया था कि मोनू मानेसर के नाम पर रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से ही यह पोस्ट की गई थी। पुलिस ने गिरफ्तारी के समय मोनू के पास से 45 बोर की पिस्टल और 3 कारतूस बरामद किए हैं। पुलिस ने मोनू के खिलाफ धारा 153, 153A, 295A, 504, 109 IPC व आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज किया है।
राजस्थान पुलिस को क्यों मिली रिमांड

दरअसल, मोनू मानेसर पर राजस्थान के भिवानी में हुए  नासिर-जुनैद हत्याकांड में शामिल होने का आरोप है। फरवरी 2023 में नासिर और जुनैद नाम के 2 युवकों के एक वाहन में जले हुए शव मिले थे। इस केस में मोनू मानेसर सहित कुछ और लोगों को नामजद किया गया था। मोनू मानेसर के अलावा हरियाणा में गोरक्षा से जुड़े कुछ लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया गया था।

लगभग 8 माह से भूमिगत चल रहे मोनू मानेसर के मुद्दे पर राजस्थान और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों में आरोप-प्रत्यारोप भी. देखने को मिला था। वहीं राजस्थान के DGP उमेश मिश्रा ने नासिर-जुनैद हत्याकांड में मोनू मानेसर की सीधी भूमिका से इंकार कर दिया था। हालाँकि उन्होंने इस केस में मोनू की परोक्ष भूमिका की जाँच जारी होने की बात कही थी।

Cow Vigilante Monu Manesar Arrested in Gurugram Handed Over to Rajasthan Police

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

अजमेर दरगाह के बाहर ‘सर तन से जुदा’ की गूँज के 11 दिन बाद उदयपुर में काट दिया गया था कन्हैयालाल का गला, 2...

राजस्थान के अजमेर दरगाह के सामने 'सर तन से जुदा' के नारे लगाने वाले खादिम मौलवी गौहर चिश्ती सहित छह आरोपितों को कोर्ट ने बरी कर दिया है।

जिस किले में प्रवेश करने से शिवाजी को रोक नहीं पाई मसूद की फौज, उस विशालगढ़ में बढ़ रहा दरगाह: काटे जा रहे जानवर-156...

महाराष्ट्र के कोल्हापुर में स्थित विशालगढ़ किला में लगातार अतिक्रमण बढ़ रहा है। यहाँ स्थित एक दरगाह के पास कई अवैध दुकानें बन गई हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -