Thursday, July 18, 2024
Homeदेश-समाजदिल्ली में 34 साल के अरमान ने 4 साल की हिंदू बच्ची का किया...

दिल्ली में 34 साल के अरमान ने 4 साल की हिंदू बच्ची का किया रेप, बताने पर दी थी जान से मारने की धमकी: लोगों के बवाल के बाद पुलिस बोली- सामान्य है बच्ची की हालत

दिल्ली के पांडव नगर में 4 साल की हिंदू बच्ची के साथ 34 साल के अरमान उर्फ मोहम्मद अप्पू ने रेप की वारदात को अंजाम दिया। इस वारदात के विरोध में स्थानीय लोग भारी संख्या में घरों से बाहर निकल आए और प्रदर्शन करने लगे। हालाँकि दिल्ली पुलिस ने मौके पर मामले को संभाल लिया, इसके बावजूद कई गाड़ियों में तोड़फोड़ की खबरें सामने आ रही हैं।

दिल्ली में शनिवार (23 मार्च 2024) की शाम एक 4 साल की हिंदू बच्ची से रेप की वारदात हुई, जिसे अंजाम दिया 34 साल के मुस्लिम व्यक्ति मोहम्मद अप्पू ने। इस घटनाक्रम के दूसरे दिन यानी रविवार (24 मार्च 2024) को ये अफवाह फैल गई कि पुलिस ने इस मामले में कोई कदम नहीं उठाया, जिसके बाद इलाके में गुस्सा फैल गया। लोगों ने गाड़ियों में तोड़फोड़ की और जमकर प्रदर्शन किया। हालाँकि पुलिस ने मौके पर मोर्चा संभाल लिया और बड़ी हिंसा होने से टाल दिया।

ट्यूशन पढ़ाने वाली मुस्लिम दीदी के भाई ने किया रेप

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ये मामला दिल्ली के पांडव नगर इलाके का है। जहाँ इस वारदात के बारे में तब पता चला, जब 4 साल की बच्ची वापस अपने घर आई और अपनी माँ से पेट में दर्द की शिकायत की। दरअसल, बच्ची ट्यूशन पढ़ने अपने पड़ोस की लड़की के घर गई थी, लेकिन वो लड़की मौके पर नहीं थी। ऐसे में 4 साल की मासूम को अकेला देख मोहम्मद अरमान उर्फ अप्पू उसे अपने कमरे में ले गया और रेप को अंजाम दिया। इसके बाद उसने बच्ची को मुँह खोलने पर जान से मारने की धमकी देकर घर भेज दिया। पुलिस ने आरोपित अरमान के खिलाफ पॉक्सो एक्ट और IPC-376 की धाराओं में एफआईआर दर्ज किया है।

इस मामले में पुलिस ने मोहम्मद अरमान उर्फ अप्पू को गिरफ्तार कर लिया। बच्ची को लाल बहादुर शास्त्री अस्पताल में इलाजे के बाद दिल्ली एम्स में भर्ती कराया गया। डॉक्टरों के अनुसार बच्ची के प्राइवेट पार्ट्स में सूजन है। इस बीच, स्थानीय लोगों में तेजी से अफवाह फैली कि पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है और आरोपित को छोड़ दिया है। इन अफवाहों के बीच स्थानीय लोग भारी संख्या में घरों से बाहर निकल आए और प्रदर्शन करने लगे। हालाँकि दिल्ली पुलिस ने मौके पर मामले को संभाल लिया, इसके बावजूद कई गाड़ियों में तोड़फोड़ की खबरें सामने आ रही हैं।

डीसीपी ईस्ट अपूर्वा गुप्ता ने कहा कि अफवाहें फैलाई जा रही हैं कि लड़की की तबीयत गंभीर है लेकिन यह सच नहीं है, उसकी हालत सामान्य है। सभी कानूनी कार्यवाही चल रही है, मेडिकल हो चुका है और वह काउंसलर से अच्छे से बात कर रही है। मैं लोगों से अपील करती हूँ कि वो अफवाहों के जाल में न फंसे।

बच्ची की हालत में सुधार, आरोपित गिरफ्तार

पुलिस के अनुसार मौके पर अतिरिक्त बल तैनात किया गया है। लोगों को समझा-बुझाकर शांत कर दिया गया है। आरोपित हिरासत में है। पीड़ित बच्ची के परिजनों की शिकायत पर एफआईआर दर्ज कर मामले में आगे की जाँच की जा रही है। इस पूरे मामले में पूर्वी दिल्ली पुलिस उपायुक्त ने कहा कि पीड़िता की हालत स्थिर है। उसे एम्स इसीलिए भेजा गया क्योंकि वहाँ वन स्टॉप सेंटर में छोटे बच्चों के लिए बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएँ हैं।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

साथियों ने हाथ-पाँव पकड़ा, काज़िम अंसारी ने ताबतोड़ घोंपा चाकू… धराया VIP अध्यक्ष मुकेश सहनी के पिता का हत्यारा, रात के डेढ़ बजे घर...

घटना की रात काज़िम अंसारी ने 10-11 बजे के बीच रेकी भी की थी जो CCTV में कैद है। रात के करीब डेढ़ बजे ये लोग पीछे के दरवाजे से घर में घुसे।

प्राइवेट नौकरियों में 75% आरक्षण वाले बिल पर कॉन्ग्रेस सरकार का U-टर्न, वापस लिया फैसला: IT कंपनियों ने दी थी कर्नाटक छोड़ने की धमकी

सिद्धारमैया के फैसले का भारी विरोध भी हो रहा था, जिसकी वजह से कॉन्ग्रेसी सरकार बुरी तरह से घिर गई थी। यही नहीं, इस फैसले की जानकारी देने वाले ट्वीट को भी मुख्यमंत्री को डिलीट करना पड़ा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -