Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजवीडियो बनाकर AIMIM नेता अब्दुल्ला की 'पोल' खोल रहा था शेख, समलैंगिक पाटर्नर को...

वीडियो बनाकर AIMIM नेता अब्दुल्ला की ‘पोल’ खोल रहा था शेख, समलैंगिक पाटर्नर को ₹13 लाख का लालच दे चाकुओं से गोदवाया: हैदराबाद का मामला

मृतक शारिक बावज़ीर पूर्व में सुपारी लेकर अपराध करता था। उस पर अलग-अलग थानों में कुल 9 केस दर्ज हैं। इनमें पॉक्सो की 3 FIR भी शामिल हैं। शारिक की अहमद बिन हाजेब से चंचलगुडा जेल में साल 2021 में मुलाकात हुई थी। अहमद पर भी 6 केस दर्ज हैं। जेल में दोनों के बीच अच्छी दोस्ती हो गई और समलैंगिक संबंध भी बन गए।

हैदराबाद पुलिस ने एक सामाजिक कार्यकर्ता की हत्या के मामले में AIMIM (ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन) के म्युनिसिपल चेयरमैन को गिरफ्तार किया है। आरोपित AIMIM नेता का नाम अब्दुल्ला सादी है। मृतक का नाम शेख सैयद बावज़ीर हैे। हत्या के मामले में बुधवार (16 अगस्त 2023) को अब्दुल्ला सादी के अब्बू अहमद सादी और 2 अन्य लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है। इस घटना में मृतक और आरोपित में समलैंगिक संबंध भी सामने आए हैं।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गिरफ्तार मुख्य आरोपित 30 वर्षीय अब्दुल्ला सादी हैदराबाद के जलपल्ली से म्युनिसिपल चेयरमैन है। बताया जा रहा है कि AIMIM नेता ने शाकिर की हत्या के लिए भाड़े के हत्यारे मँगाए थे। इन कातिलों को हत्या के लिए 13 लाख रुपए दिए गए थे। उनके साथ गिरफ्तार किए गए अन्य आरोपितों में 20 वर्षीय अहमद बिन हाजेब और 20 वर्षीय मोहम्मद अयूब खान हैं। वहीं, सालेह सादी और उमर सादी नाम के 2 अन्य आरोपित फरार हैं, जिनकी तलाश की जा रही है।

पुलिस ने बताया कि मृतक शेख सोशल मीडिया के माध्यम से अब्दुल्ला के क्षेत्र का वीडियो अक्सर शेयर किया करता था। इन वीडियो में वो उन इलाकों को दिखाता था, जहाँ ठीक से जरूरी विकास कार्य नहीं हुआ है। आरोप है कि शेख ये सब अब्दुल्ला सादी से पैसे की उगाही के लिए कर रहा था। इस बात से AIMIM नेता अब्दुल्ला काफी नाराज रहता था।

दरअसल, मृतक शेख बावज़ीर पूर्व में सुपारी लेकर अपराध करता था। उस पर अलग-अलग थानों में कुल 9 केस दर्ज हैं। इनमें पॉक्सो की 3 FIR भी शामिल हैं। शेख की अहमद बिन हाजेब से चंचलगुडा जेल में साल 2021 में मुलाकात हुई थी। अहमद पर भी 6 केस दर्ज हैं। जेल में दोनों के बीच अच्छी दोस्ती हो गई।

इंडियन एक्सप्रेस का दावा है कि जेल में भी मृतक शेख और अहमद के बीच समलैंगिक संबंध स्थापित हो गए थे। जेल से निकलने के बाद भी शेख और अहमद में शारीरिक संबंध स्थापित होते रहे। इस बीच गैंग में अयूब खान भी शामिल हो गया। एक बार शेख ने अयूब से जबरदस्ती संबंध बनाने का प्रयास किया। इस घटना के बाद से अयूब और शेख में मनमुटाव हो गया। इसी के चलते अहमद भी शेख से नफरत करने लगा था।

AIMIM नेता ने इन लोगों के बीच के आपसी झगड़े को भाँप लिया। उसने अहमद को शेख के खिलाफ एक हथियार के तौर पर प्रयोग किया। उसने अहमद को 13 लाख रुपए का लालच देकर शेख की हत्या करने के लिए कहा। अहमद तैयार हो गया। 10 अगस्त 2023 की रात को अहमद हाजेब ने शेख को एक पार्टनर से मिलाने का वादा करके अपने ऑफिस बुलाया।

इस साजिश में अयूब खान भी शामिल था। शेख इस जाल में फँस गया और अहमद के पास चला गया। ऑफिस में सबसे पहले अहमद ने शेख की आँखों में लाल मिर्च झोंक दी और फिर चाकुओं में ताबड़तोड़ वार करने लगा। इस हमले में शेख बावजीर की जान निकल गई। शेख बावजीर का अंतिम संस्कार कर दिया गया है।

पुलिस ने इस मामले का खुलासा कर दिया और अब्दुल्ला सादी के साथ अयूब खान और अहमद हाजेब को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया। फरार आरोपितों की तलाश की जा रही है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

तिब्बत को संरक्षण देने के लिए अमेरिका ने बनाया कानून, चीन से दो टूक – दलाई लामा से बात करो: जानिए क्या है उस...

14वें दलाई लामा 1959 में तिब्बत से भागकर भारत आ गये, जहाँ उन्होंने हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला में निर्वासित सरकार स्थापित की थी।

बिहार में निर्दलीय शंकर सिंह ने जदयू-राजद को हराया, बंगाल में 25 साल की मधुपूर्णा बनीं MLA, हिमाचल में CM सुक्खू की पत्नी जीतीं:...

उप-मुख्यमंत्री व भाजपा नेता विजय सिन्हा ने कहा कि शंकर सिंह भी हमलोग से ही जुड़े हुए उम्मीदवार थे। 'नॉर्थ बिहार लिबरेशन आर्मी' के थे मुखिया।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -